Friday, May 14

Author: Betwaanchal Bhopal

प्रेस क्लब कार्यालय में मनाई गई बसंत पंचमी, माँ  सरस्वती की पूजार्चना की गई।
Uncategorized, भोपाल संभाग, राजधानी समाचार, राज्य समाचार

प्रेस क्लब कार्यालय में मनाई गई बसंत पंचमी, माँ सरस्वती की पूजार्चना की गई।

ओबेदुल्लागंज(सं):-आज बसंत पंचमी के पावन अवसर पर औबेदुल्लागंज प्रेस क्लब कार्यालय में सरस्वती पूजन का कार्यक्रम आयोजित किया गया।जिसमें नगर के गणमान्यजनों सहित मीडिया कर्मियों ने मां सरस्वती की पूजन वंदना की।इस दौरान प्रेस क्लब के संरक्षक  राम गोपाल साहू ने कहा कि, मां सरस्वती ज्ञान की देवी है पत्रकारिता करने वाले हर व्यक्ति को मां सरस्वती की उपासना करना चाहिए।वही आज प्रेस क्लब के नवनिर्वाचित अध्यक्ष प्रीतम राजपूत ने प्रेस क्लब अध्यक्ष का पदभार ग्रहण किया।आयोजन में नगर के वरिष्ठ नागरिक सुरजीत सिंह बिल्ले,रामेश्वर नागर, कन्हैया राय अर्चना विक्रांत राय,सोनू चौकसे,राम नन्दवंशी,डॉ भूपेंद्र नागर,पामेश यादव,देवेंद्र गुप्ता,कमलेश लोधी,आमिर ममनून,अमर सिंह सरपंच,पत्रकार दीपक नागर,देवेंद्र चौहान,भारत निहाल,सुरेश केवट,ऋषभ यादव,अमित साहू,भूपेंद्र मेहरा,डॉक्टर महेंद्र धाकड़,मनोज खटीक अमर पेठारी बिश...
जिद्द का किसान आंदोलन ।
Uncategorized, भोपाल संभाग, राजधानी समाचार, संपादकीय

जिद्द का किसान आंदोलन ।

आंदोलन निश्चित ही हितों की रक्षा का एक प्रमुख हथियार है ।ओर इस हथियार से अपने हितों की रक्षा के साथ ही दशा ओर दिशा दोनों तय की जाती है । पर जव यह हथियार दिशा हीन होकर जिद्द पकड़ ले तो उससे किसी का भला नहीं होता न तो आंदोलन करनेवाले का ओर नाही जिसके खिलाफ आंदोलन किया जा रहा उसका । इस समय यही हाल देश मे चल रहे किसान आंदोलन का देखने को मिल रहा है । किसनों के हित के लिए मोदी सरकार ने संसद तीन विल पास किये जिससे किसानों को उनकी फसल का उचित मूल्य के साथ उनके विकास का रास्ता भी खुल सके इस पर किसानों को कई विंदुओं पर शंका है उसको लेकर सरकार ने किसान नेताओं को लिखित भरोसा दिया पर किसान अव पूरा विल ही बापिस करने पर अढ़ गये है । पिछले पंद्रह दिनों से दिल्ली के बार्डर पर किसानों का लग्जीरियस आंदोलन चल रहा है किसान दिल्ली मे घुसने की जिद्द कर रहे है उन्होंने दिल्ली सहित आसपास के फ्लाईओवर को ब...
गद्दरों में आखिर बैचेनी क्यों है  ?
Uncategorized, संपादकीय

गद्दरों में आखिर बैचेनी क्यों है ?

देश बदल रहा है सुधार भी दिखाई दे रहा छोटे से लेकर बढे तक को कहीं न कहीं सरकार ने सुविधाओं का तौफा दिया है ।रसोई गैस से लेकर शौचालय तक के लिए पैसा दिया जा रहा है ।किसनों की फसल भी दुगनी करने की ओर प्रयास किये जा रहे है ।इसी क्रम में छोटे किसानों को साल में छ: हजार रूपए की मदद भी की जा रही है । किसानों के हित के लिए बीच की दलाली बंद करने का कानून भी लागू कर दिया है । देश को आत्मनिर्भर बनाने का पूरा प्रयास किया जा रहा है । इतना ही नहीं देश की सुरक्षा पर भी ध्यान दिया जा रहा है ।सैन्य उपकरण खरीदे जा रहे है ।सेना के प्रति देश मे बहुत बढ़ा बदलाव देखने मिल रहा है लोगों में सम्मान का भाव देखा जा रहा है । वस परेशान तो वो दिख रहे है जिसे न तो देश से कोई लेना देना है ओर न ही धर्म से उनका मकसद किसी न किसी रूप में लूट मचाकर अपने खजाने भरना है । हो सकता है आप सरकार की किसी नीति से सहमत न हो आपक...
किसानों की आड़ में राजनीति ।
Uncategorized, संपादकीय

किसानों की आड़ में राजनीति ।

किसान आदोंलन के नाम पर घटिया राजनीति हो रही है ।जव से मोदी सरकार देश मे किसान विल लाई है तभी से कुछ राजनैतिक पार्टियों को बड़ी तकलीफ हो रही है ।ओर वो निरंतर किसानों को भडकाने में लगे हुये है । दो दिन से दिल्ली कूच के नाम पर तमाशा मचा हुआ हे ।एक बढ़ा प्रश्न ये वक्त किसानों के लिए बढ़ा अहम है इस समय जिन किसानों को खेत मै काम करना चाहिए वो सड़कों पर उपद्रव मचा रहे है ये कैंसे सम्भव है । जिन्हें हम अन्नदाता कहते उनका आंदोलन किसी उपद्रवियों से कम नहीं है ।यह पूरा राजनैतिक ड्रामा है । ये उसी तरह का ड्रामा है जो दिल्ली के रामलीला मैदान से शुरु किया गया था सीएए के नाम पर ।ओर पूरे देश में प्रर्दशन कर दिल्ली को शाहीन बाग के रूप में महीनों तक बंधक बनाया गया था । इसे यदि शाहीन बाग टू कहें तो अतिशयोक्ति नहीं होगी । जिन मांगों को लेकर किसान आंदोलन कर रहे है उन पर बात भी की जा सकती है पर ऐसा लगता...
लवजिहाद पर योगी का हथौड़ा।
Uncategorized, भोपाल संभाग, राजधानी समाचार, राज्य समाचार, संपादकीय

लवजिहाद पर योगी का हथौड़ा।

आखिर कर जिस जिहादी मानसिकता पर अंकुश लगाने कि मांग बर्षों से की जा रही थी उसकी शुरुआत हो चुकी ओर इसका श्रेय भी योगी सरकार को जाता है ।जिसने सबसे पहले अपने राज्य में अध्यादेश के माध्यम से लागू कर दिया ।हालांकि लवजिहाद पर मध्यप्रदेश ने सबसे पहले कानून बनाने की घोषणा की थी ओर उसकेबाद हरियाणा ओर उत्तरप्रदेश ने भी घोषणा की पर उत्तरप्रदेश ने सबसे पहले इस कानून को बनाया ही नहीं उसे अध्यादेश के माध्यम से लागू भी कर दिया । अव इसी कानून को कर्नाटक में भी बनाया जायेगा। पर कांग्रेस को पता नहीं क्या तकलीफ है उसने इस कानून का भी विरोध शुरू कर दिया है ऐसा लगता है अव कांग्रेस को हिंदुत्व ओर रास्ट्रवाद से नफरत है ।जैसे ही कोई कानून आता है तो कांग्रेस सबसे पहले उसका विरोध करती है । जवकि उसे तो खुश होना चाहिए एक ऐसा प्रयास शुरू हुआ है जिससे देश मे आयेदिन लवजिहाद की खबरें आती थी उस से निजात मिलेगी...
काश विहार की कमान गिरराज सिंह के हाथ मे होती।
देश विदेश, राज्य समाचार, संपादकीय

काश विहार की कमान गिरराज सिंह के हाथ मे होती।

काश विहार की कमान गिरराज सिंह जी के हाथ में होती । आज देश मे तेज ओर तुरंत निर्णय लेनेवाले नेताओं की आवश्यकता महसूस की जा रही है । विहार जैसे राज्य को भी एक तेजतर्रार नेता की आवश्यकता लग रही है नीतीश जी की कार्यप्रणाली में कोई कमी नहीं है पर वह हिंदुत्व ओर राष्ट्रीय मुद्दों पर चुप्पी साध लेते हैं । ओर अव उनकी छमता का लाभ भी विहार को मिल चुका है इसलिए अव विहार के विकास के लिए एक जुझारू नेता कि आवश्यकता है । बैसे इस तरह की बात करने से नीतीश कुमार जी के समर्थक नाराज हो सकते है पर यह तो सच्चाई है परिवर्तन से ही विकास के रास्ते खुल सकते है । नीतीश बाबू को अव केन्द्र मे अपनी सेवाएं देना चाहिए । ...
सेंसर बोर्ड की भूमिका संदेह के घेरे में।
Uncategorized, देश विदेश, भोपाल संभाग, राजधानी समाचार, संपादकीय

सेंसर बोर्ड की भूमिका संदेह के घेरे में।

इन दिनों बॉलीवुड से लेकर टीवी शो भी देश की जनता के निशाने पर है आयेदिन बॉलीवुड के राज उजागर हो रहे है ।बॉलीवुड की अश्लील हरकतों से तो समाज में पहले से ही रोष था ।अव जव देश के लोगों को यह मालूम चल रहा है ।कि जिन बॉलीवुड के कलाकारों को वो आदर्श मानते थे वो तो नशेड़ी है । इसके बाद तो मानों लोगों का भ्रम ही टूट गया हो। पर बॉलीवुड अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा वो निरंतर सनातन धर्म ओर राष्ट्रवाद को निशाना बना रहा है । ओर उनके इस घिनौने मनसूबों को सेंसर बोर्ड अपनी मौन सहमति दे रहा है ये कैसे हो सकता है बगैर सेंसर बोर्ड की अनुमति के ऐसी पिक्चर य उनके सीन य फिर नाम दिखाये जायें जिससे देश का तानाबाना खराब हो य फिर किसी की धार्मिक भावनाएं आहत हों । इस तरह का कार्य वर्षों से किया जा रहा है ।ओर आज भी जारी है । देश के अंदर आज जो गंदगी दिखाई दे रही है । उसका सिर्फ और सिर्फ बॉलीवुड ही जिम्मेदार है...
Uncategorized, संपादकीय

गिद्धों जैसे टूट पड़े योगी पर ।

गजब की राजनीति सिर्फ मौके का ही इंतजार रहता है जैसे ही मौका मिला ओर गिद्धों की तरह टूट पढ़ते है ओर इस गिद्ध जमात में हमारे पत्रकार भी शरीक हो जाते हैं। हम यूपी की राजनीति की बात कर रहे है घटना घटी उसकी प्रक्रिया है सही है गलत है उसकी जांच होनी चाहिए पर ऐसा माहौल बना दिया जाता है जैसे एक दिन में ही न्याय हो जाये । ओर यदि तेलंगाना जैसा एक दिन में न्याय हो जाये तो वहां भी आपत्ति है । अरे भाई चाहते क्या हो कव तक अपनी दुकानें चलाओगे । जो घटना घटी है वह कहीं से सही नहीं कही जा सकती ओर जो प्रशासन की भूमिका रही वह भी सही नहीं कही जा सकती पर जो राजनीति चल रही है उसे भी सही नहीं ठहराया जा सकता । पत्रकारों का रवैया तो स्वयं न्यायाधीशों वाला हो चुका है इसलिए उनके विषय में कुछ भी कहना ठीक नहीं पर जो कुछ हो रहा है वह सिर्फ राजनीति है ओर कुछ नहीं । ...
राजधानी समाचार, राज्य समाचार

बॉलीवुड तो नशेड़ी निकला।

कल तक हम जिन्हें देखकर अपने रहनसहन के तौरतरीके बदला करते थे ओर हमारे युवा उनके प्रति दीवानगी दिखाया करते थे । वो तो नशेड़ी निकले । हम बात कर रहे है बॉलीवुड की उस बॉलीवुड की जिसके पैर जमीन पर नहीं रहते थे भगवान के बाद खुद को भगवान समझने बाले ये बॉलीवुड के कलाकारों के कारनामों ने बता दिया है जरूरी नहीं दूर से जो दिखाई दे वह सौ फीसदी अच्छा ही हो । बॉलीवुड के नखरे अर्धनग्न शरीर की नुमाइश, अय्याशी की कहानियां, रातों की पार्टियां छोटे छोटे कपडे इन सभी से ये सेलिब्रिटी कहलाते । आदर्शहीन फिल्मों से वाहवाही लूटने बाले ये टपोरी कलाकारों की असलियत देश के सामने आ गई ।इनही फिल्मों से कोई नायक तो कोई महानायक वनकर देश पर रौव दिखाने लगा । आज जव इन कलाकारों की सच्चाई सामने आ रही है तो सभी लोग इस बात से हैरान है की कल तक जो बॉलीवुड भारतीय संस्कृति संस्कारों को तोड़मरोड़कर दिखाकर पैसा कमता था ओ...
यूपी में फिल्मसिटी के ऐलान से कलाकारों में हर्ष।
राज्य समाचार

यूपी में फिल्मसिटी के ऐलान से कलाकारों में हर्ष।

ऐसा लग रहा है बॉलीवुड के बुरे दिन चल रहे है । सुशांत की मौत ने पहले ही बॉलीवुड की बखिया उधेड़ रखीं थीं की अचानक ड्रग की ऐंट्री हो गई ओर ड्रग केस में कुछ कलाकार तो जेल के अंदर है ओर कुछ जाने की लाईन में लगे है । इसी बीच दिशा सालयान की मौत की असलियत सामने आ रही है यह सव बॉलीवुड के लिए परेशान करनेवाली खबरें तो थी ही अव योगी सरकार ने यूपी में फिल्मसिटी खोलने की घोषणा कर दी इससे निष्चित ही उन कलाकारों को सुकून बाली खबर है जो फिल्मी दुनिया की चमक में सपने बुनने मुंबई का रूख किया करते थे। ओर दरदर की ठोकरें खाया करते थे । आज भले ही इसके परिणाम समझ न आयें पर भविष्य में इसका बहुत बढा असर बॉलीवुड इंडस्ट्री पर जरूर पढ़ने बाला है । ओर हालही की घटनाओं का खामियाजा भी बॉलीवुड ओर मुंबई को भुगतना पडेगा । जिस तरह से जया बच्चन ने संसद में बॉलीवुड के रुख को लेकर बात उठाई ओर सांसद किशन कुमार को न...