मैगजीन ‘टाइम’ ने की मोदी की तारीफ

narendre-modi-02 copyन्यूयार्क। टाइम के मुताबिक, ”चीन और भारत दुनिया के दो सबसे गतिशील देश हो सकते हैं। 2002 से 2012 तक चीन को राष्ट्रपति हू जिंताओ चला रहे थे, जो बिना प्रभाव में आकर सतर्क रहकर काम करने वाले थे। हालांकि ज्यादातर फैसले उनके द्वारा अकेले नहीं लिए जाते थे. ये फैसले कम्युनिस्ट पार्टी के बड़े नेताओं के बीच सर्वसम्मति के बाद लिए जाते थे। दूसरी ओर भारत में मनमोहन सिंह ने एक दशक तक ‘उदासीन शासन’ चलाया। उन्होंने 2014 में 81 साल की उम्र में पद छोड़ा। वर्तमान में चीन और भारत दोनों की कमान ताकतवर नेताओं के हाथ में है, जो इतिहास पर अपनी छाप छोडने को बेताब हैं।” टाइम ने प्रधानमंत्री मोदी की पिछले साल अमेरिका यात्रा के दौरान मेडिसन स्क्वेयर गार्डन पर उनके भव्य स्वागत का हवाला देते हुए कहा- विश्व के ज्यादातर नेताओं को इतने श्रोता नहीं मिल सकते, जितने मोदी के लिए इकट्ठा हुए थे।

प्रतिष्ठित अमेरिकी मैगजीन ‘टाइम’ की नजर में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीनी राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग वर्तमान में दुनिया के सबसे ताकतवर नेता हैं। मैगजीन द्वारा हाल ही में मोदी और जिनपिंग को दुनिया के 100 सर्वाधिक प्रभावशाली नेताओं में शामिल किया गया है। अब मैगजीन का कहना है कि वर्तमान में भारत और चीन, दोनों की कमान ‘शक्तिशाली नेताओं’ के पास है और ये ‘इतिहास में अपनी छाप छोड़ने’ को तैयार हैं। मैगजीन के मुताबिक, प्रधानमंत्री मोदी पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के एक दशक के ‘उदासीन शासन’ के बाद अब बेहतर और कुशल नेतृत्व कर रहे हैं। बता दें कि हाल ही में अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने टाइम में ही छपे एक आर्टिकल में नरेंद्र मोदी की तारीफ की थी। ओबामा ने मोदी को रिफॉर्मर इन चीफ बताया था। ओबामा ने कहा कि मोदी ने गरीबी को कम करने, शिक्षा में सुधार, वुमन इम्पावरमेंट और भारत की आर्थिक संभावनाओं के लिए महत्वाकांक्षी विजन दिया है।

comments