Friday, May 14

कच्चे माल की किल्लत:कोवीशील्ड का भारत से बाहर उत्पादन करने की योजना बना रहा सीरम इंस्टीट्यूट, जल्द हो सकती है घोषणा

  • सीरम इंस्टीट्यूट के सीईओ अदार पूनावाला ने दिए संकेत
  • 6 महीने में 3 बिलियन डोज की उत्पादन क्षमता करने की योजना

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) कोरोना वैक्सीन का उत्पादन भारत से बाहर करने की योजना बना रहा है। कच्चे माल की आपूर्ति में दिक्कत के चलते कंपनी यह योजना बना रही है। एक अखबार से बातचीत में SII की सीईओ अदार पूनावाला ने यह बात कही है। SII एस्ट्राजेनेका की कोवीशील्ड वैक्सीन का उत्पादन करती है।

जल्द हो सकती है घोषणा

अदार पूनावाला का कहना है कि भारत से बाहर उत्पादन की घोषणा जल्द हो सकती है। पूनावाला ने पिछले सप्ताह ही कहा था कि सीरम इंस्टीट्यूट जुलाई के बाद अपना उत्पादन 100 मिलियन डोज तक बढ़ाने में सक्षम होगा। इससे पहले मई के अंत तक उत्पादन क्षमता बढ़ाने की टाइमलाइन तय की गई थी। इस समय देश के कई राज्य कोविड वैक्सीन की कमी का सामना कर रहे हैं।

6 महीने में बढ़ जाएगा उत्पादन

अदार पूनावाला का कहना है कि उन्हें उम्मीद है कि 6 महीने में सीरम इंस्टीट्यूट की उत्पादन क्षमता 2.5 बिलियन से 3 बिलियन डोज सालाना हो जाएगी। पूनावाला ने कहा कि भारत से आने वाले यात्रियों पर रोक लगने पहले ही वह लंदन पहुंच गए थे। देश में कोरोना के केस बढ़ने के कारण ऑक्सीजन, दवाएं और अन्य जरूरी उपकरणों की कमी हो गई है। सरकार को यह सामान विदेशों से आयात करना पड़ रहा है। वैज्ञानिकों का कहना है कि देश में कोरोनावायरस 3-5 मई के दौरान पीक पर पहुंच सकता है।

24 घंटे में रिकॉर्ड 4.01 लाख केस आए

देश में कोरोना की दूसरी लहर हर दिन खतरनाक होती जा रही है। शुक्रवार को यहां रिकॉर्ड 4 लाख 1 हजार 911 नए संक्रमितों की पहचान हुई। यह दुनिया के किसी भी देश में एक दिन में मिले संक्रमितों की सबसे बड़ी संख्या है। यही नहीं, यह आंकड़ा सबसे ज्यादा संक्रमित अमेरिका में मिले नए मरीजों से सात गुना है। वहां शुक्रवार को 58,700 केस आए। पूरी दुनिया में 8.66 लाख नए मरीजों की पहचान हुई है। इनमें से लगभग आधे (46%) भारत में ही पाए गए।

देश में कोरोना महामारी आंकड़ों में

  • बीते 24 घंटे में कुल नए केस आए: 4.01 लाख
  • बीते 24 घंटे में कुल मौतें: 3,521
  • बीते 24 घंटे में कुल ठीक हुए: 2.98 लाख
  • अब तक कुल संक्रमित हो चुके: 1.91 करोड़
  • अब तक ठीक हुए: 1.56 करोड़
  • अब तक कुल मौतें: 2.11 लाख
  • अभी इलाज करा रहे मरीजों की कुल संख्या: 32.64 लाख

comments