Tuesday, September 29

आज भी जारी रहेगी छापेमारी

भोपाल | मध्यप्रदेश के मुखिया कमलनाथ के ख़ास ओएसडी प्रवीण कक्कड़ व राजेंद्र मिगलानी ठिकानो पर मारे गए छापो की कार्यवाही आज भी जारी रह सकती हैं, राजेंद्र मिगलानी और ओएसडी प्रवीण कक्कड़ के भोपाल-इंदौर में कई ठिकानों सहित दिल्ली और गोवा में 50 स्थानों पर छापेमारी की कार्रवाई सुबह भी जारी रही। माना जा रहा है कि आयकर विभाग की टीम आज छापे में मिले बैंक खातों और लॉकर्स की जांच कर सकती है। बता दे की कल दिल्ली से आई आयकर विभाग की टीम ने रविवार तड़के भोपाल और इंदौर में एक साथ छापेमारी शुरू की. आयकर विभाग की टीम ने भोपाल के प्लेटिनम प्लाजा बिल्डिंग की छठी मंजिल (जो कक्कड़ का निजी दफ्तर है) और नादिर कॉलोनी स्थित आवास पर छापा मारा. इसके अलावा इंदौर के योजना 74 के आवास, विजयनगर स्थित कार्यालय, डीसीएम हाइट्स के कार्यालय सहित अन्य स्थानों पर छापे मारे गए.इन छापो में  अब तक 9 करोड़ रुपए नकद मिल चुके हैं। रविवार देर रात नोट गिनने की छह मशीन बुलवाई गई थीं। सूत्रों के मुताबिक, अभी अश्विन के पास मिले 11 बैग खुलना बाकी हैं, इनमें और नकदी मिल सकती है। कक्कड़ के इंदौर स्थित घर से 30 लाख की ज्वेलरी और दो लाख कैश मिला है। यह कार्रवाई हवाला के जरिए हुए पैसे के लेन-देन और टैक्स चोरी की आशंका के चलते की गई। कमलनाथ के निजी सचिव प्रवीण कक्कड़, भांजे रतुल पुरी, सलाहकार आरके मिगलानी, कक्कड़ के करीबी प्रतीक जोशी और अश्विन शर्मा के ठिकाने खंगाले गए। इस बीच, मध्यप्रदेश पुलिस और सीआरपीएफ के बीच रविवार शाम को टकराव की स्थिति बन गई। सीआरपीएफ के अफसरों ने पुलिस को परिसर के अंदर जाने की अनुमति नहीं दी। इस मारे गये छापे के बाद मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि आयकर छापों की सारी स्थिति अभी स्पष्ट नहीं हुई है। सारी स्थिति स्पष्ट होने पर ही इस पर कुछ कहना उचित होगा। लेकिन पूरा देश जानता है कि संवैधानिक संस्थाओं का किस तरह इस्तेमाल पिछले पांच वर्ष में किया गया। इनका उपयोग कर डराने का काम किया जा रहा है। जब भाजपा के पास विकास पर, अपने काम पर कुछ कहने को और बोलने को नहीं बचा तो ये विरोधियों के खिलाफ इस तरह के हथकंडे अपनाते हैं।

comments