Monday, November 30

बच्चों की जिद पर मां-बेटी दीवार फांदकर सब्जी तोड़ने गई थीं, पड़ोसी ने वहां करंट छोड़ा था, दोनों की मौत

रांची. झारखंड में तंगी के कारण सब्जी चुराने के लिए मजबूर हुई एक मां और उसकी 9 साल की बेटी की करंट लगने से मौत हो गई। पड़ोसी ने अपने घर की सुरक्षा के लिए दीवार पर करंट वाला तार बिछाया था। बताया जा रहा है कि महिला का पति लॉकडाउन में 3 महीने पहले बेरोजगार हो गया था। उसके बच्चे चावल खाकर ऊब गए थे और सब्जी खाने की जिद कर रह थे। 

जिस निर्माणाधीन मकान में यह हादसा हुआ वह झारखंड पुलिस के सिपाही कृष्णा कुजूर का है। उनका कहना है कि घर में सरिया-रेत चोरी हो रही थी, इसलिए उन्होंने बाउंड्रीवॉल पर तार बिछाकर उसमें करंट छोड़ दिया था। घटना सोमवार की है। अगले दिन सुबह कृष्णा की पत्नी यहां पहुंची तब हादसे का खुलासा हुआ।

महेश्वरी देवी (40) का पति जतरू राम लॉकडाउन के कारण 3 महीने पहले बेरोजगार हो गया था। बच्चों की जिद पर महेश्वरी पड़ोसी के बाड़े में लगी सब्जी चोरी करने के लिए मजबूर हो गई। उसकी बेटी संगीता ने भी साथ चलने की जिद की। दोनों दीवार फांदकर अंदर गईं। एक छोटा सा कद्दू और तीन तोरी तोड़कर लौट रही थीं, तभी दीवार पर लगे बिजली के तार की चपेट में आ गईं। 

दो बच्चों के सिर से मां का आंचल छिन गया

महेश्वरी के दो बेटे हैं। 5 साल का बिरसा और 4 साल का झालो। दोनों को पता भी नहीं है कि उनकी मां और बहन की मौत हो गई है। जतरू ने बताया कि उसकी पत्नी भी मजदूरी करती थी। लॉकडाउन में काम नहीं मिल रहा था, इसलिए घर में एक पैसा नहीं था। पत्नी-बेटी कब घर से निकलीं, उसे पता नहीं चला। सुबह शोर हुआ, तब उसे पता चला। इस घटना से गांववालों में गुस्सा है। उनका कहना है कि बाउंड्रीवाल में करंट वाला तार क्यों बिछाया गया था?

comments