Friday, May 14

भोपाल संभाग

इंदौर में सादा पेट्रोल 100 पार:26 पैसे बढ़ने के साथ ही पेट्रोल के दाम 100.16 रुपए हुआ, आजादी के समय आलू के भाव पेट्रोल के बराबर 25 पैसे प्रति किलो थे, शकर 40 पैसे के भाव थी
आर्थिक जगत, कहानी, भोपाल संभाग, राज्य समाचार, विविध, संपादकीय

इंदौर में सादा पेट्रोल 100 पार:26 पैसे बढ़ने के साथ ही पेट्रोल के दाम 100.16 रुपए हुआ, आजादी के समय आलू के भाव पेट्रोल के बराबर 25 पैसे प्रति किलो थे, शकर 40 पैसे के भाव थी

आखिरकार इंदाैर में पेट्राेल के दाम ने 100 पार कर दिया है। पांच राज्यों में चुनाव निपटते ही पेट्रोल के दाम में हाे रही लगातार बढ़ाेतरी बुधवार काे भी को जारी रही। रात में 26 पैसे की बढ़ोतरी हाेते ही इंदौर में पेट्रोल के दाम रिकॉर्ड 100.16 रु. पर जा पहुंचे। वहीं, डीजल 91.04 रु. हो गया। एक्ट्रा प्रीमियम की बात करें तो यह आंकड़ा अब 103.69 तक पहुंच गया है। नई दरें बुधवार सुबह 6 बजे से लागू हो गई हैं। आजादी के समय साल 1947 में पेट्रोल 27 पैसे प्रति लीटर और मासिक कमाई 23 रुपए प्रति माह थी, यानी कमाई के अनुपात में पेट्रोल के भाव करीब एक फीसदी, वहीं अभी व्यक्ति की औसत कमाई 11 हजार रुपए है और पेट्रोल 100 रुपए प्रति लीटर, यानी अभी भी कमाई और पेट्रोल के दाम का अनुपात एक फीसदी ही है। आम आदमी की कमाई और पेट्रोल का अनुपात तब भी 1 फीसदी था, अब भी वही हैइसके पहले मंगलवार को इंदौर में पेट्रोल 99 रुपए...
छत्तीसगढ़ की राह पर शिवराज सरकार!:नई आबकारी नीति में शराब की होम डिलीवरी का प्रस्ताव; भोपाल, इंदौर, ग्वालियर और जबलपुर से शुरू करने की तैयारी, मोबाइल ऐप का भी जिक्र
आर्थिक जगत, कहानी, भोपाल संभाग, राज्य समाचार, लाइफ स्टाइल, विविध, संपादकीय

छत्तीसगढ़ की राह पर शिवराज सरकार!:नई आबकारी नीति में शराब की होम डिलीवरी का प्रस्ताव; भोपाल, इंदौर, ग्वालियर और जबलपुर से शुरू करने की तैयारी, मोबाइल ऐप का भी जिक्र

लाइसेंस फीस 5% बढ़ाकर ठेका रिन्यू करने का प्रस्ताव को फिलहाल टाल दिया है आबकारी विभाग ने एक बार फिर शराब की होम डिलीवरी का प्रस्ताव कैबिनेट में मंजूरी के लिए भेज दिया है। जबकि छत्तीसगढ़ में भूपेश सरकार के इस फैलने की बीजेपी ने आलोचना की थी। हालांकि इस नीति पर शिवराज कैबिनेट ने कोई विचार नहीं किया है। मंगलवार को हुई बैठक में अगले 10 माह के लिए लाइसेंस फीस 5% बढ़ाकर ठेका रिन्यू करने का प्रस्ताव भी फिलहाल टाल दिया गया है। मंत्रालय सूत्रों ने बताया कि वर्ष 2020-21 के लिए आबकारी नीति में विदेशी शराब की ऑनलाइन बिक्री को प्रस्तावित किया गया है। नई नीति एक अप्रैल से लागू होने वाली थी, लेकिन सरकार ने कोरोना महामारी के चलते मौजूदा ठेकों को दो माह के लिए 5% लाइसेंस फीस बढ़ाकर जारी रखा है। इस नीति में शराब की दुकानें बढ़ाने का प्रस्ताव भी था, लेकिन इसका विरोध होने के बाद सरकार बैकफुट पर आ ग...
दूसरा डोज, नई डेटलाइन हर रोज?:कोवीशील्ड का दूसरा डोज कितने दिन में लगना जरूरी? इंदौर में अधिकतम 56 तो उज्जैन-रीवा में 60 दिन बताए; सरकारी वेबसाइट पर भी दो जवाब
कहानी, भोपाल संभाग, राज्य समाचार, विविध, शिक्षा और ज्ञान, संपादकीय, हैल्थ

दूसरा डोज, नई डेटलाइन हर रोज?:कोवीशील्ड का दूसरा डोज कितने दिन में लगना जरूरी? इंदौर में अधिकतम 56 तो उज्जैन-रीवा में 60 दिन बताए; सरकारी वेबसाइट पर भी दो जवाब

वैक्सीनेशन की कमी के बाद पहला डोज लगवा चुके लोगों के दूसरे डोज को लेकर टाइमिंग बढ़ाए की चर्चाओं से पसोपेश बढ़ गया है। दिल्ली से देहात तक यही हाल है। केंद्र सरकार की वेबसाइट ही दो तरह के जवाब दे रही है, तो अंचल तक अफसरों भी अलग-अलग जवाब दे रहे हैं। केंद्र सरकार की वेबसाइट पर सवाल-जवाब फॉर्मेट आज तक बदला नहीं गया है। https://www.mygov.in/covid-19 पर आज भी 28 दिन का अंतराल ही रखना बता रहा है, जबकि दूसरी जगह कहा गया है कि ‘यह सलाह दी जाती है कि कोवैक्सिन की दूसरी डोज, पहली डोज के 4 से 6 सप्ताह के अंतराल पर ली जानी चाहिए। कोवीशील्ड के लिए यह अंतराल 4 से 8 सप्ताह करने की सलाह दी जाती है। हालांकि 6-8 सप्ताह के अंतराल से सुरक्षा बढ़ जाती है। आप अपने सुविधा के अनुसार दूसरे डोज की दिन चुन सकते हैं। दरअसल, वेबसाइट के मुख्य पेज से शुरुआती डेटा को वेबसाइट से नहीं हटाने से यह दुविधा पैदा ...
कोरोना महामारी:कोरोना पीड़ित वकीलों को मिलेगी 25000 तक की आर्थिक सहायता
आर्थिक जगत, कहानी, भोपाल संभाग, राज्य समाचार, विदिशा, विविध, हैल्थ

कोरोना महामारी:कोरोना पीड़ित वकीलों को मिलेगी 25000 तक की आर्थिक सहायता

कोरोना महामारी के कारण कई तरह की आर्थिक परेशानियां वकीलों को आ रही हैं। ऐसे में मध्य प्रदेश स्टेट बार काउंसिल के द्वारा आर्थिक सहायता देने का निर्णय लिया गया है। इस संबंध में आर्थिक सहायता के फार्म जिला अभिभाषक संघ विदिशा को भेजे गए हैं। इसमें सामान्य रूप से आर्थिक सहायता प्राप्त करने के लिए अधिकतम 5000 की राशि तथा यदि कोई अभिभाषक कोरोना पॉजिटिव रहा है तथा उसका इलाज हुआ है, ऐसी स्थिति में उसको अधिकतम 25000 की सहायता की व्यवस्था की गई है । साथ ही मृत्यु होने की दशा में अधिकतम 400000 की राशि देने के संबंध में फार्म जिला अभिभाषक संघ में भेजे गए हैं। जिला अभिभाषक संघ के अध्यक्ष अतुल वर्मा ने कहा कि विदिशा के सभी अधिवक्ताओं से अनुरोध है कि कोरोना बीमारी से संबंधित पॉजिटिव या नेगेटिव रिपोर्ट के साथ जिला अभिभाषक संघ को सूचित कर समस्त जानकारी के साथ दस्तावेज जिला अभिभाषक संघ में जमा करा...
MP में मई में फिर बारिश:चक्रवाती हवाओं के कारण रायसेन, विदिशा में गिरे ओले, रात में भोपाल में गिरा पानी, कई गांवों में तेज बारिश से घबराए लोग
भोपाल संभाग, राज्य समाचार, रायसेन, विदिशा, विविध, शिक्षा और ज्ञान

MP में मई में फिर बारिश:चक्रवाती हवाओं के कारण रायसेन, विदिशा में गिरे ओले, रात में भोपाल में गिरा पानी, कई गांवों में तेज बारिश से घबराए लोग

मध्यप्रदेश में मौसम बदलने का सिलसिला जारी है। आमतौर पर मई के महीने में भीषण गर्मी पड़ती है। हर बार इस महीने में आसमान से आग बरसती है, लेकिन इस बार आसमान से आग की जगह बर्फ गिर रही है। सोमवार दोपहर रायसेन, विदिशा जिले के कई हिस्सों में ओले पड़े हैं। इसके साथ गरज-चमक के साथ तेज आंधी और बारिश भी हुई। बारिश इतनी तेज थी कि लोग घबरा गए। जबलपुर में भी मौसम ने करवट ली और बारिश शुरू हो गई। वहीं, गुना में भी बूंदाबांदी हुई। इधर, देर रात करीब साढ़े दस बजे भोपाल के कोलार, होशंगाबाद रोड में भी बारिश शुरू हो गई।मौसम विभाग के वैज्ञानिक जीडी मिश्रा ने बताया कि दक्षिण पश्चिम मध्य प्रदेश के ऊपर चक्रवाती हवाओं का सिस्टम बना हुआ है। इससे नमी आ रही है। इससे बादल बन रहे हैं। सोमवार सुबह से भोपाल में धूप-छांव का सिलसिला बना हुआ था। दोपहर बाद से बादल भी छाए हुए थे। रात को हवाओं के साथ कुछ इलाकों में बादल ब...
सीएम के तल्ख तेवर:जबलपुर अचानक पहुंचे सीएम, एयरपोर्ट पर कलेक्टर-एसपी को आने से रोका, नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन मामले में कहा, बख्शे नहीं जाएंगे आरोपी
अपराध जगत, कहानी, भोपाल संभाग, राज्य समाचार, विविध, संपादकीय

सीएम के तल्ख तेवर:जबलपुर अचानक पहुंचे सीएम, एयरपोर्ट पर कलेक्टर-एसपी को आने से रोका, नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन मामले में कहा, बख्शे नहीं जाएंगे आरोपी

सीएम शिवराज सिंह का सोमवार 10 मई को अचानक जबलपुर पहुंचे। दोपहर सवा एक बजे पहुंचे सीएम ने नकली रेमडेसिवर इंजेक्शन और ऑक्सीजन की लापरवाही से हुई मौत मामले में तल्ख तेवर दिखाए। बोले कि आरोपी कोई भी हो, बख्शे नहीं जाएंगे। कोविड के इस आपदा में ऐसे लोग जानवर से भी गए गुजरे हो गए हैं। इनका जानवर से भी तुलना नहीं कर सकते हैं। ऐसे लोगों की जानवर से भी तुलना नहीं हो सकतीसीएम ने कहा कि ऐसे लोग नर पशु हैं। इन्हें तो जानवर कहना जानवर का अपमान है। कलेक्टर-एसपी को साफ निर्देश है कि नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन के प्रकरण में जाे भी हो, उन पर सख्त कार्रवाई होनी चाहिए। मैं ताे पूर्व में ही ऐसे ऐसे लोगों की संपत्ति राजसात करने का निर्देश दे चुका हूं। बिना लाव लश्कर के अचानक पहुंचे सीएमकोरोना के बिगड़े हालात को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सोमवार 10 मई को अचानक जबलपुर की स्थिति का जायजा लेने पहुं...
ब्लैक फंगल ने 5 दिन में छीनी आंख की रोशनी:कोरोना से ठीक होने लगे थे, सिरदर्द शुरू हुआ और रोशनी कम होने लगी; अब दूसरी आंख में संक्रमण का है खतरा
कहानी, भोपाल संभाग, राज्य समाचार, विविध, संपादकीय, हैल्थ

ब्लैक फंगल ने 5 दिन में छीनी आंख की रोशनी:कोरोना से ठीक होने लगे थे, सिरदर्द शुरू हुआ और रोशनी कम होने लगी; अब दूसरी आंख में संक्रमण का है खतरा

इंदाैर में भी कोरोना से ठीक होने के बाद ब्लैक फंगस के मामले सामने आ रहे हैं। यह इतना घातक है कि बैंककर्मी संक्रमण से रिकवर हो रहा था, उसी दौरान फंगस की चपेट में आ गया। 5 दिन में ही एक आंख की रोशनी चली गई और दूसरी आंख पर खतरा मंडराने लगा है। पिछले साल भी इस तरह के इक्का-दुक्का केस आते थे, लेकिन अब यह संख्या बढ़ गई हैं। इंदौर में अब रोज चार-पांच केस आ रहे हैं। अभी इस पर ज्यादा स्टडी नहीं हुई है।  इस मरीज के परिवार से चर्चा की और इससे बचने के लिए बाजार में मौजूद दवाओं की जानकारी जुटाई। दवाएं बड़ी मुश्किल से बाजार में मिल रही हैं। शहर के मालवा मिल क्षेत्र में रहने वाले देवेंद्र बेथेडा पंजाब नेशनल बैंक में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी कार्य करते हैं। 23 अप्रैल को देवेंद्र ने RT PCR टेस्ट कराया। इसमें उनकी कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव आई। घर पर ही दवा और ऑक्सीजन उन्हें दी जा रही थी। वह धीरे-धीरे ठ...
ऑक्सीजन प्लांट:सिर्फ 8 जिलों में ही शुरू हुए, 37 में बन रहे हैं स्ट्रक्चर; उत्पादन में अभी 1 महीना और लग सकता है
आर्थिक जगत, भोपाल संभाग, राज्य समाचार, विदिशा, विविध, संपादकीय, हैल्थ

ऑक्सीजन प्लांट:सिर्फ 8 जिलों में ही शुरू हुए, 37 में बन रहे हैं स्ट्रक्चर; उत्पादन में अभी 1 महीना और लग सकता है

कोरोना के मरीजों के इलाज के लिए जिला अस्पतालों में लगाए जा रहे ऑक्सीजन प्लांट में ऑक्सीजन उत्पादन में अभी 1 महीने का समय और लग सकता है। प्रदेश के 45 जिलों में जहां ऑक्सीजन प्लांट लगाए जा रहे हैं, उनमें से दो महीने पहले स्वीकृत हुए 8 प्लांट में ही ऑक्सीजन की उत्पादन शुरू हो पाया है। इन प्लांट से 550 से 600 लीटर प्रति मिनिट के हिसाब से ऑक्सीजन मिल रही है, जिसकी उपलब्धता 50 बेड के हिसाब से ही है। जबलपुर में लगाए प्लांट से 13 वेंटीलेटर बेड के लिए ऑक्सीजन मिल पा रही है। बाकी 37 जिलों में अभी स्ट्रक्चर बनाए जा रहे हैं। इधर, बीना-ओमान रिफाइनरी से 30 टन ऑक्सीजन का इस महीने के अंतिम सप्ताह में शुरू होने वाले कोविड अस्पताल के 200 ऑक्सीजन बेड में उपयोग हो पाएगा। इधर, होशंगाबाद में प्लांट लगाए जाने के लिए अभी जगह तय नहीं हो पाई है। हरदा में 18 वाई 36 फीट का कांक्रीट स्ट्रक्चर बनकर तैयार हो गया...
शहर में पांच स्थानों पर लगेंगे सीएनजी पंप:2.20 करोड़ में बिकीं 106 स्क्रैप बसें, अब 600 नई आएंगी, नए डिपो भी बनेंगे
आर्थिक जगत, भोपाल संभाग, राज्य समाचार, विविध

शहर में पांच स्थानों पर लगेंगे सीएनजी पंप:2.20 करोड़ में बिकीं 106 स्क्रैप बसें, अब 600 नई आएंगी, नए डिपो भी बनेंगे

बैरागढ़ में डिपो पर खड़ीं 150 स्क्रैप बसों के लिए बीसीएलएल को खरीददार मिल ही गया। मैनिट, आरजीपीवी और स्टेट गैरेज की रिपोर्ट के आधार पर इन बसों की बिक्री का रेट तय हुआ था। 150 में से 106 बसें अब तक बिक चुकी हैं औप इसकी ऐवज में कंपनी को 2.20 करोड़ रुपए मिले हैं। 42 और बसें बाकी हैं। शेष दो बसों का बीसीएलएल ने उपयोग कर लिया है, इसके लिए भारत सरकार की एमएसटीसी लिमिटेड के ई- ऑक्शन साइट के जरिए ऑफर बुलाए गए थे। दिल्ली और मुंबई के कुछ स्क्रैप व्यापारियों ने यह बसें खरीदी हैं। नगर निगम की जमीन पर खुलेंगे पंप, बिक्री पर मिलेगा कमीशन बैरागढ़, माता मंदिर, सावरकर सेतु के पास, भानपुर और आरिफ नगर में निर्माणाधीन बस स्टैंड के पास सीएनजी पंप खोले जाएंगे। संचालन निजी व्यक्ति के हाथ में होगा। कोकता, पुतलीघर, बाग सेवनिया, बैरागढ़ में बनेंगे डिपो बीसीएलएल ने 600 नई बसों के लिए तैयारियां शुरू ...
संक्रमण के साथ अब फंगल आक्रमण:भाेपाल में 10 दिन में 50 लोगों में ब्लैक फंगल इंफेक्शन, आंखों की राेशनी पर असर
कहानी, भोपाल संभाग, राज्य समाचार, विविध, हैल्थ

संक्रमण के साथ अब फंगल आक्रमण:भाेपाल में 10 दिन में 50 लोगों में ब्लैक फंगल इंफेक्शन, आंखों की राेशनी पर असर

स्टेरॉइड और एंटीबायोटिक दवाओं का हाईडोज कमजोर इम्युनिटी वालों को दे रहा फंगल इंफेक्शनइंदाैर में भी मिले ब्लैक फंगल के मरीज, आज दाे मरीजाें की जान बचाने निकालना पड़ेंगी आंखें कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच ही अब फंगल इंफेक्शन का खतरा सामने आ गया है। दरअसल काेराेना के इलाज में स्टेराॅइड और एंटीबायाेटिक दवाओं का हाईडाेज कमजाेर राेग प्रतिराेधक क्षमता वाले मरीजाें काे ब्लैक फंगस (म्यूकर मायकाेसिस) संक्रमण दे रहा है। बीते 10 दिन में शहर के अस्पतालाें में ब्लैक फंगस के 50 मरीज मिले हैं। इनमें से एक मरीज की आंख और दूसरे के जबड़े की सर्जरी करना पड़ी है। इंदाैर में भी ब्लैक फंगस के 11 मरीज मिले हैं, जिनमें से दाे की आंखें साेमवार काे सर्जरी कर निकाली जाएंगी। एम्स भाेपाल के डेंटिस्ट्री डिपार्टमेंट के एसाेसिएट प्राेफेसर डाॅ. अंशुल राय ने बताया कि ब्लैक फंगस का संक्रमण राइजाेफस और म्यूक...