Friday, May 14

संक्रमण का खतरा:बालाजी इमला धाम पहुंचे 3 हजार लोग

पूर्व विधायक हरि सिंह रघुवंशी ने कोरोना संक्रमण खतरा रोकने के लिए एसडीएम राजेश मेहता और एसडीओपी भारत भूषण शर्मा से बालाजी इमला धाम पर उमड़ रहे जन सैलाब को रोकने और वहां व्यवस्था करने की मांग की है। पूर्व विधायक ने बालाजी इमला धाम मंदिर पहुंच कर वहां आए सैकड़ों लोगों को कोरोना संक्रमण की जानकारी दी और घर पर ही पूजा अर्चना करने की समझाइश दी। बालाजी इमला धाम में मंगलवार की दोपहर 12 बजे की आरती में 2500 से 3000 की भीड़ रही। महिला पुरुष और बच्चे सभी बिना मास्क और सोशल डिस्टेंस के भीड़ के रूप में खड़े हुए थे। महिलाएं छोटे बच्चे भी साथ लेकर आई थी। मंदिर में माइक पर अनाउंसमेंट भी हो रहा था कि मास्क लगाकर रखें तब भी कोई सुनने तैयार ही नहीं था तभी पूर्व विधायक पहुंचे तो उन्होंने वहां के महंत से कहा कि अब क्या होगा तो पूर्व विधायक ने एसडीओपी से चर्चा की और वहां की सुरक्षा के लिए इंतजाम के लिए कहा। एसडीओपी ने तत्काल पुलिस भेजी। पूर्व विधायक ने माइक पर जनता से सावधानी बरतने की बात कही।

साथ ही सभी लोगों को कोरोना से बचें इस संकट के दौरान अपने अपने घर पर रहने मंदिर न आने का आह्वान किया। प्रमोद सिंह राजपूत ने भी कोरोना से बचने के बारे में दर्शनार्थियों से अपील की। इस बार बीमारी के लक्षण समझ नहीं आ रहे। इसलिए सभी दूर रहें। अपने घरों से बाहर न निकलें। इसके बाद मंदिर के महंत ने भी मंदिर में ताला लगा दिया। साथ ही घोषणा की गई कि जब तक कोरोना है तब तक मंदिर बंद रहेगा। शिमला धाम पर प्रति मंगलवार, शनिवार ग्रामीण और शहरी क्षेत्र के श्रद्धालु दोपहर आरती में शामिल होने बड़ी संख्या में पहुंचते हैं इसके चलते संक्रमण का खतरा बना हुआ है।

comments