Sunday, November 29

ब्रह्मांड नायक के चरणों में राष्ट्र नायक

आज भारत के इतिहास में एक नया अध्याय जुड़ गया । ५०० बर्ष के लम्बे संघर्ष के बाद आखिर सनातन का सपना पूरा हो गया । आज भारत में हिंदू को हिंदू होने का अहसास हुआ हें । विगत कई बर्षो से इस बात पर आलोचना हो रही थी की राम मंदिर कव बनायेंगे । तारीख कव बतायेंगे । इन सव बातों पर विराम लग गया ।

आज राम मंदिर के भूमि पूजन के पहले देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जैसे ही भगवान श्री राम के अस्थाई मंदिर में पहुंचे तो साष्टांग प्रणाम करते नजर आये ।उनके इस आस्था भरे प्रणाम ने पूरी दुनिया को सनातन परम्परा से अवगत कराया ।इतना ही नहीं भारत के लोगों को भी सोचने पर मजबूर कर दिया कि आप कितने.भी बढे औहदे पर पहुंच जाओ पर अपने संस्कार ओर संस्कृति को कभी मत भूलो ।साथ ही सरलता ओर सहजता हर स्थिति में बनाए रखना चाहिए ।

राष्ट्र नायक का ब्रह्मांड नायक को साष्टांग प्रणाम ने दुनिया को आज नया पाठ पढा दिया ।बैसै भी इस घडी को जिस जिस ने देखा वह भी अपने आपको धन्य मान रहा है । इतना ही नहीं जो ब्राह्मण इस भूमि पूजन को करा रहे थे वो सभी भी अपनेआप को सौभाग्यशाली समझ रहे है।

comments