Monday, January 18

शिक्षा-ज्ञान

विश्व हिंदी दिवस आज:Shampoo से typhoon तक, जानें उन शब्दों को जो हिंदी ने अंग्रेजी को सिखाए
इतिहास की गाथा, कहानी, राजधानी समाचार, राज्य समाचार, विविध, शिक्षा और ज्ञान, शिक्षा-ज्ञान

विश्व हिंदी दिवस आज:Shampoo से typhoon तक, जानें उन शब्दों को जो हिंदी ने अंग्रेजी को सिखाए

सबसे ज्यादा बोले जाने के पैमाने पर दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी भाषा। मातृभाषा भाषा के रूप में दुनिया चौथी बड़ी भाषा। इतनी विराट है हमारी हिंदी। भाषाओं पर रिसर्च और एनालिसिस करने वाले पब्लिकेशन एथनोलॉग के मुताबिक दुनिया में करीब 63.7 करोड़ लोग हिंदी बोलते हैं। आज विश्व हिंदी दिवस है। इस दिन हम इस हिंदी की इसी विराटता का उत्सव मना रहे हैं। उद्देश्य है दुनिया में हिंदी को और आगे बढ़ाना। आज से ठीक 45 साल पहले यानी 10 जनवरी 1975 को नागपुर में पहला विश्व हिंदी सम्मेलन हुआ था। उसके बाद मॉरीशस, त्रिनिदाद एंड टुबैगो, यूनाइटेड किंगडम, सूरीनाम, अमेरिका, दक्षिण अफ्रीका और फिजी में 12 ऐसे सम्मेलन हो चुके हैं। उसी विशेष दिन को याद करते हुए 10 जनवरी 2006 से हम विश्व हिंदी दिवस मनाते हैं। वैसे तो अंग्रेजी दुनिया में सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा है। चीन की मंदारिन दूसरे स्थान पर है। हिंदी समेत ...
भोपाल:कलेक्टर का आदेश- कोचिंग में अब छात्र सभी दिन बुलाए जा सकेंगे, लेकिन क्लास में 50% छात्र ही बैठ सकेंगे
भोपाल संभाग, राज्य समाचार, विविध, शिक्षा और ज्ञान, शिक्षा-ज्ञान

भोपाल:कलेक्टर का आदेश- कोचिंग में अब छात्र सभी दिन बुलाए जा सकेंगे, लेकिन क्लास में 50% छात्र ही बैठ सकेंगे

अल्टरनेट-डे आने की बाध्यता को समाप्त कर दिया गया कोचिंग संस्थानों के लिए भोपाल कलेक्टर ने नया आदेश जारी कर दिया है। इसमें कहा गया है कि अब कोचिंग में छात्र सप्ताह भर आ सकेंगे। अल्टरनेट-डे की बाध्यता समाप्त कर दी गई है। पहले एक छात्र को लगातार दो दिन नहीं बुलाए जाने के आदेश थे। इसके अनुसार छात्र को सप्ताह में अधिकतम 3 दिन ही कोचिंग बुलाया जा सकता था। अब इस नियम में ढिलाई कर दी गई है। इसके अनुसार अब कोचिंग संस्थान छात्रों को सभी दिन कोचिंग में बुला सकते हैं, लेकिन बैठने की क्षमता के अनुसार क्लास में सिर्फ 50% छात्रों को ही बैठाया जा सकता हैं। इसमें सोशल डिस्टेंसिंग समेत अन्य नियमों का पहले की तरह ही पालन करें आना अनिवार्य है। कोचिंग संस्थानों का भी दबाव था जानकारों के अनुसार कोचिंग संस्थानों ने गाइड लाइन में कुछ परिवर्तन की मांग की थी। संचालकों का कहना था कि अगर छात्र को स...
बच्चे की तरह चहक उठे बशीर बद्र…:मशहूर शायर को 46 साल बाद एएमयू से मिली पीएचडी की डिग्री, देखते ही सीने से लगा लिया
इतिहास की गाथा, कहानी, भोपाल संभाग, राज्य समाचार, विविध, शिक्षा और ज्ञान, शिक्षा-ज्ञान

बच्चे की तरह चहक उठे बशीर बद्र…:मशहूर शायर को 46 साल बाद एएमयू से मिली पीएचडी की डिग्री, देखते ही सीने से लगा लिया

बशीर बद्र की सेहत इन दिनों काफी नासाज है, वे अपनी स्मरण शक्ति खो चुके हैं अलहदा लहजे के शायर एवं पद्मश्री बशीर बद्र को अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) से 46 साल बाद पीएचडी की डिग्री मिली है। डिग्री मिलने पर किसी मासूम की तरह चहक उठे। डिग्री को सीने से लगा लिया। बशीर बद्र की सेहत इन दिनों काफी नासाज है। वे अपनी स्मरण शक्ति खो चुके है। लेकिन कभी कुछ याद आने पर वे उसे दोहराने लगते हैं। वर्ष 1973 में उन्होंने आजादी के बाद की गजल का तनकीदी मुताला शीर्षक से अपनी थीसिस एएमयू में समिट की थी। पीएचडी की यह डिग्री उनकी पत्नी के प्रयासों से एएमयू ने डाक से भेजी है। उनकी पत्नी राहत बद्र की मानें तो थीसिस समिट करने के बाद वे अध्यापन के क्षेत्र में चले गए। इसके साथ ही शायरी का सिलसिला उनका परवान चढ़ने लगा तो कामकाजी व्यस्तता के चलते उनका इस तरफ ध्यान नहीं गया। हालांकि वर्ष 1975 में डिग...
बच्चो! टीवी देखो, पढ़ाई करो:MP में सरकारी स्कूलों में अब 6वीं से 8वीं की पढ़ाई दूरदर्शन से, आधे घंटे की क्लास हफ्ते में छह दिन चलेगी
भोपाल संभाग, राज्य समाचार, विविध, शिक्षा और ज्ञान, शिक्षा-ज्ञान

बच्चो! टीवी देखो, पढ़ाई करो:MP में सरकारी स्कूलों में अब 6वीं से 8वीं की पढ़ाई दूरदर्शन से, आधे घंटे की क्लास हफ्ते में छह दिन चलेगी

स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार के निर्देशकार्यक्रम का प्रसारण सोमवार से शनिवार तक मध्यप्रदेश में अब कक्षा 6वीं से 8वीं तक की पढ़ाई दूरदर्शन के जरिए होगी। स्कूल शिक्षा राज्यमंत्री इंदर सिंह परमार के निर्देश पर स्कूल शिक्षा विभाग ने इसका प्रसारण दूरदर्शन मध्यप्रदेश पर प्रारंभ कराया है। इस पढ़ाई कार्यक्रम का सप्ताह में 6 दिन सोमवार से शनिवार तक प्रसारण किया जाएगा। कक्षा आठवीं के लिए सुबह 11 से 11:30 तक, सातवीं के लिए 11:30 से 12 एवं छठवीं के लिए दोपहर 12 से 12:30 तक वीडियो पाठों का प्रसारण होगा। इससे पहले कक्षा 9वीं एवं 11वीं के लिए दूरदर्शन मध्यप्रदेश पर पूर्व से ही शैक्षिक कार्यक्रमों का प्रसारण किया जा रहा है। इसमें सोमवार से शुक्रवार तक कक्षा 11वीं के लिए प्रातः 10 से 11 और कक्षा 9वीं के लिए दोपहर 3 से 4 बजे के बीच पढ़ाई के कार्यक्रमों का प्रसारण किया जा रहा है। अंग्रेज...
छात्रों को आज अंतिम मौका:MP में UG और PG में रात 12 बजे तक भरी जा सकेगी फीस; B.Ed से लेकर बीएलएड की आज मैरेट लिस्ट जारी होगी
भोपाल संभाग, राज्य समाचार, विविध, शिक्षा और ज्ञान, शिक्षा-ज्ञान

छात्रों को आज अंतिम मौका:MP में UG और PG में रात 12 बजे तक भरी जा सकेगी फीस; B.Ed से लेकर बीएलएड की आज मैरेट लिस्ट जारी होगी

अब तक 10 लाख सीटों में से सिर्फ आधी ही सीटें भर पाई हैं उच्च शिक्षा विभाग शैक्षणिक सत्र 2020-21 के लिए एडमिशन लेने वाले छात्रों को आज रात 12 बजे तक फीस भरना अनिवार्य है। इसके तहत ऑनलाइन ई-एडमिशन की प्रक्रिया के कॉलेज लेवल काउंसलिंग (CLC) पांचवां चरण में स्नातक (UG) स्नातकोत्तर (PG) स्तर के पाठ्यक्रमों में प्रवेश से वंचित अभ्यर्थियों को एक और अवसर के तहत दोबारा एडमिशन का मौका दिया गया है। इससे पहले 30 दिसंबर से शुरू हुई प्रक्रिया के तहत फार्म 2 जनवरी तक भरे गए। इसे चार दिन के लिए ओपन किया गया था। 10 लाख सीटों में से अब तक करीब साढ़े पांच लाख छात्रों ने ही एडमिशन लिया हैं, जबकि छात्रों के एडमिशन नहीं लेने के कारण निजी कॉलेज 1 लाख से अधिक सीट सरेंडर कर चुके हैं। इसके साथ ही B.Ed से लेकर बीएलएड की आज मेरिट लिस्ट जारी होगी। 4 जनवरी को मेरिट लिस्ट जारी की गई CLC के पांचवें चरण...
एजुकेशन सेक्टर के लिए कैसा रहेगा 2021:NCERT के पूर्व डायरेक्टर बोले- हर लेवल पर नया सिलेबस बनेगा; एडहॉक टीचर्स की नियुक्ति पर ब्रेक लगेगा
राजधानी समाचार, राज्य समाचार, विविध, शिक्षा और ज्ञान, शिक्षा-ज्ञान

एजुकेशन सेक्टर के लिए कैसा रहेगा 2021:NCERT के पूर्व डायरेक्टर बोले- हर लेवल पर नया सिलेबस बनेगा; एडहॉक टीचर्स की नियुक्ति पर ब्रेक लगेगा

कोरोना ने सिखाया कि E-लर्निंग काम की, लेकिन आमने-सामने सीखने का विकल्प नहींकेंद्र और राज्यों को सभी लोगों तक सरकारी शिक्षा पहुंचाने के लिए काम करना चाहिए 2021 में अलग-अलग सेक्टर्स का क्या हाल रहेगा? उनके सामने क्या चुनौतियां हैं और इन सेक्टर्स में क्या बड़े बदलाव हो सकते हैं? नए साल के मौके पर हम इन मुद्दों पर देश के जाने-माने विशेषज्ञों की राय आपके सामने ला रहे हैं। कल आपने देश की अर्थव्यवस्था पर प्रो. अरुण कुमार की राय पढ़ी। आज बारी एजुकेशन सेक्टर की है। तो आइये जानते हैं एजुकेशनिस्ट और नेशनल काउंसिल ऑफ एजुकेशन रिसर्च एंड ट्रेनिंग (NCERT) के पूर्व डायरेक्टर जगमोहन सिंह राजपूत का एजुकेशन सेक्टर पर क्या कहना है... 2020 में हर किसी का जीवन किसी न किसी तरह से कोरोना से प्रभावित हुआ, लेकिन यह समझ भी बढ़ी कि मनुष्य के पास आपदाओं से निपटने का सबसे सशक्त माध्यम है, अच्छी शिक्षा और ...
MP में बच्चे अब भी स्कूल जाने से डर रहे:मंडल की हेल्पलाइन पर रिकॉर्ड कॉल; सवाल सिर्फ एक स्कूल जाएं या नहीं, जवाब- गाइडलाइन का पालन करें
भोपाल संभाग, राज्य समाचार, विविध, शिक्षा और ज्ञान, शिक्षा-ज्ञान

MP में बच्चे अब भी स्कूल जाने से डर रहे:मंडल की हेल्पलाइन पर रिकॉर्ड कॉल; सवाल सिर्फ एक स्कूल जाएं या नहीं, जवाब- गाइडलाइन का पालन करें

जनरल प्रमोशन से लेकर विषय और किस समय पढ़ाई करें तक के सवाल आ रहेअब तक फोन पर ही 2 लाख 35 हजार छात्र की काउंसलिंग की जा चुकी है मध्यप्रदेश में स्कूली बच्चे अब भी स्कूल जाने से डर रहे हैं। उन्हें कोरोना का डर सता रहा है। इस संबंध में 9वीं से लेकर 12वीं तक के 1 जनवरी से लेकर 31 दिसंबर तक 2 लाख 35 हजार से ज्यादा छात्र-छात्राओं ने मंडल की हेल्पलाइन पर सवाल पूछे हैं। यही कारण है कि इस बार पिछले साल की तुलना में एक लाख से ज्यादा छात्रों ने कॉल किए हैं। माध्यमिक शिक्षा मंडल के 18 काउंसलिंग ने रिकॉर्ड कॉल अटेंड किए हैं। इसी दौरान वर्ष 2019 में 1 लाख 31 हजार छात्र छात्राओं के कॉल आए थे। इस संबंध में विज्ञान केंद्र मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल के निदेशक डॉक्टर हेमंत शर्मा ने छात्रों के मन में उठने वाले सवालों के जवाब दिए। उन्होंने बताया कि सबसे ज्यादा सवाल कोरोना और स्कूल जाने को लेकर ...
जानिए, सेहत से लेकर सुरक्षा और राजनीति से विदेश नीति तक कैसे रहेंगे भारत के लिए नए साल में सितारे
राजधानी समाचार, राज्य समाचार, विविध, शिक्षा और ज्ञान, शिक्षा-ज्ञान

जानिए, सेहत से लेकर सुरक्षा और राजनीति से विदेश नीति तक कैसे रहेंगे भारत के लिए नए साल में सितारे

नस्तुर बेजान दारुवाला, डॉ. कुमार गणेश, पं. मनीष शर्मा, पं. गणेश मिश्रा बता रहे हैं खास भविष्यवाणियां 2021 शुरू हो गया है। इस साल देवगुरु बृहस्पति की वजह से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का प्रभाव बना रहेगा। 23 जनवरी के बाद दुनियाभर में कोरोना काबू होने लगेगा। भारत को पाकिस्तान और चीन की वजह से बॉर्डर पर परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। देश के 4 ज्योतिषाचार्य बता रहे हैं कि नया साल 2021 देश की राजनीति, सुरक्षा, स्वास्थ्य, शिक्षा और आर्थिक क्षेत्र के लिए कैसा रह सकता है... राजनीति के लिए राज्यों के चुनाव में भाजपा का बोलबाला रहने की उम्मीद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की राशि वृश्चिक है, इस पर देवगुरु बृहस्पति की कृपा रहेगी। इनका आत्मविश्वास दुश्मन को हराने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करेगा। अपनी असाधारण इच्छा शक्ति के दम पर मोदी सफलता प्राप्त करेंगे। साथ ही, वे अपने व्यक्तित्व ...
परीक्षा की घड़ी:CBSE 10वीं-12वीं बोर्ड की परीक्षाएं इस बार 4 मई से 10 जून तक, रिजल्ट 15 जुलाई तक
राजधानी समाचार, राज्य समाचार, विविध, शिक्षा और ज्ञान, शिक्षा-ज्ञान

परीक्षा की घड़ी:CBSE 10वीं-12वीं बोर्ड की परीक्षाएं इस बार 4 मई से 10 जून तक, रिजल्ट 15 जुलाई तक

CBSE 10वीं और 12वीं बोर्ड की परीक्षाओं की तारीखें आ गई हैं। ये 4 मई से शुरू होंगी। 10 जून तक खत्म हो जाएंगी। रिजल्ट 15 जुलाई तक जारी कर दिया जाएगा। इन परीक्षाओं में 30 लाख स्टूडेंट्स शामिल हो सकते हैं। इस बार ये बोर्ड एग्जाम्स करीब ढाई महीने की देरी से होंगे। पिछले साल ये 15 फरवरी से शुरू हो गए थे। शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने गुरुवार को इन तारीखों का ऐलान किया। शिक्षा मंत्री की घोषणा को 5 सवाल और उनके जवाबों से समझें 1. क्या CBSE 10वीं और 12वीं की परीक्षाओं का शेड्यूल एकसाथ चलेगा?शिक्षा मंत्री ने अभी सिर्फ परीक्षाएं शुरू और खत्म होने की तारीखें बताई हैं। बोर्ड अब डेट शीट जल्द ही जारी करेगा। इसमें साफ होगा कि 10वीं और 12वीं बोर्ड के अलग-अलग सब्जेक्ट्स के पेपर कब होंगे? 2. क्या बोर्ड एग्जाम्स ऑनलाइन होंगे?नहीं। कई स्कूलों ने प्री-बोर्ड एग्जाम्स ऑनलाइन कराई हैं, ल...
MP में 1 जनवरी से सभी कॉलेज खुलेंगे:स्कूलों की तरह ही पढ़ाई होगी; सार्वजनिक कार्यक्रम नहीं होंगे, हॉस्टल बंद रहेंगे, माता-पिता की अनुमति जरूरी
भोपाल संभाग, राज्य समाचार, विविध, शिक्षा और ज्ञान, शिक्षा-ज्ञान

MP में 1 जनवरी से सभी कॉलेज खुलेंगे:स्कूलों की तरह ही पढ़ाई होगी; सार्वजनिक कार्यक्रम नहीं होंगे, हॉस्टल बंद रहेंगे, माता-पिता की अनुमति जरूरी

यूजी के अंतिम वर्ष और पूजी की तीसरे सेमेस्टर की क्लास लगाई जाएंगी20 जनवरी को सभी जिलों के आपदा प्रबंधन की बैठक के बाद आगे निर्णय होगा उच्च शिक्षा विभाग के अनुसार नई गाइडलाइन में कॉलेज खुलने के आदेश शासन ने जारी कर दिए हैं। एक जनवरी से सभी शासकीय और अशासकीय कॉलेज खुल जाएंगे। इसमें बीए से लेकर तकनीकी कॉलेज भी शामिल हैं। एक जनवरी से पहले 10 दिन सिर्फ प्रैक्टिकल और 10 जनवरी से नियमित क्लास शुरू की जाएंगी। इसके बाद 20 जनवरी को सभी जिलों के आपदा प्रबंधन की बैठक होगी। उसके बाद कॉलेज को आगे नियमित और क्लास की संख्या बढ़ाने पर निर्णय लिया जाएगा। इस में कोरोना की स्थिति को मुख्य रूप से ध्यान रखा जाएगा। एक तिहाई उपस्थिति से कक्षाएं लगाई जाएंगी इसके बाद अब प्रदेशभर के इंजीनियरिंग, मैनेजमेंट, फॉर्मेसी कालेज और पॉलीटेक्निक एक जनवरी से खोले जा सकेंगे। ये कॉलेज शासन और यूजीसी द्वारा जारी गाइ...