ब्रिटेन और कनाडा के दावे के बाद ईरान ने माना सेना ने यूक्रेन के विमान पर गलती से मिसाइल दागी

तेहरान. ईरान में हुए यूक्रेन विमान हादसे में एक बड़ा खुलासा हुआ है। ईरान की सेना ने कबूला कर लिया है कि मानवीय चूक के कारण सेना ने गलती से यूक्रेन के यात्री विमान को मार गिराया था। यह हादसा 8 जनवरी को ईरान की राजधानी तेहरान में तब हुआ था जब ईरान और अमेरिका के बीच तनाव चरम पर था। उसी दिन अलसुबह ईरान ने अपनी बैलेस्टिक मिसाइलों से इराक स्थिति अमेरिकी सैन्य ठिकानों पर हमले किए थे। यूक्रेन विमान हादसे में कुल 176 यात्री मारे गए थे, जिनमें कनाडा के भी 66 यात्री थे।

वहीं अमेरिका ने पहले ही आशंका जता दी थी कि यह विमान हादसा ईरान की सेना के मिसाइल के कारण हुआ है। ट्रूडो और ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के दावे के ठीक बाद सोशल मीडिया पर एक वीडियो भी वायरल हुआ था। इसमें यूक्रेन के विमान को मिसाइल से टकराने के बाद आग के गोले में बदलते देखा जा सकता है। विमान बोइंग 737-800 उड़ान भरने के 3 मिनट बाद ही इमाम खोमेनी एयरपोर्ट से कुछ ही दूरी पर गिर गया था। मृतकों में 63 कनाडाई नागरिक शामिल थे। इसके अलावा 82 ईरानी, 11 यूक्रेनी, 10 स्वीडिश और जर्मनी-ब्रिटेन के 3-3 नागरिक भी दुर्घटना में मारे गए थे।

Comments

comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


− 4 = two