Tuesday, September 29

Month: June 2020

राष्ट्रवाद एक संस्कार जो मात्रभूमि से प्रेम करने से ही आता है।
Uncategorized, देश विदेश, भोपाल संभाग, राजधानी समाचार, राज्य समाचार, संपादकीय

राष्ट्रवाद एक संस्कार जो मात्रभूमि से प्रेम करने से ही आता है।

भले ही हम लाख झगडे कर पर बुरे वक्त मे साथ आ ही जाते है ।इसी तरह देश की राजनैतिक पार्टियों में भाले ही सत्ता के लिए खींचतान चलती हो पर देश की बात आती है तव सभी पार्टियां एक साथ आ जाती है ।आखिर दिल है हिंदुस्तानी जो अपनी माटी अपने वतन के लिए मचलने लगता है ।पर इसबार चीन से लद्दाख में युद्ध सी स्थिति के दौरान जव देश की सभी राजनैतिक पार्टियां प्रधानमंत्री मोदीजी के साथ दिखाई दे रही है उस समय देश की सवसे पुरानी पार्टी कांग्रेस का केन्द्र सरकार को निशाना बनाना कहीं से भी तर्कसंगत नजर नहीं आ रहा है इससे तो ऐसा लग रहा है देश पर राज करना अलग बात है ओर देशप्रेम अलग । ऐसा पहली बार हो रहा है जव संकट के समय एक राष्ट्रीय पार्टी ऐसा व्यवहार कर रही है इस समय तो कंधे से कंधा मिलाकर चलने का समय था ।देश ही नहीं पूरी दुनिया को यह संदेश देने का समय था पर लगता हझ साठ सालों तक सत्ता पर काबिज रहनेवाली कांग्रे...
वर्धन पुरी ने एक प्रेरक संदेश शेयर करते हुए  ‘द ग्रेट डिक्टेटर ’ से चार्ली चैपलिन के किरदार को प्रदर्शित करते हुए खुद का एक वीडियो शेयर किया।
फोटो गैलरी, लाइफ स्टाइल

वर्धन पुरी ने एक प्रेरक संदेश शेयर करते हुए ‘द ग्रेट डिक्टेटर ’ से चार्ली चैपलिन के किरदार को प्रदर्शित करते हुए खुद का एक वीडियो शेयर किया।

इस वक्त हम दुनिया के सबसे कठिन दौर से गुजर रहे हैं , इस समय तनाव बहुत अधिक है और भविष्य किसी को नज़र नहीं आ रहा है। कभी-कभी हमारे पास खुद को अभिव्यक्त करने के लिए एकमात्र कला का माध्यम ही विकल्प होता है, और ठीक यही वर्धन पुरी ने किया उभरते हुए स्टार ने फिल्म 'द ग्रेट डिक्टेटर' से चार्ली चैपलिन के एक दृश्य पर पुन: एक्ट करते हुए खुद का एक वीडियो इंस्टाग्राम पर पोस्ट किया। वर्धन ने अपने वीडियो में अडोल्फ हिटलर पर आधारित चैपलिन के चरित्र, एडेनोइड हेन्काइल के चरित्र का वर्णन किया। वर्धन ने इस वीडियो को इस कैप्शन के साथ शेयर किया "दुनिया और दुनिया के लोगों को पहले से अब कहीं ज्यादा इसे सुनने की जरूरत है। यह प्रासंगिक है। यह जरूरी है।" आपके लिए चैप्लिन के 'द ग्रेट डिक्टेटर' (1940) से मेरा एक एक्ट प्रस्तुत किया, जिसमें महापुरुष ने हेनकिल नाम का एक किरदार निभाया था, जो एडोल्फ हिटलर के ऊपर तैयार ...
रूपहले पर्दे के बदरंग चेहरों का खुलासा कव करेगी महाराष्ट्र पुलिस
भोपाल संभाग, राजधानी समाचार, राज्य समाचार, लाइफ स्टाइल, संपादकीय

रूपहले पर्दे के बदरंग चेहरों का खुलासा कव करेगी महाराष्ट्र पुलिस

सुशांत सिंह की मौत भी कहीं पहेली वनकर न रह जाये ।जिस तरह से जांच चल रही है उसकी शिथिलता को देखकर लग रहा है की यह मामला भी अन्य मामलों की तरह ही किसी दबाव में न दव जायें। फिल्म इंडस्ट्री मे अभी तक न जाने कितने अपराध हो गये पर सव के सव रहस्य बनेंं हुए है दिव्य भारती, हो गुलशन कुमार, श्री देवी ,सुशांत सिंह की सेक्रेटरी के अलावा सुशांत सिंह स्वयं की मौत कु जांच बिल्कुल काले हिरण की हत्या जैसी चल रही. है । बढे ओर रसूखदार लोगों से सम्बंधों के चलते फिल्म इंडस्ट्री के अत्याचार की कहानी जगजाहिर है पर मजबूर ओर बगैर रसूख बालों के लिए यह अभिशाप है उन पर होनेवाले अत्याचारों के खिलाफ कोई कलाकार नहीं बोलता । यह वही फिल्मी कलाकार है जो देश के तमाम मुद्दों पर तख्ती लेकर न्याय की मांग करते है ओर जव किसी हिंदू कलाकार को न्याय चाहिए होता है तव शांत होकर बैठ जाते है। आज साफ साफ उन कलाका...
राजीव गांधी फांउडेशन का सच देश को बताना चाहिए
Uncategorized, देश विदेश, भोपाल संभाग, राजधानी समाचार, राज्य समाचार, संपादकीय

राजीव गांधी फांउडेशन का सच देश को बताना चाहिए

आखिर ये क्या चल रहा है देश मै , इतने बढे स्तार पर घालमेल, आखिर कितना बढा षड्यंत्र , जिस तरह की खबरें आ रही है उससे तो ऐसा लगता है, देश के साथ बहुत बढा धोखा हो रहा है ।जिन्हें हम अपना कर्णधार बनाते है वह देश को लूटने के लिए क्या क्या तरीकें निकालते है एक ओर हम पाई पाई के लिए तरसते है वहीं करोड़ों के लेनदेन ऐसे हो रहे है ,सच में कहां से आती है इतनी हिम्मत किसी तरह का कोई डर नहीं कोई भय नहीं ।एक आम आदमी जरा सी गलती करने पल जेल की हवा खाने के लिए भेज दिया जाता है ।ओर ये राजनैतिज्ञ लोग जो आम जनता की मेहनत की कमाई पर मौज फरमाते है ओर ऊपर से आंखें दिखाते है ।दुर्भाग्य जिन्हें जेल मै होना चाहिए वो संसद मे कानून बनाते है। राजीव गांधी फांउडेशन आखिर क्या है इसका क्या काम है ।किससे पैसा लेता है। ओर किसको देता है। आखिर इसकी जरूरत क्यों पढी क्या सरकार ने पैसे क्यों डाले ऐसे कई प्रश्न ...
मुंबई पुलिस की जांच पर निर्भर है सुशांत सिंह को न्याय..
भोपाल संभाग, राजधानी समाचार, राज्य समाचार, संपादकीय, हादसा

मुंबई पुलिस की जांच पर निर्भर है सुशांत सिंह को न्याय..

सुशांत सिंह की असमय मौत ने उनके फैंस के अलावा देश के नागरिकों को सोचने पर मजबूर कर दिया है ।जिस रंग मंच पर सिद्दांतों ओर जिंदगी जीने की प्रेरणा देनेवाले कालाकर यदि इस तरह मौत को गले लगायेंगे तो व्यर्थ है रंगमंच का यह अभिनय। आत्महत्याओं का यह खेल फिल्म इंडस्ट्री का रहस्य बनता जा रहा ।आखिर ऐसा क्या है फिल्मी कलाकार असमय मौत को गले लगा रहे है । मुंबई पुलिस के ऊपर अव सबकी निगाह टिंकी है । अव इस केस में मुंबई पुलिस कि कार्यप्रणाली की परख भी होगी अभी तक की हत्याओं में आम नागरिक की कोई रुचि नहीं रही पर अव आम नागरिकों का ध्यान पूरा इस केस पर लगा है । सोशल मीडिया मे निरंतर सुशांत सिंह की मौत कि खबरें सुर्खियां वनी हुई है । अभी तक की मौतों ओर सुशांत सिंह की मौत में सवसे बढा अंतर यह था किसी ने किसी फर आरोप नहीं लगाये थे पर यहां संदेह व्यक्त किया जा रहा है ।जिसमें सलमान खान, शाहरु...
कांग्रेस को सच देश को  बताना चाहिए
भोपाल संभाग, राजधानी समाचार, राज्य समाचार, संपादकीय

कांग्रेस को सच देश को बताना चाहिए

आखिर ये कैंसे सम्भव है एक प्रजातांत्रिक देश में कोई पार्टी स्तर पर किसी अन्य देश से समझौता कर ले ।जिस तरह के फोटो सामने आ रहे है उसमे उस समय के पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी चीन के साथ किन्हीं दस्तावेजों पर हस्ताक्षर कर रहे है जिसके पीछे आंनद शर्मा भी दिखाई दे रहे है । आंनद शर्मा को भी आगे आकर पूरे मामले पर देश को बताना चाहिए । भाजपा ने कांग्रेस को लेकर जो खुलासा किया है वह कोई छोटी बात नहीं है यह बहुत बढा मामला है इसकी निष्पक्ष जांच संसद की समीति से कराना चाहिए जिससे किसी तरह का राजनैतिक आरोप में यह मामला न दव जाये । सबसे पहले तो कांग्रेस को अपने से सामने आकर जांच की मांग करना चाहिए।जिससे देश को सच्चाई पता चल सके। ओर राजीव गांधी फाउंडेशन मे किन किन लोगों से पैसा लिया है ओर उस पैसे का उपयोग कहां किया गया ये जानने का हक भारत के हर नागरिक को है। ओर इसकी जानकारी सिर्फ कांग्रेसी ही दे ...
कहीं रहस्य न वन जाये सुशांत की मौत..
Uncategorized, देश विदेश, भोपाल संभाग, राज्य समाचार, लाइफ स्टाइल, संपादकीय, हादसा

कहीं रहस्य न वन जाये सुशांत की मौत..

फिल्मी कलाकार सुशांत सिंह की मौत भी रहस्य न वन जाये ऐसी आशंका व्यक्त की जाने लगी है ।जिस तरह दिव्या भारती समित कई हिंदू फिल्मी हीरोइनों की मौत ओर कई का कैरियर खत्म करने की साजिश सुनाई पढ रही है उसे देखकर तो ऐसा ही लगता है । अव सवसे ज्यादा जिम्मेदारी तो मुंबई पुलिस की है वह कितनी निष्पक्षता से जांच करती है य नहीं क्योंकि पुलिस जांच के तथ्य के आधार पर केस को न्याय संम्भव होता है अभी तक के मामलों में काले हिरण को न्याय नहीं मिला ,फुटपाथ पर सोये बच्चों को न्याय नहीं मिला। सुशांत सिंह की मौत ने रुपहले पर्दे का बदरंग रुप सामने ला दिया है । अभी तक उन सुपरस्टार्स कहे जानेवाले स्टार्स पर किसी की हिम्मत नहीं थी उंगली उठाने की ,पर अव एक एककर उनके द्वारा प्रताड़ित कलाकार आकर वोलने लगा है पर कव तक हमारे यहां कानून की लचर व्यवस्था ने अच्छे अच्छे लोगों के हौंसले पस्त कर दिये है । ऐसे में स...
स्वदेशी को सम्मान नहीं ….आत्मनिर्भर भारत
देश विदेश, राजधानी समाचार, राज्य समाचार, शिक्षा-ज्ञान, संपादकीय

स्वदेशी को सम्मान नहीं ….आत्मनिर्भर भारत

पूरा विश्व असमंजस की स्थिति में है किसी को भी कहीं से आशा की किरण दिखाई नहीं दे रही विश्व के सारे देश एक दूसरे पर निगाह टिकाए हुये है ।कोरोना की वैक्सीन के लिए ऐसें में भारत की ओर से एक आशा की किरण निकल कर आई है पर सदियों से गुलामी की मानसिकता पाले देश को आत्मनिर्भरता कहां पसंद है। हम बात कर रहे है बाबा रामदेव जिसने स्वदेशी का एक बढा बाजार खाडा कर दिया योग को पूरी दुनिया मे सम्मान दिलवाया आयुर्वेद को पुनः गौरव दिलवाया ओर अव इस संकट की घडी में कोरोना से निजात दिलाने पूरी प्रमाणिक्ता के साथ आयुर्वेदिक दवा लाकर दवा माफियाओं को बैचेन कर दिया। जो काम देश की सरकार को करना चाहिए था वो काम एक बाबा को करना पढ रहा है।उसमें भी अडंगेबाजी ने सोचने पर मजबूर कर दिया है। एक ओर देश के प्रधानमंत्री जी आत्मनिर्भर बनने की बात कर रहे है तो दूसरी ओर उन्हीं की सरकार के मंत्रालय अडंगेबाजी करने से बाज न...
चीन को लेकर धैर्य क्यों नहीं रख पा रही कांग्रेस..
देश विदेश, भोपाल संभाग, राजधानी समाचार, राज्य समाचार, संपादकीय

चीन को लेकर धैर्य क्यों नहीं रख पा रही कांग्रेस..

देश इस समय दो संकट का सामना कर रहा है एक तो कोरोना ओर दूसरा चीन द्वारा घुसपैठ के बाद उपजे तनाव इन दोनों ही मुद्दे पर कांग्रेस का व्यवहार सकारात्मक नहीं है । यह सव जानते है कि चीन की ओर से हमारी सीमाएं खुली हुई हैं ओर अक्सर चीन उकसाने के उद्देश्य से हमारी सीमा में घुस आता है । इतिहास कि गलतियों का परिणाम हमें झेलना पढ रहा है ।बताया जाता है चीन का सीमा पर इतना दबाव रहता है कि वहां हम अपने क्षेत्र में किसी तरह का निर्माण भी नहीं कर सकते । पर जव से मोदी सरकार आई है तव से पूरे क्षेत्र में निर्माण कार्य बढी तेजी से चल रहे है उसी से चीन को तकलीफ है ओर वो काम रोकने का दबाव बना रहा है ।बताया जाता है की चीन अपनी सीमा से हमारी सीमा की ओर घुस आया है जव उससे वापिस जाने को कहा तो आंखें दिखाने लगा जिससे तनाव कि स्थिति निर्मित हो गई।ओर इस तनाव में हमारे बीस सैनिक भी शहीद हो गये हालांकि हमारे सैनि...
क्या तख्तापलट कर पायेगी, सुशांत की मौत ?
Uncategorized, देश विदेश, भोपाल संभाग, राजधानी समाचार, राज्य समाचार, लाइफ स्टाइल, संपादकीय

क्या तख्तापलट कर पायेगी, सुशांत की मौत ?

सुशांत सिंह की मौत ने फिल्म इंडस्ट्री को हिला कर रख दिया है । वर्षों से चले आ रहे माफिया राज की खबरें अभी आम लोगों से दूर थी, पर सोशल मीडिया के चलते अव ये खबरें आम लोगों तक पहुंचने लगी है ।भावनात्मक रूपहले पर्दे पर दिखाई देने बाले कलाकारों के चरित्र उजागर होने लगे है फिल्म इंडस्ट्री में ऐसा लगता था , कि खान परिवार के अलावा दूसरा कोई है ही नहीं । दुबई के पैसे लगे होने की खबरें भी आती रहती थीं । इतना ही नहीं पैसों के लिए फिल्मी कलाकार दुबई नाचने तक जाते है । पर अव ऐसा लग रहा है । फिल्म इंडस्ट्री में तख्तापलट होने को है । सुशांत सिंह की मौत के बाद सभ्य कही जानेवाली इस सोसायटी में असभ्यता की पोल खुल रही है । कंगना रणावत ने जिस तरह मौर्चा खोला है, उससे सव नग्गे होते जा रहे है ।सलमान खान शाहरुख खान करण जौहर एकता कपूर जैसे कई फिल्म इंडस्ट्री के लोग बेनकाब होते नजर आ रहे है। आज पूरा दे...