Sunday, November 29

क्‍वाइ ऍप का #CityHelp चैलेंज सोशल मीडिया और समाज की भलाई को एक-साथ जोड़ रहा है

अप्रैल, 2020: एक मजेदार सोशल मीडिया प्रयोग में हिस्सा लेकर भलाई का काम करने के बारे
में कल्पना करें जिसमें आपको एक स्मार्टफोन ऍप पर अपने मजेदार और अनोखे वीडियो साझा
करने हैं। इस हफ्ते हजारों भारतीयों ने ऐसा ही अनुभव किया जब #CityHelp में उनकी
भागीदारी से गरीबों और उनके शहर में भूखे पेट रह रहे लोगों को भोजन और दूसरे आवश्यक
सामान पहुंचाने में मदद मिली!

CityHelp चैलेंज को लोकप्रिय शॉर्ट वीडियो प्लेटफार्म क्‍वाइ द्वारा क्लॉथ बॉक्स फाउंडेशन के

साथ मिलकर चलाया जा रहा है। क्लॉथ बॉक्स फाउंडेशन भारत का एक प्रमुख एनजीओ है।
चैलेंज के पीछे विचार यह है कि लोग मजेदार वीडियो बनाएं और हैशटैग के साथ साझा करें।
क्‍वाइ और क्लॉथ बॉक्स फाउंडेशन के स्वयंसेवक किसी शहर के निवासियों द्वारा अपलोड किए
गए सबसे दिलचस्प वीडियो के आधार पर शहर को चुनते हैं और फिर उस शहर में भोजन और
आवश्यक वस्तुओं को बांटने का काम करते हैं।

पिछले हफ्ते उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद और मध्य प्रदेश के कटनी में किराने का सामान और
आवश्यक वस्तुएं देने के लिए फाउंडेशन के स्वयंसेवक घर-घर गए। एनजीओ ने अपने वितरण
अभियान की लाइव स्ट्रीमिंग क्‍वाइ पर की, जिसे 20,000 से अधिक यूज़र्स ने देखा। इस हफ्ते
तेलंगाना के हैदराबाद और हरियाणा के गुरुग्राम में इसी तरह के अभियान चलाने की योजना है।

क्लॉथ बॉक्स फाउंडेशन के साजन अबरोल ने कहा, “देशव्यापी लॉकडाउन लागू हुए एक महीने से
अधिक का समय हो गया है और गरीब इससे सबसे अधिक प्रभावित हुए हैं। #CityHelp पहल
इसलिए की गई है ताकि बड़े या छोटे शहरों में रहने वाले गरीब लोग भोजन और अन्य जरूरी
चीजों से वंचित न रहें। हमारे स्वयंसेवक यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि भोजन और अन्य
आवश्यक चीजें जरूरतमंदों तक पहुंचें।”

इस अभियान को क्वाइ यूज़र्स ने बहुत पसंद किया और लॉन्च के कुछ ही घंटों के भीतर

CityHelp टॉप ट्रेंड्स में नंबर 1 पर पहुंच गया। क्‍वाइ के प्रवक्ता ने कहा, “हम क्वाइ

कम्युनिटी से #CityHelp अभियान को मिली प्रतिक्रिया से रोमांचित हैं। हमारे यूज़र्स ने
सकारात्मकता बढ़ाने और जरूरतमंद लोगों की मदद करने के प्रयासों की बहुत सराहना की है। वे
लोगों को घरों के अंदर रहने के लिए प्रेरित करके उनकी मदद कर रहे हैं और यह संदेश दे रहे
हैं कि इस समय हम सब एक साथ हैं।”

इस अभियान के माध्यम से फाउंडेशन के स्वयंसेवक कोरोनोवायरस के बारे में जागरूकता फैला
रहे हैं। वे लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग और आस-पास स्वच्छता रखने की अहमियत भी समझा
रहे हैं। अभियान पूरे एक हफ्ते तक चलेगा और फाउंडेशन कई अन्य शहरों में आवश्यक वस्तुओं
को बांटने का काम करेगा।

comments