Saturday, October 31

‘इंटरनेशनल डे ऑफ फैमिलीज’ के मौके पर सोनी सब के कलाकारों ने अपने परिवारों और रिश्‍तेदारों को किया याद

देबीना बनर्जी (सोनी सब के ‘अलादीन:नाम तो सुना होगा की मल्लिका)
‘’यह हमारे परिवार का योगदान है, जिसकी मदद से जीवन में हम आगे बढ़ पाये हैं’’
एंटरटेनमेन्‍ट इंडस्‍ट्री में सफलता के पूरे सफर का श्रेय मेरे पेरेंट्स को जाता है। मुझे ऐसा लगता है कि कोई भी
व्‍यक्ति जो काम करता है वह उसकी अपनी मेहनत और उनके परिवारवालों का सपोर्ट होता है। बचपन से ही
मेरे पेरेंट्स ने मुझे सभी एक्‍स्‍ट्रा-कैरीकुलर एक्टिविटीज में हिस्‍सा दिलाया, जोकि मुझे लगता है कि उनकी
प्रेरणा के बिना मैं नहीं कर सकती थी। शुरुआत से ही मेरे परिवार ने काफी योगदान दिया है और कड़ी मेहनत
की है, जिसकी वजह से मैं आज इस मुकाम पर हूं। मेरे और मेरे भाई के सफल भविष्‍य को बनाने में मेरी मॉम
और मेरे डैड दोनों ने ही काफी तकलीफें झेली है और त्‍याग किया है। इसके साथ ही मेरे परिवार ने मुझे
मुसीबतों से बचाकर रखा।
मुझे ऐसा लगता है कि सेट पर हमारे को-स्‍टार्स और पूरी प्रोडक्‍शन टीम हमारा परिवार बन गये हैं क्‍योंकि
हम उनके साथ काफी सारा वक्‍त बिताते हैं। ‘चिड़िया घर’ की शूटिंग के दौरान शो के कलाकार तथा प्रोडक्‍शन
टीम मेरे अपने परिवार जैसे हो गये थे। कहने का मतलब है, सोनी सब परिवार के सदस्‍य के रूप में मैंने अपने
कॅरियर की दूसरी पारी की शुरुआत सोनी सब के साथ की। इस चैनल ने मुझे एक ऐसा किरदार निभाने का
मौका दिया है, जिसके बारे में लोगों ने कल्‍पना भी नही की थी कि मैं इसे निभाऊंगी। उस समय से ही सोनी
सब मेरी ताकत रहा है और मेरे घर जैसा है। मैंने सोनी सब पर कुछ शोज़ किये हैं और जिस तरह से उन्‍होंने
अलग-अलग किरदारों के लिये मुझ पर भरोसा जताया है उससे एक कलाकार के तौर पर मेरा हौसला बढ़ा है।
अभी भी मैं ‘अलादीन:नाम तो सुना होगा’ में एक खतरनाक खलनायिका मल्लिका की भूमिका निभा रही हूं।
यह उनका भरोसा है कि उन्‍होंने मुझे इतनी मुश्किल और एक बार फिर बिलकुल ही अलग तरह की भूमिका दी
है, जोकि अब तक मैं सोनी सब पर निभाती आयी हूं। सोनी सब परिवार की छत्रछाया में मैं हमेशा ही बेहतर
हुई हूं।
अपने सभी फैन्‍स तथा ‘अलादीन:नाम तो सुना होगा’ के सभी दर्शकों से मैं कहना चाहूंगी कि भले ही हम एक
मुश्किल स्थ्‍िाति में हैं, लेकिन हम सबको यह याद रखना चाहिये कि हमारी जिंदगी एक बार फिर तेज रफ्तार
में भागने लगेगी लेकिन हमें अपने परिवार के लिये थोड़ा वक्‍त जरूर निकालना चाहिये। इसलिये मैं सबसे
कहना चाहूंगी कि इन दिनों को जी-भर जियें और परिवार के तौर पर बेहतरीन यादें संजोकर रखें। अपने
करीबियों के साथ इन दिनों का आनंद लेते हुए, सोनी सब के साथ बने रहें, आपके लिये कुछ खास आने वाला है।
कृष्‍णा भारद्वाज (सोनी सब के ‘तेनाली रामा’ के पंडित रामा कृष्‍णा)
‘’परिवार एक स्‍तंभ की तरह होता है जोकि मुश्किल समय में आपको थामे रखता है’’
‘इंटरनेशनल डे ऑफ फैमिलीज़’ के बारे में बात करते हुए कृष्‍णा भारद्वाज कहते हैं, ‘’एक्टिंग की दुनिया में मेरा
सफर मेरे परिवार की वजह से शुरू हुआ। मेरे डैड ही थे जिन्‍होंने मुझे अपना पहला ऑडिशन देने के लिये मुझे
भेजा था। वे मुझे इससे जुड़े सभी ऑडिशन देने के लिये भेजते थे और मेरी मां उन सालों में मेरे साथ एक मजबूत
स्‍तंभ की तरह खड़ी रहीं। एक एक्‍टर के लिये, उसके विस्‍तृत परिवार में को-स्‍टार्स, डायरेक्‍टर्स, प्रोडक्‍शन
टीम भी उनके सफर को आकार देने में उतने ही महत्‍वपूर्ण होते हैं।

सोनी सब एक ऐसा चैनल है, जिसे पूरा परिवार एक साथ मिलकर देख सकता है। इस चैनल के कंटेंट और
कलाकार इसे पूरे परिवार के साथ एक साथ मिलकर देखने के लिये उपयुक्‍त बनाते हैं। अभी भले ही मैं अपने
परिवार से दूर हूं लेकिन मैं अपने आपको खुशकिस्‍मत मानता हूं कि मुझे सोनी सब परिवार का हिस्‍सा बनने
और दर्शकों से इतना प्‍यार पाने का मौका मिला । ‘तेनाली रामा’ ने मुझे वो सबकुछ दिया जो मैं जीवन में
चाहता था और यह सबकुछ सोनी सब तथा दर्शकों की वजह से मुमकिन हो पाया है।‘’
देव जोशी (सोनी सब के ‘बालवीर रिटर्न्‍स‘ के बालवीर)
‘’आपका परिवार आपके अंदर संभावनाएं देखता है, जिसे आप भी नहीं देख पाते हैं और वे हमेशा ही आपको
अपने सपने पूरे करने के लिये प्रेरित करते हैं’’
मैंने बहुत ही छोटी उम्र में एंटरटेनमेन्‍ट इंडस्‍ट्री में कदम रखा था। मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं एक एक्‍टर
बनूंगा, वो मेरे पेरेंट्स ही थे जिन्‍होंने मेरे अंदर वह संभावना देखी और उस दिन से ही उन्‍होंने मुझे इस मुकाम
तक पहुंचाने के लिये अपनी पूरी ताकत झोंक दी। हर कदम पर उन्‍होंने मेरी स्किल को बेहतर बनाने में मेरी
मदद की और मैं उन्‍हें अपने गुरु के रूप में मानता हूं। मैंने तीन साल की उम्र में काम करना शुरू किया था और
उस समय से ही मैंने ‘बालवीर’ में मैंने काम शुरू कर दिया था। मुझे इस बात की खुशी है कि मैं आज भी
‘बालवीर’ परिवार का हिस्‍सा हूं।
इस दिन, मैं अपने सेट वाले परिवार को याद करना चाहूंगा। ‘बालवीर रिटर्न्‍स’ की सबसे अच्‍छी बात है कि
‘बालवीर’ की वही टीम ‘बालवीर रिटर्न्‍स‘ का हिस्‍सा है। जब हमने ‘बालवीर रिटर्न्‍स’ की शूटिंग शुरू की थी,
ऐसा लग रहा है कि हम अपने घर वापस लौटे हैं। जाना-पहचाना माहौल था और सालों पहले हमारे बीच जिस
तरह का रिश्‍ता था उसी तरह बना हुआ है।
अपने विस्‍तृत परिवार,दर्शकों और ‘बालवीर रिटर्न्‍स‘ के फैन्‍स को मैं इस दिन ढेर सारे प्‍यार और सपोर्ट के
लिये शुक्रिया कहना चाहूंगा, जो आपने मुझे दिया है। सोनी सब परिवार का हिस्‍सा बनकर मुझे एक बेहतरीन
परिवार, दर्शक मिले हैं। परीक्षा की इस घड़ी में, यह देखकर अच्‍छा लगता है कि ‘बालवीर रिटर्न्‍स‘ का परिवार
कितना मजबूत है। मैं ‘इंटरनेशनल डे ऑफ फैमिलीज़’ के मौके पर अपने प्‍यारे परिवार को याद करना चाहता
हूं, क्‍योंकि दर्शकों ने दिल से बुलाया, बालवीर आया!
भक्ति राठौड़ (सोनी सब के ‘भाखरवड़ी’ की उर्मिला ठक्‍कर)
‘’आपकी जिंदगी कोई भी मोड़ क्‍यों ना ले, आपका परिवार उस रास्‍ते पर आपके साथ होता है’’
इस इंडस्‍ट्री में मेरे पूरे सफर में मेरे परिवार ने मेरा भरपूर साथ दिया है। उन्‍होंने इस सफर को मेरे साथ जिया
है और सही करियर चुनने में मेरी मदद की है। सबसे जरूरी बात की, मेरे परिवार ने मुझे सिखाया है कि बिना
डरे अपने दिल की बात सुनो, जिस तरह उर्मिला का मेरा किरदार अपनी बेटी गायत्री को सिखाती है।‘’
पहले दिन से ही मेरा परिवार मेरे साथ है, और ‘भाखरवड़ी’ टीम भी अब मेरे परिवार की तरह है और हम एक-
दूसरे से बात किये बिना एक दिन भी नहीं रह सकते। उन सबका मेरे जीवन में एक खास स्‍थान है। यह दिन
सोनी सब के लिये उत्‍सव का दिन है, जोकि परिवारों को अपने हल्‍के-फुलके शोज़ के साथ करीब लाने पर
अडिग है। इससे पूरा परिवार एक साथ टीवी देखने का आनंद ले रहा है। सोनी सब और ‘भाखरवड़ी’ के दर्शक
इस पूरे सफर में हमारे साथ रहे हैं और अपना पूरा प्‍यार हमें दिया है। इससे एक कलाकार के तौर पर मुझे आगे
बढ़ते रहने का हौसला मिला और अपने दर्शकों को बेहतरीन काम दिखाने का अवसर मिला। ‘इंटरनेशनल डे

ऑफ फैमिलीज़’ के मौके पर मैं दर्शकों को भी शुक्रिया कहना चाहूंगी क्‍योंकि वो हमारे विस्‍तृत परिवार का
हिस्‍सा हैं। उनके लगातार प्‍यार और सपोर्ट के लिये उनका आभार।‘’
गुल्‍की जोशी (सोनी सब के ‘मैडम सर’ की हसीना मलिक)
‘’ऊंचाइयों तक पहुंचने के लिये परिवार प्रेरणा है और नाकामी में हमारा संबल’’
मेरे परिवार ने करियर के मेरे चुनाव और उसके साथ आने वाली चुनौतियों में हमेशा ही मेरा साथ दिया है।
चाहे देर रात तक काम करने की बात हो या फिर उनसे ना मिल पाने की बात। एक एक्‍टर के तौर पर हम कई
अन्‍य लोगों पर निर्भर होते हैं, जोकि हमारी सफलता में योगदान देते हैं और वे हमारे विस्‍तृत परिवार का
हिस्‍सा बन जाते हैं। उनमें हमारे को-स्‍टार्स, स्‍पॉट बॉय, अकाउंटेंट शामिल होते हैं और उनके सपोर्ट के बिना
हमारा काम इतनी आसानी से नहीं हो सकता।
जब हम काम के दौरान परिवारों के बारे में बात करते हैं, तो मुझे इस बात की खुशी होती है कि मैं सोनी सब
परिवार का हिस्‍सा बन पायी। यह चैनल जिस तरह का हल्‍का–फुलका कंटेंट देता है, वह परिवारों को एक
साथ जोड़ देता है, खासकर आज के समय में, जबकि लोगों ने ओटीटी एप्‍प की वजह से अकेले कंटेंट देखना शुरू
कर दिया है। सोनी सब एक ऐसा चैनल है, जिसे हर कोई एक साथ देख सकता है और हंसते हुए अपना समय
बिता सकता है। मुझे हमेशा से ही सोनी सब चैनल के शोज़ देखना पसंद है और मुझे इस बात की खुशी है कि
उनमें से एक मैं कर रही हूं। ‘मैडम सर’ के साथ मुझे दर्शकों से ढेर सारा प्‍यार मिला है और उनके लिये
‘इंटरनेशनल डे ऑफ फैमिलीज़’ के मौके पर कुछ खास लेकर आ रहे हैं। तो बने रहिये हमारे साथ और घर पर
रहते हुए अपने परिवार के साथ क्‍वालिटी टाइम बिताइये।‘’

comments