Wednesday, January 20

7 साल की बच्ची का साहस:कोचिंग संचालक और नौकर कर रहे थे छेड़छाड़, बच्ची हाथ छुड़ाकर भागी, भीड़ ने दोनों आरोपियों को पीटा

  • बच्ची को आरोपी और उसके नौकर ने पकड़ने की नाकाम कोशिश भी की
  • पुलिस आते ही आरोपी बोला- माफ कर दो, अब ऐसी गलती नहीं होगी

भोपाल के पॉश इलाके में 7 साल की बच्ची से छेड़खानी का मामला सामने आया है। आरोपी कोचिंग संचालक बहाने से बच्ची को घर ले गया। आरोपी ने नौकर के साथ छेड़छाड़ की। बच्ची ने हिम्मत दिखाते हुए, आरोपियों का सामना किया और चंगुल से छूटकर घर पहुंच गई। बच्ची ने माता-पिता को रोते हुए आपबीती बताई। इसके बाद कॉलोनी के लोगों ने दोनों आरोपियों की पहले पिटाई की, फिर पुलिस को सौंप दिया। पुलिस ने कोचिंग संचालक और नौकर को पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है।

कटारा हिल्स पुलिस के अनुसार बच्ची सेकंड क्लास में पढ़ती है। इलाके में मनीष भी रहता है। वह कोचिंग संचालक है। परिजन ने पुलिस को बताया कि बुधवार शाम साढ़े 5 बजे बेटी खेल रही थी। इसी दौरान मनीष वहां आ गया। वह भी उसके साथ खेलने लगे। कुछ देर बाद उसने बेटी से कहा कि वे उसकी हाइट नापना चाहते हैं। इतना कहते ही, वह गोद में उठाकर उसे घर ले गया।

यहां उससे छेड़खानी करने लगा। छूटने के लिए वह छटपटा रही थी, लेकिन आरोपी ने उसे हाथों से जोर से जकड़कर रखा था। किसी तरह बेटी चंगुल से छूटकर भागी, तो मनीष ने नौकर जितेंद्र से उसे पकड़ने को कहा। उनकी बेटी वहां से भाग निकली और घर आ गई। उसने घर आकर पूरी बात बताई।

मामले का पता चलते ही नाराज कॉलोनी के लोग भी परिजन के साथ आरोपी के घर पहुंच गए। उन्होंने आरोपी मनीष और नौकर जितेंद्र की धुनाई कर दी। सूचना पर पुलिस भी पहुंच गई। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

आरोपी ने दरवाजे अंदर से बंद कर लिए थे

परिजन ने बताया कि रात करीब 10 बजे वे रहवासियों के साथ उसके घर पहुंचे। लोगों को आता देख उसने घर का दरवाजा अंदर से बंद कर लिया। लोगों ने किसी तरह दोनों को बाहर निकाला और जमकर पिटाई कर दी।

पुलिस से बोला माफ कर दो, अब नहीं करूंगा

आरोपी मनीष पहले तो गलती मानने को तैयार नहीं था। इससे नाराज लोगों ने उसकी पिटाई शुरू कर दी। बाद में जब पुलिस मौके पर पहुंची, तो वह सबके हाथ पैर जोड़ने लगा और कहने लगा आज छोड़ दो। आज के बाद वह इस तरह की हरकत नहीं करेगा। पुलिस ने इस मामले में आरोपी मनीष और उसके नौकर को आरोपी बनाया है।

घबरा गई है बच्ची

पुलिस ने बताया कि घटना के बाद से ही बच्ची घबरा गई है। परिजनों के साथ ही मासूम की काउंसलिंग कराई जाएगी, ताकि उन्हें सामान्य किया जा सके। सबसे बड़ी बात कि बच्ची के दिमाग से घटनाक्रम को दूर करना जरूरी है।

comments