Tuesday, September 29

आतंकवाद विश्व की समस्या है, न कि सिर्फ भारत की – इजराइल

नईदिल्ली | 14 फरवरी को जम्मू कश्मीर में हुये आतंकवादी हमले के बाद पूरा देश आक्रोश की आग में जल रहा हैं, वही पूरी दुनिया इस हमले से स्तब्ध हैं, विश्व के करीब 40 से अधिक देश भारत के साथ खड़े हैं, वही कड़ी में न्यूज़ीलैंड का नाम भी जुड़ गया हैं आज न्यूज़ीलैंड की संसद ने पुलवामा हमले के खिलाफ भारत के समर्थन में प्रस्ताव पारित किया है। इससे पहले फ्रांस ने कहा था कि संयुक्त राष्ट्र में मौलाना मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आंतकी घोषित करने के लिए प्रस्ताव लेकर आएंगे। वही इजराइल के नवनियुक्त राजदूत डॉ रॉन मलका ने भारत के समर्थन में कहा कि भारत को अपनी रक्षा के लिए जो आवश्यकता है, उसकी कोई सीमा नहीं है। हम अपने करीबी मित्र भारत को विशेषतौर पर आतंकवाद के खिलाफ बचाव करने में मदद करने के लिए तैयार हैं क्योंकि आतंकवाद विश्व की समस्या है, न कि सिर्फ भारत और इजराइल |वही इजराइल ने कहा की वह भारत को जांच में सहयोग के लिए तैयार है हम बिना शर्त भारत को हर तरह की मदद देने की पेशकश भी की है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पुलवामा हमले को भयावाह करार देते हुए कहा कि उनके पास रिपोर्ट्स हैं और वह सही वक्त आने पर बयान देंगे। उधर, रूस ने भी हर संभव मदद देने की घोषणा की है।

शहीद हुये थे 40 से अधिक जवान

बता दे की 14 फरवरी को जम्मु-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकवादी ने हमला कर दिया था जिसमे सीआरपीएफ के करीब 40 से अधिक जवान शहीद हो गए थे, इस हमले के बाद भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सुरक्षवालो को फ्रीहैण्ड कर दिया हैं वही इजराइल ने भी भारत को बिना किसी शर्त के हर तरह की मदद का आश्वाशन दिया हैं .

comments