विदिशा रेलवे स्टेशन पर भी यात्रियों को बड़े शहरों के रेलवे स्टेशन जैसी सुविधाएं मिल सकेंगी।

विदिशा। विदिशा रेलवे स्टेशन आने वाले समय में विश्व प्रसिद्ध पर्यटन स्थल सांची के स्तूप की तर्ज पर नजर आएगा। इसके स्टेशन के मुख्य एंट्रेंस हॉल को डिस्मेंटल कर नए सिरे से संवारा जा रहा है। जो कि बाहर से हूबहू सांची के स्तूप की तरह दिखाई देगा। निर्माण के दौरान टिकट वितरण व रिजर्वेशन सहित अन्य जरूरी सेवाएं प्रभावित न हों, इसका भी ध्यान रखा जा रहा है। रेलवे प्रबंधन एंट्रेंस हॉल बनाने से पूर्व अगल से भवन निर्माण कर संबंधित डिपार्टमेंट शिफ्ट करेगा। एंट्रेंस हॉल के डोम का निर्माण कार्य जल्द ही शुरू होने जा रहा है।

Betwaanchal news
Betwaanchal news

आने वाले समय में विदिशा रेलवे स्टेशन पर भी यात्रियों को बड़े शहरों के रेलवे स्टेशन जैसी सुविधाएं मिल सकेंगी। इसी के मद्देनजर रेलवे स्टेशन पर जोर-शोर से निर्माण कार्य किए रहे हैं। कई निर्माण कार्य जहां सुविधाओं के विस्तार के तहत किए जा रहे हैं, वहीं कुछ पुराने निर्माणों को नए सिरे से विकसित किया रहा है। मौजूदा समय में स्टेशन के प्लेट फार्म-2 पर टीनशेड का निर्माण कार्य चल रहा है। इसके अलावा प्लेटफार्म-2 के बाहर रेंप व नई टिकट विंडो काउंटर का निर्माण भी जारी है। प्लेट फार्म-1 पर फुट ओवर ब्रिज के नजदीक दो कार्यालय भवनों का निर्माण शुरू कर दिया गया है। प्लेट फार्म-2 की तरह प्लेट फार्म-1 पर भी 100 मीटर लंबा टीनशेड का विस्तार करने के लिए प्रस्ताव वरिष्ठ कार्यालय को भेजा गया है।

विदिशा रेलवे स्टेशन के प्लेट फार्म-2 पर टीनशेड का निर्माण कार्य चालू हो चुका है। टीनशेड के लिए प्लेट फार्म पर गड्ढों की खुदाई का चल रहा है। प्लेट फार्म-2 पर दो टीनशेड बनाए जाना है। एक शेड बीना की ओर बनाया जाना है, जबकि दूसरा शेड भोपाल की ओर बनाया जाएगा। इस प्लेट फार्म पर कुल 96 मीटर लंबा टीनशेड बनेगा। बीना की ओर बन रहे शेड की लंबाई 64 मीटर प्रस्तावित है। भोपाल की ओर टीनशेड की लंबाई 32 मीटर रखी जाएगी। ये दोनों शेड बनने के बाद प्लेट फार्म-2 लगभग काफी हद तक शेड से कवर्ड हो जाएगा। इससे यात्रियों को किसी भी मौसम में असुविधा का सामना नहीं करना पड़ेगा।

comments