चीनी सीमा के शहर में मची है ‘मेड इन इंडिया’ की धूम

made-in-india (1)शियासिमा

भले ही भारत चीन के साथ 47 अरब अमेरिकी डॉलर के व्यापार घाटे का सामना कर रहा है लेकिन इस सीमावर्ती शहर में भारत की धूम मची हुई है। कई दुकानों पर ‘मेड इन इंडिया’ के साइनबोर्ड लगे हैं और व्यापारी नत्थू ला दर्रा होकर सीमा व्यापार को बढ़ावा दे रहे हैं।

तिब्बत के मध्य में स्थित इस छोटे शहर में कई दुकानदार भारतीय हस्तशिल्प, मसाला एवं वस्त्रोद्योग का आयात करते हैं और ‘भारत में बने सामान उपलब्ध है’ साइनबोर्ड का इस्तेमाल करते हैं। नत्थू ला होकर भारत-चीन व्यापार फल-फूल रहा है हालांकि यह व्यापार करीब 17 करोड़ रुपये का ही है। यह शहर नत्थू ला से सिर्फ 50 किलोमीटर दूरी पर स्थित है।

चीन ने कैलाश-मानसरोवर यात्रियों के प्रथम बैच के लिए समुंद्र तल से 4,000 मीटर ऊपर सिक्किम में नत्थू ला के हिमालयाई दर्रे से होकर मंगलवार को एक दूसरे मार्ग को खोला।

भारत में चीन के राजदूत ली यूचेंग ने कल सिक्किम के मुख्यमंत्री पवन कुमार चामलिंग से मुलाकात की औ व्यापार को बढ़ाने के कदमों पर चर्चा की। ली यूचेंग सिक्किम के दौरे पर पहली बार आए हैं और नत्थू ला सीमा को पार किया।

comments