Wednesday, January 20

IND vs AUS सिडनी टेस्ट:चौथे दिन भारत ने 2 विकेट गंवाकर 98 रन बनाए, जीत के लिए अभी भी 309 रन की जरूरत

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच सिडनी में तीसरा टेस्ट खेल जा रहा है। ऑस्ट्रेलिया ने टीम इंडिया को 407 रन का टारगेट दिया। जवाब में चौथे दिन का खेल खत्म होने तक भारत ने 2 विकेट पर 98 रन बना लिए हैं। जीत के लिए अभी भी 309 रन की जरूरत है। कप्तान अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा नाबाद हैं।

सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (SCG) पर अब तक 288 रन से ज्यादा चेज नहीं हुए हैं। ऑस्ट्रेलिया ने आखिरी बार 2006 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ चौथी पारी में 2 विकेट पर 288 रन बनाकर मैच जीता था।

बतौर ओपनर विदेश में रोहित की पहली फिफ्टी
बतौर ओपनर विदेश में पहली फिफ्टी लगाने के बाद रोहित शर्मा आउट हुए। उन्हें पैट कमिंस ने मिचेल स्टार्क के हाथों कैच कराया। रोहित ने 98 बॉल पर 52 रन की पारी खेली। यह उनकी ओवरऑल 11वीं फिफ्टी रही। उन्होंने पुजारा के साथ मिलकर तीसरे विकेट के लिए 21 रन की पार्टनरशिप की। दूसरी पारी में जोश हेजलवुड ने भारत को पहला झटका दिया। उन्होंने शुभमन गिल को 31 रन के निजी स्कोर पर आउट किया।

रोहित-शुभमन के बीच 71 रन की ओपनिंग पार्टनरशिप
रोहित और शुभमन ने लगातार दूसरी बार 71 रन की ओपनिंग पार्टनरशिप की। पहली पारी में भी दोनों ने 70 रन की पार्टनरशिप की थी। इससे पहले ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन ने दूसरी पारी 6 विकेट गंवाकर 312 रन पर घोषित कर दी। पहली पारी में 94 रन की लीड मिलाकर ऑस्ट्रेलिया ने 406 रन की बढ़त ली।

14 साल में चौथे इनिंग में पहली 50+ रन की ओपनिंग पार्टनरशिप
अपने देश से बाहर 14 साल में भारत की यह चौथे इनिंग में पहली 50+ रन पार्टनरशिप है। इससे पहले 2006 में बेस्टेयर में वेस्टइंडीज के खिलाफ वसीम जाफर और वीरेंद्र सहवाग ने 109 रन की पार्टनरशिप की थी। दूसरी पारी में दोनों ने 22.1 ओवर बल्लेबाजी की। वहीं, पहली पारी में दोनों ने 26.6 ओवर बल्लेबाजी की थी। 16 साल पहले टीम इंडिया के ओपनर्स ने 20 ओवर से ज्यादा बल्लेबाजी की थी। 2004/05 में सहवाग और गौतम गंभीर ने बेंगलुरु में पाकिस्तान के खिलाफ पहली पारी में 23.2 और दूसरी पारी में 23.4 ओवर बल्लेबाजी की थी।

2 साल बाद एक टेस्ट में दो 50+ रन की ओपनिंग पार्टनरशिप
यह दूसरी बार है जब रोहित और शुभमन ने भारत से बाहर एक टेस्ट में दो 50+ रन की। इससे पहले 2018 में ट्रेंट ब्रिज में शिखर धवन और लोकेश राहुल ने पहली पारी में 60 और दूसरी पारी में 60 रन की पार्टनरशिप की थी।

भारतीय पारी के 8वें ओवर में दो रिव्यू
भारत की दूसरी पारी का 8वां ओवर जोश हेजलवुड फेंक रहे थे। ओवर की दूसरी बॉल रोहित के पैड पर लगी। ऑस्ट्रेलिया के अपील करने पर अंपायर ने आउट करार दिया। इस के बाद रोहित ने DRS की मदद ली। विकेट मिसिंग होने के कारण अंपायर ने फैसला बदला और रोहित नॉटआउट करार दिए गए।
इसके बाद 8वें ओवर की चौथी बॉल पर ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों ने कैच आउट की अपील की। उस वक्त शुभमन स्ट्राइक पर थे। बॉल शुभमन को बीट करती हुई विकेटकीपर पेन के हाथों में गई। अंपायर के नॉटआउट देने पर पेन ने रिव्यू लिया। रिव्यू में बॉल और बैट में कोई संपर्क नहीं हुआ था और अंपायर का फैसला सही साबित हुआ।

लगातार दूसरे दिन सिराज पर नस्लीय टिप्पणी
सिडनी टेस्ट में लगातार दूसरे दिन मोहम्मद सिराज ने ऑस्ट्रेलियाई दर्शकों की ओर से नस्लीय टिप्पणी किए जाने की शिकायत की। सिराज ने कप्तान अजिंक्य रहाणे और बाकी प्लेयर्स के साथ मिलकर फील्ड अंपायर पॉल राफेल से इसकी शिकायत भी की। इसके बाद अंपायर ने मैच रेफरी और टीवी अंपायर से बातचीत कर पुलिस को बुलाया।

इस दौरान कुछ मिनट के लिए खेल को रोक भी दिया गया था। पुलिस ने 6 दर्शकों को स्टेडियम से बाहर किया। इसके बाद मैच को दोबारा चालू किया जा सका। शनिवार को भी टीम इंडिया के दो प्लेयर्स पर नस्लीय टिप्पणी का मामला सामने आया था।

न्यूज एजेंसी के मुताबिक, एक दर्शक ने जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद सिराज के खिलाफ अभद्र और नस्लीय कमेंट्स किए। BCCI ने इसकी शिकायत मैच रेफरी डेविड बून से की थी।

CA ने कहा- एक्शन लिया जाएगा
क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (CA) ने टीम इंडिया से माफी मांगी है। उन्होंने कहा कि नस्लीय टिप्पणी को लेकर हमारी जीरो टॉलरेंस पॉलिसी है। हम इस प्रकार की घटना को बिलकुल बर्दाश्त नहीं करेंगे और मामले पर एक्शन जरूर लिया जाएगा।

ग्रीन की पहली फिफ्टी
पारी घोषित करने से पहले कैमरून ग्रीन ने टेस्ट में पहली फिफ्टी लगाई। वे 84 रन बनाकर आउट हुए। उन्हें जसप्रीत बुमराह ने विकेटकीपर ऋद्धिमान साहा के हाथों कैच कराया। वहीं, टिम पेन 39 रन बनाकर नाबाद रहे।

रोहित ने टिम पेन का कैच छोड़ा
ऑस्ट्रेलियाई इनिंग्स के 75वें ओवर में रोहित शर्मा ने फर्स्ट स्लिप में पेन का कैच छोड़ दिया। जसप्रीत बुमराह की गुड लेंथ बॉल पेन के बैट का किनारा लेकर स्लिप में गई। इस लो कैच को रोहित पकड़ने में कामयाब नहीं हो सके। इस वक्त पेन 7 रन बनाकर बल्लेबाजी कर रहे थे।

स्मिथ के नाम अनोखा रिकॉर्ड
दूसरी पारी में स्मिथ ने टेस्ट करियर की 30वीं फिफ्टी लगाई। वे 81 रन बनाकर आउट हुए। रविचंद्रन अश्विन ने उन्हें सीरीज में तीसरी बार और कुल 5वीं बार अपना शिकार बनाया। इस दौरान स्मिथ ने एक अनोखा रिकॉर्ड अपने नाम किया। स्मिथ ने एक मैच में सबसे ज्यादा 10 बार शतक और अर्धशतक बनाया है। इस टेस्ट में पहली पारी में उन्होंने 131 रन बनाए थे।

कितनी बार एक टेस्ट में सेंचुरी और फिफ्टी लगाईबल्लेबाज
10स्टीव स्मिथ
9जैक कैलिस
8एलिस्टेयर कुक
7एलन बॉर्डर/सचिन तेंदुलकर/रिकी पोंटिंग/कुमार संगाकारा/विराट कोहली

स्मिथ ऑस्ट्रेलिया के 9वें हाईएस्ट रन स्कोरर
स्मिथ टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया के 9वें हाईएस्ट रन स्कोरर बन गए हैं। उन्होंने पूर्व क्रिकेटर डेविड बून को पीछे छोड़ दिया। स्मिथ ने दूसरी पारी में 55 रन बनाते ही यह उपलब्धि हासिल की। उन्होंने अब तक 76 टेस्ट में 7449 रन बनाए हैं। ऑस्ट्रेलिया के लिए सबसे ज्यादा रिकी पोंटिंग ने बनाए हैं। उन्होंने 168 टेस्ट में 13,378 रन बनाए।
स्मिथ-लाबुशेन के बीच 103 रन की पार्टनरशिप
इससे पहले लाबुशेन और स्मिथ ने तीसरे विकेट के लिए 224 बॉल पर 103 रन की पार्टनरशिप की। लाबुशेन ने टेस्ट करियर की 10वीं फिफ्टी लगाई। वे 118 बॉल पर 73 रन बनाकर आउट हुए। सैनी ने उन्हें ऋद्धिमान साहा के हाथों कैच कराया। लाबुशेन ने पिछली पारी में भी 91 रन बनाए थे। सैनी ने इसके बाद मैथ्यू वेड को भी पवेलियन भेजा। वेड कुछ खास नहीं कर सके और 4 रन बनाकर आउट हुए। सैनी अपने डेब्यू टेस्ट में अब तक 4 विकेट ले चुके हैं। पहली पारी में भी उन्होंने 2 विकेट लिए थे

15 साल बाद एक टेस्ट में दो 100+ रन की पार्टनरशिप
स्मिथ और लाबुशेन भारत के खिलाफ एक ही टेस्ट में दो 100+ रन की साझेदारी करने वाली तीसरी जोड़ी है। इससे पहले 2005/06 में पाकिस्तान के युनुस खान और मोहम्मद यूसुफ ने फैसलाबाद में खेले गए टेस्ट में पहली और दूसरी पारी में 100+ रन की पार्टनरशिप की थी। वहीं, 1982 में श्रीलंका के रॉय ल्यूक डियास और दिलिप मेंडिस ने 1982 में चेन्नई में खेले गए टेस्ट में दोनों पारियों में 100+ रन की पार्टनरशिप की थी। संयोग की बात तो यह है कि यह तीनों रिकॉर्ड तीसरे विकेट की पार्टनरशिप में बने।

स्मिथ ने तीसरे टेस्ट की दोनों पारियों में फिफ्टी लगाईं
स्मिथ ने अब तक 11 बार दोनों पारियों में 50+ स्कोर किए हैं। ऐसा करने वाले वे दुनिया के 5वें बैट्समैन हैं। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व क्रिकेटर रिकी पोंटिंग ने सबसे ज्यादा 15 बार दोनों पारियों में 50+ रन स्कोर किया है। स्मिथ ने तीसरे टेस्ट से पहले इस सीरीज में 1, 1*, 0, 8 रन की पारी खेली थी।

कितनी बार दोनों पारियों में 50+ रनबल्लेबाज
15रिकी पोंटिंग
14जैक कैलिस/एलिस्टेयर कुक
13एलन बॉर्डर
12कुमार संगाकारा
11इंजमाम उल हक/शिवनारायण चंद्रपॉल/स्टीव स्मिथ

मुश्किल में टीम इंडिया, जडेजा की उंगली में फ्रैक्चर
ऑलराउंडर रविंद्र जडेजा के बाएं हाथ के अंगूठे में फ्रैक्चर है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक वे इस टेस्ट में बल्लेबाजी करने नहीं आएंगे। इसके साथ ही उनके 15 जनवरी से ब्रिस्बेन में चौथे और अंतिम टेस्ट से बाहर होने की भी संभावना है। हालांकि, टीम इंडिया के फैंस के लिए एक अच्छी खबर भी है। ऋषभ पंत की कोहनी की चोट गंभीर नहीं है और वे भारत की दूसरी पारी में बल्लेबाजी करने आ सकते हैं। तीसरे दिन ऑस्ट्रेलियाई पेसरों की शॉर्ट बॉल पर दोनों चोटिल हो गए थे। इसके बाद दोनों ने स्कैन भी करवाया था।

अश्विन ने वॉर्नर को रिकॉर्ड 10वीं बार आउट किया
इससे पहले दूसरे दिन ऑस्ट्रेलिया ने दूसरी पारी में 2 विकेट खोए। रविचंद्रन अश्विन ने डेविड वॉर्नर को LBW आउट किया। उन्होंने 23 बॉल पर 19 रन की पारी खेली। अश्विन ने वॉर्नर को टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा 10 बार आउट किया है। इसके अलावा उन्होंने इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेटर एलिस्टेयर कुक को 9 बार आउट किया। मोहम्मद सिराज ने विल पुकोव्स्की को आउट कर ऑस्ट्रेलिया को पहला झटका

पंत की जगह साहा कर रहे विकेटकीपिंग
ऋषभ पंत की जगह ऋद्धिमान साहा सब्सटिट्यूट फील्डर के तौर पर विकेटकीपिंग कर रहे हैं। भारतीय पारी के दौरान पंत के हाथ (एल्बो) में चोट लगी थी। वहीं, रविंद्र जडेजा को भी बैटिंग के दौरान बाएं अंगूठे में चोट लगी थी। दोनों को स्कैन के लिए अस्पताल ले जाया गया।
टीम इंडिया ने 148 रन पर 8 विकेट गंवाए
भारतीय टीम पहली पारी में 244 रन पर सिमट गई थी। भारत ने तीसरे दिन 96 रन पर 2 विकेट से आगे खेलना शुरू किया था। यानी तीसरे दिन टीम ने 148 रन बनाने में बाकी 8 विकेट गंवा दिए। चेतेश्वर पुजारा, पंत और रविंद्र जडेजा के अलावा कोई भी बल्लेबाज विकेट पर नहीं टिक सका। 4 बल्लेबाज तो दहाई का आंकड़ा भी नहीं छू सके। दूसरे दिन भारत ने अपने दोनों ओपनर रोहित शर्मा और शुभमन गिल को गंवा दिया था।
12 साल बाद भारत के 3 बल्लेबाज एक पारी में रन आउट
भारत की पहली पारी में हनुमा विहारी, रविचंद्रन अश्विन और बुमराह रन आउट हुए। 12 साल बाद एक पारी में 3 भारतीय बल्लेबाज रन आउट हुए। इससे पहले 2008-09 में इंग्लैंड के खिलाफ मोहाली में एक पारी में भारत के 3 बल्लेबाज रन आउट हुए थे। 2008-09 में वीरेंद्र सहवाग, वीवीएस लक्ष्मण और युवराज सिंह रन आउट हुए थे। यह 7वीं बार है जब एक पारी में भारत के 3 या इससे ज्यादा बल्लेबाज रन आउट हुए हैं।
3 टेस्ट में चौथी बार कमिंस का शिकार बने पुजारा
पैट कमिंस ने चेतेश्वर पुजारा को विकेटकीपर टिम पेन के हाथों कैच कराया। वे 176 बॉल पर 50 रन बनाकर आउट हुए। कमिंस ने सीरीज की 5 पारियों में चौथी बार पुजारा को आउट किया। वहीं, ऋषभ पंत 67 बॉल पर 36 रन बनाकर आउट हुए। उन्हें जोश हेजलवुड ने डेविड वॉर्नर के हाथों कैच कराया। ऑस्ट्रेलिया की ओर से कमिंस ने 4, हेजलवुड ने 2 और स्टार्क ने 1 विकेट लिए। पुजारा ने तीसरे दिन टेस्ट करियर की 25वीं फिफ्टी लगाई। पुजारा के करियर की यह सबसे धीमी फिफ्टी है। उन्होंने इसके लिए 174 गेंदें खेलीं।
दूसरे दिन जडेजा ने ऑस्ट्रेलिया को 4 झटके दिए
जडेजा ने ऑस्ट्रेलिया को 4 बड़े झटके दिए। पहले मार्नस लाबुशेन को 91 रन पर अजिंक्य रहाणे के हाथों कैच आउट कराया। उन्होंने टेस्ट करियर की 9वीं फिफ्टी लगाई। साथ ही स्मिथ के साथ तीसरे विकेट के लिए 100 रन की पार्टनरशिप भी की। जडेजा ने मैथ्यू वेड (13) को जसप्रीत बुमराह के हाथों कैच आउट कराया। इसके बाद पैट कमिंस और नाथन लियोन को खाता भी नहीं खोलने दिया। कमिंस बोल्ड हुए, जबकि लियोन को LBW किया। भारत ने पहली पारी में ऑस्ट्रेलिया को 338 रन पर समेट दिया।

सैनी ने डेब्यू टेस्ट में 2 विकेट झटके
तेज गेंदबाज नवदीप सैनी ने डेब्यू टेस्ट में दो विकेट लिए। उन्होंने ओपनर विल पुकोव्स्की (62) को LBW किया। इसके बाद मिचेल स्टार्क (24) को शुभमन के हाथों कैच आउट कराया। वहीं, जसप्रीत बुमराह ने 2 विकेट लेकर ऑस्ट्रेलियाई मिडिल ऑर्डर को धराशायी किया।

स्टीव ने ग्रीम स्मिथ और एलन बॉर्डर की बराबरी की
ऑस्ट्रेलिया के स्टीव स्मिथ ने टेस्ट करियर का 27वां शतक जड़ा। इसी के साथ उन्होंने वेस्टइंडीज के लीजेंड सर गैरी सोबर्स (26) को पीछे छोड़ दिया है। स्टीव 226 बॉल पर 131 रन बनाकर जडेजा के हाथों रनआउट हुए।

comments