देश विदेश | BetwaAnchal Daily News Portal | Page 30
दिनांक 23 January 2019 समय 1:28 PM
Breaking News

Category Archives: देश विदेश

भारत चाहे तो हिमालय भी नहीं रोक सकता हमारी दोस्ती; हम एक और एक दो नहीं, ग्यारह हैं: चीन

बीजिंग. चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने कहा है कि भारत और चीन को अपने आपसी मतभेद भुलाकर अपने संबंधों को मजबूत बनाने पर जोर देना चाहिए। संसदीय संत्र के दौरान सालाना प्रेस कॉन्फ्रेंस में वांग ने कहा कि भारत और चीन को लड़ना नहीं चाहिए बल्कि साथ आकर काम करना चाहिए। उन्होंने कहा कि इसके लिए जरूरी है ... Read More »

झुंझनू में 2011 तक 1000 बेटों पर 837 बेटियां थीं। अब 1000 बेटों पर 955 बेटियां हैं।

महिला दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राजस्थान के झुंझुनूं पहुंचे। यहां उन्होंने राष्ट्रीय पोषण मिशन की शुरुआत की। इस मौके पर उन्होंने झुंझुनूं जिले में लिंंगानुपात बेहतर होने पर तारीफ की। मोदी ने कहा- ”ये वीरो की भूमि है। इस जिले ने साबित कर दिया है कि युद्ध हो या अकाल हो, झुंझुनूं झुकना नहीं, लड़ना जानता है। ... Read More »

आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा नहीं देने पर विवाद: मोदी-नायडू ने बात की, पीएम से मिलेंगे TDP के 2 मंत्री

नई दिल्ली. आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा नहीं देने के विवाद के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चंद्र बाबू नायडू के बीच बातचीत हुई। ऐसा कहा जा रहा है कि मामले को लेकर दोनों के बीच करीब 20 मिनट तक बात चली। तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) के दो केंद्रीय मंत्री शाम को पीएम से मुलाकात भी करेंगे। इससे ... Read More »

विश्व महिला दिवस- धन्य धरा और जननी तुम हो मॉं के विस्तार को स्वीकारना ही नारी सम्मान है

भोपाल। आठ मार्च विश्व महिला दिवस के रूप में एक अवसर है कि हम अपनी मां को, अपनी बहन को, अपनी पत्नी को और अपनी बेटी को सम्मान देना सीखे। हमारा यह विचार विश्व साकार हो, इसका विस्तार समाज देश की सीमाओं को लांघकर विश्वव्यापी हो। तभी विश्व बंधुत्व कुटुम्बकमïï् और विश्व भगिनी कुटुम्बकम में तब्दील हो सकता है। समय-समय ... Read More »

राज्यसभा सभ्य लोगों का सदन या संसद में घुसपैठ का पिछला द्वार

भोपाल। हमारे देश में संविधान के मुताबिक संसदात्मक लोकतंत्र प्रणाली को अपनाया गया है। जिसके अनुसार दो सदन उच्च सदन यानि राज्य सभा और निम्र सदन लोकसभा को माना जाता है। यानि राज्य सभा जहां इंग्लेण्ड की तरह राजाओं यानि लार्डो बुद्धिजीवियों, विज्ञानियों एवं समाज का बौद्धिक क्षेत्र में प्रतिनिधित्व करने वाले लोगों को अपनी राय और मशविरा रखने का ... Read More »

मूर्ति तोड़ने के मामले पर संसद के दोनों सदनों में हंगामा, लोकसभा की कार्यवाही दिनभर के लिए स्थगित

नई दिल्ली. संसद के बजट सत्र शुरू हुए तीन दिन हो गए हैं लेकिन किसी भी तरह का कामकाज नहीं हुआ है। बुधवार को भी राज्यसभा में विपक्षी सांसदों ने मूर्ति तोड़ने और आंध्र प्रदेश को विशेष दर्जा देने को लेकर वेल में प्रदर्शन किया। सभापति वेंकैया नायडूने सभी को अपनी जगह बैठने को कहा। बात न मानने पर नायडू ... Read More »

.. और ध्यान बंटाने निकल पड़े मूर्ति भंजक घोटालों को दबाने की साजिश, मीडिया मैनेजमेंट का कमाल

भोपाल। जब भी देश में कोई बड़ा घोटाला सामने आता है, और उसके तार राजनीतिक गलियारे से जुड़ते है। निश्चित ही एक सप्ताह के भीतर कोई ऐसा सिगुफा छेंड़ दिया जाता है, ताकि पूरी मीडिया को काम मिल सके और जनता का ध्यान मुख्य घोटाले से हटकर दूसरी ओर केवल और केवल चर्चाओं में बंट सके। शायद इन दिनों पीएबी ... Read More »

लोकसभा चुनाव के नतीजों के दिन 7 कंपनियों को क्यों पहुंचाया फायदा? रविशंकर ने चिदंबरम से पूछा

नई दिल्ली. कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने सोमवार को कांग्रेस पर बैंकों को आर्थिक रूप से नुकसान पहुंचाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि यूपीए ने अपनी सरकार के दौरान हमेशा नियमों को ताक पर रखा, जिससे केंद्र सरकार को अब तक नुकसान उठाना पड़ रहा है। उन्होंने पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम पर 2014 में 7 कंपनियों को फायदा ... Read More »

देश की सेना को सहमति के साथ सहयोग देना जरूरी है

भोपाल। जम्मू कश्मीर के शोपियां फायरिंग में मेजर के खिलाफ जांच पर रोक लगाकर सुप्रीम कोर्ट की खंडपीठ ने एक उम्दा मिसाल पेश की है। क्योंकि जिस हालात में भारतीय सेना के जाबांज सिपाही देश की सरहदों पर अपनी उपस्थिति दर्ज करा रहे है, उससे प्रतीत होता है कि देश की सेना को जन समर्थन मिलना आवश्यक है। जब तक ... Read More »

विचारधारा में जीत या हार हो लेकिन हत्या नहीं

भोपाल। त्रिपुरा में चुनाव के दौरान जनता ने एक विचारधारा को अस्वीकार किया और दूसरी विचारधारा को स्वीकार करते हुए लोकतंत्र को संबल प्रदान किया। ऐसा होना स्वभाविक एवं लोकतंत्र की मजबूती में जनता का सहयोग माना जाएगा। लेकिन चुनाव जीतने के बाद किसी भी दल के कार्यकर्ताओं ने जिस तरह का व्यवहार किया वह प्रतीत होता है कि लोकतंत्र ... Read More »

Scroll To Top