संपादकीय Archives | BetwaanchalBetwaanchal संपादकीय Archives | Betwaanchal
दिनांक 14 October 2019 समय 2:44 AM
Breaking News

Category Archives: संपादकीय

आखिर छात्र संघ चुनाव से क्या हासिल करना चाहती हैं सरकार

जिस तरह से कुछ समाचार पत्र छात्र संघ चुनावकराय जाने के लिए तरह-तरह के तर्क दे रही हैं और सरकार को चुनाव करने के लिए मजबूर सा कर रहे हैं |ऐसे में उन समाचार पर्त्रो पर प्रश्न खड़े हो रहे हैं की आखिर वो छात्र संघ चुनाव से क्या हासिल करना चाहते हैं ोे सरकार को भी इस छात्र संघ ... Read More »

महाविद्यालय के सीधे चुनाव से कही अपराध का जन्म तो नहीं होगा

महाविद्यालय चुनाव प्रक्रिया को लेकर छात्र संगठन कई दिनों से सीधी प्रक्रिया अपनाये जाने की मांग कर रहे थे पर कोई भी सरकार इस प्रक्रिया का पालन करने से बचती नजर आरही थी | सीधे चुनाव प्रक्रिया के समय का महाविधालय के चुनाव परिणामो की बातकी जाए तो एक और जहा कई छात्र नेता निकलकर मुख्य राजनीति का हिस्सा बने ... Read More »

कही जोखिम तो नहीं हैं सोशल मिडिया को आधार से लिंक करना

आधार लिंक को लेकर एक बार फिर नई बहस शुरू हो गयी हैं, आधार से निजता को लेकर सुप्रीम कोर्ट द्वारा कई मौके पर आदेश व्यक्त किया जा चूका हैं और और समय-समय पर आधार के डाटा को लेकर भी कई तरह की बाते सामने आ रही हैं | जिसमे कम्पनियो द्वारा आधार का डाटा चुरा लेने की भी बाते ... Read More »

विश्व कूटनीति में भारत की विजय

जब से मोदी सरकार आई हैं उसका सबसे पहला प्रयास अपने पड़ोस सहित पूरे विश्व समुदाय में भार की छवि को उज्जवल बनाना दुनिया में रहने वाले भारतीयों के मन में देश के प्रति विश्वास जगाना इसी के चलते मोदी सरकार अपने शपथ ग्रहण समारोह में अपने पडोसी मुल्को को आमंत्रित कर एक कदम बढ़ाया था| और इसके बाद प्रधानमंत्री ... Read More »

क्या विपक्ष का व्यवहार सही कहा जा सकता हैं

कश्मीर से धारा 370 हटने के साथ ही पूरे देश में हर्ष का माहौल हैं | पर देश का विपक्ष राष्ट्रहित में लिए गए निर्णय को पचा नहीं पा रहा हैं| उसकी आये दिन की बयानबजी से देश दुश्मनो को बल मिल रहा हैं | वही कश्मीर में शान्ति प्रक्रिया में भी रुकावट खड़ी हो रही हैं | यह तो ... Read More »

भ्रष्टाचारियो पर नकेल कसता देश

आजादी के बाद से ही भ्रष्टाचार की एक ऐसी दिवार कड़ी हो गयी हैं जिसको ढहाना आसान नहीं हैं| सत्ता में बैठे लोग हो या प्रशासन में बैठे लोग या आम जन मांस सभी इस बिमारी का कारण हैं ऐसा मन जाता हैं की राजनेता एक हजार रूपए का घोटाला करता हैं तो इसकी आड़ में अधिकारी सौ रुपय का ... Read More »

समय ही बलवान

यह कहावत चरितार्थ होती देखी जा रही हैं | हम सब समय के आगे बोने हैं आज आज के परिपेक्ष में बात करे तो जिन पी.चिदंबरम के आगे देश की प्रमुख एजेन्सिया आगे -पीछे हुआ करती थी. आज वही एजेन्सिया पी.चिदंबरम के पीछे पड़ी हुयी हैं और पी.चिदंबरम भागते दिखाई दे रहे हैं यहाँ बड़ा प्रश्न यह हैं की जिन ... Read More »

आखिर इतनी बैचेनी क्यो

जम्मूकश्मीर से धारा 370 के हटाये जाने के बाद से केंद्र सरकार की कोशिश हैं की वह कश्मीर में हालात सामान्य कर एक सुरक्षा का माहौल तैयार करे | इसके लिए केंद्र सरकार अपनी और से पूर्ण प्रयास कर रही हैं, इतना ही नहीं केंद्र आला अधिकारी से लेकर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी कश्मीर पर बारीकी से नजर ... Read More »

प्रकति का रौद्र रूप, जिम्मेदार कौन

बरसात आते ही चारो और खुशनुमा माहौल हो जाता हैं| रिमझिम करती वारिश प्रकति में नया संचार भर देती हैं | पर जब यही वारिश अपने स्वाभाविक रूप में बरसने लगे तो मानव जीवन के साथ – साथ जीव – जंतु वेहाल हो जाते हैं | विकास की संघी दौड़ ने प्राकृतिक संरचना के मूल रूप को बिगाड़ दिया हैं ... Read More »

इतिहास में दर्ज होंगे चमचे और भक्त

इन दिनों देश में बडे ही रोचक शब्द सुनाई दे रहे हैं जिसमे चमचे और भक्त शब्द प्रमुखता से लिए जा रहे हैं युग बदलते हैं युग के साथ तकनीक भी बदलती हैं एक समय था जब प्रिंट मिडिया देश पर हावी था इसके बाद इक्लेक्ट्रॉनिक मिडिया आया और अब इन दिनों सोशल मिडिया का दौर अचल रहा हैं इस ... Read More »

Scroll To Top