Wednesday, September 30

राष्ट्रपति ने किया सांसद को सम्बोधित

नईदिल्ली| आज भारत के राष्ट्रपति ने संसद को सम्बोधित किया अपने सम्बोधन के दौरान उंहोने कहा कि महात्मा गांधी की जयंती के 150वीं जयंती के बाद 17वीं लोकसभा के पहले सत्र को संबोधित करते हुए मुझे प्रसन्नता हो रही है। वोट देने के लिए लोग भीषण गर्मी में भी कतारों में खड़े रहे। इस बार महिलाओं की भागीदारी बढ़ी है और लगभग पुरुषों के बराबर रही है। इसके लिए सभी मतदाता बधाई के पात्र हैं।’’

राष्ट्रपति ने कहा कि नेशनल डिफेंस फंड से वीर जवानों के बच्चों को मिलने वाली स्कॉलरशिप की राशि बढ़ा दी गई है। इसमें पहली बार राज्य पुलिस के जवानों के बेटे-बेटियों को भी शामिल किया गया है। क्लाइमेट चेंज और ग्लोबल वॉर्मिंग के बढ़ते प्रभावों के कारण आने वाले समय में, जलसंकट के और गहराने की आशंका है। आज समय की मांग है कि जिस तरह देश ने स्वच्छ भारत अभियान को लेकर गंभीरता दिखाई है, वैसी ही गंभीरता जल संरक्षण एवं प्रबंधन में भी दिखानी होगी। हमें अपने बच्चों और आने वाली पीढ़ियों के लिए पानी बचाना ही होगा। नए जलशक्ति मंत्रालय का गठन इस दिशा में एक निर्णायक कदम है, जिसके दूरगामी लाभ होंगे।

comments