Sunday, November 29

श्रीराम मंदिर का काम शुरू….

आज की तारीख एक बार ओर इतिहास में दर्ज हो गई ,ओर यह तारीख ऐसे ही दर्ज नहीं हुई आज सनातन हिंदुओं के लिए बढे सौभाग्य का दिन है ।भगवान श्री राम के मंदिर का निर्माण आज से शुरू हो गया ।

देश की राजनीति की दिशा बदलने बाले इस अभियान ने बहुत कुछ सहा ओर बहुत कुछ खोया ओर ना जाने कितने लोग इस अभियान के लिए नींव का पत्थर वन गये ,न जाने कितने संतो ने अपने प्राणों की आहूति दे दी ,धन्य है वो आत्माएं जिन्हें इस पुण्य कार्य के निमित्त बने।

याद आ जाता है वो मुलायम सिंह के दमनचक्र जिसमें हजारों निरापराध संतों को गोलियों से भून दिया गया था। उस समय समाचार का साधन तो सिर्फ समाचार पत्र ही थे य दूरदर्शन की न्यूज । पर उस समय एक बीडीओ कैसेट आया था , जिसका नाम था कालचक्र उस कैसेट को देखकर रूह कांप जाती थी किस तरह से मुलायम सिंह ने , रामभक्तों पर गोलियां चलवाई थी । सडकों पर जहां तहां लाशें ही लाशें दिखाई दे रही थी। इसलिए ये लिखना पढा की बहुत सहा है ,सनातन ने ।

इसके बाद का सिलसिला तो सभी को पता है पर आज सचमें एक बहुत बढा दिन है ,जव भगवान श्रीराम का मंदिर का काम शुरू हो गया है ।इस दिन को इतिहास हमेशा याद रखेगा। आज की तारीख तो देश के उन लोगों के लिए समर्पित है जो कहते थे ,हम तारीख नहीं बतायेंगे।

रामलला हम आयेंगे ,मंदिर वहीं बनायेंगे ने पूरे देश में एक जन आंदोलन खडा कर दिया था आज के दिन रविन्द्र जैन जी को भी याद करने का है जिनके स्वर रामजी की सेना चली… हर हर महादेव..से मानों हिन्दुओं में एक नई उर्जा का संचार हो जाता था ।

comments