Wednesday, January 20

वैक्सीनेशन पर CM की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग:शिवराज ने कमिश्नर-कलेक्टर से कहा- पहला टीका सफाईकर्मी को लगाने का प्रयास करें

  • कहा- फ्रंट लाइन वर्कर्स जैसे पुलिसकर्मी, राजस्व अमला भी सुरक्षित होना जरूरी
  • अपील- धर्मगुरु, प्रशासन इस प्राथमिकता की जानकारी लोगों को दें

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि 16 जनवरी को टीकाकरण अभियान सुबह 9 बजे पूरे प्रदेश में एक साथ शुरू होगा। उन्होंने कलेक्टरों से कहा है कि वे यह प्रयास करें कि पहला टीका सफाई कर्मचारी को लगे।

मुख्यमंत्री टीकाकरण अभियान की तैयारियों को लेकर गुरुवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कलेक्टर और सभी कमिश्नरों से बात कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि फ्रंट लाइन वर्कर्स जैसे पुलिसकर्मी, राजस्व अमला भी सुरक्षित होना जरूरी है। उन्होंने धर्म गुरुओं से अपील की है कि वे स्थानीय स्तर पर प्रशासन के टीकाकरण की प्राथमिकताओं की जानकारी आमजनों को दें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण का अभियान 16 से शुरू हो रहा। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन से व्यवस्थाएं करने का समय मिल गया था। प्रधानमंत्री के आह्वान पर पूरा देश एकजुट हुआ। यही वजह है कि कोरोना मप्र में आउट ऑफ कंट्रोल नहीं हुआ। समय रहते सभी प्रबंध कर लिए गए। इससे पहले स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव मोहम्मद सुलेमान ने टीकाकरण अभियान की तैयारियों की जानकारी दी।

हर शहर में एक शासकीय हॉस्पिटल आइडियल हो

मुख्यमंत्री ने राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के नई बिल्डिंग का शुभारंभ किया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को बेहतर बनाना सरकार की पहली प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि टीकाकरण के अभियान में 100% लक्ष्य हासिल करना है। लक्ष्य पूरे होंगे, तभी बच्चों को हम बेहतर भविष्य दे पाएंगे। उन्होंने कहा कि हर शहर में शासकीय हाॅस्पिटल आइडियल होना चाहिए। जिला अस्पतालों में निजी अस्पतालों की तरह सुविधाएं मिले, इसके प्रयास किए जाएं। हमारे पास संसाधनों की कमी नहीं है। आयुष्मान भारत से रजिस्टर्ड अस्पताल भी बेहतर होना जाहिए।

डॉक्टरों के खाली पदों को लेकर चिंता जाहिर
मुख्यमंत्री ने डॉक्टरों के खाली पदों को लेकर चिंता भी जाहिर की। उन्होंने कहा कि सरकार का प्रयास अस्पतालों में सेवाएं बेहतर करने का है, जिसमें डॉक्टरों के खाली पदों को भरने की दिशा में प्रक्रिया चल रही है। उन्होंने कहा कि सभी शासकीय अस्पतालों में डायलिसिस की सुविधा होनी चाहिए।

comments