पुलिस अधिकारी किश्तों में ले रहा था रिश्वत, 5 दिन पहले ही हुआ था प्रमोशन

2_1444288592
इंदौर में लोकायुक्त ने एक ऐसे पुलिसवाले को रंगेहाथ पकड़ा है जो लोगों से किश्त में रिश्वत लेता था। आजाद नगर थाने के एएसआई बद्रीप्रसाद वर्मा को गुरुवार को उस समय पकड़ा गया जब ये दो लोगों को एक्सीडेंट के मामले में बचाने के लिए डेढ़ हजार रुपए ले रहा था। इसके पहले ये उनसे रिश्वत की दो किश्त ले चुका था।
यह है मामला
लोकायुक्त एसपी अरुण मिश्रा ने बताया कि मनोज परमार और मनीष ने उनसे ये शिकायत की थी कि 29 सितंबर को उनकी बाइक एक स्कूटी से टकरा गई थी। इस पर आज़ाद नगर थाने में एक्सीडेंट का प्रकरण दर्ज हुआ था। थाने पर पदस्थ एएसआई वर्मा ने उनसे मामले को निपटाने के लिए 5 हजार रुपए की मांग की थी। इसके बाद फरियादी ने कहा कि वो इतने पैसे नहीं दे सकते तो वो 3 हजार रुपए में मामला निपटाने के लिए राजी हो गया। इसमें से एक बार 700 और एक बार 500 रुपए ले चुका था। शिकायत के बाद लोकायुक्त का दल फरियादी के साथ सादी ड्रेस में पहुंचा। चाय की दुकान पर जैसे ही एएसआई ने उससे पैसे लिए टीम ने उसे रंगे हाथ पकड़ लिया।

दी थी किश्त में भुगतान की सुविधा
फरियादी मनोज के मुताबिक़ जब हमने एएसआई से कहा कि हम 3 हजार रुपए की व्यवस्था एक साथ नहीं कर सकते तो उसने कहा कि चिंता की कोई बात नहीं है। मैं तुमसे किश्तों में पैसा ले लूंगा। तुम 3- 4 किश्तों में पूरा पैसा दे देना। जब पूरे पैसे दे दोगे तब केस निपटा दूंगा। गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले ही बद्री प्रसाद वर्मा का प्रमोशन हुआ था।

comments