दिनांक 22 June 2018 समय 3:04 AM
Breaking News

‘अकबर’ के साथ सिर्फ काम पर फोकस: परिधि शर्मा

ShareGoogle+FacebookLinkedInTwitterStumbleUponEmail

download (3)download (4) images (1) images (2)जोधा बेगम जैसे प्यार से शो में बोलती हैं, वैसे ही रियल में भी वह बहुत आराम से बोलती हैं। उन्हें सिंपल रहना और हंसी मजाक करना पसंद है। सेट पर भी वह हेल्दी माहौल बनाने में अहम रोल निभाती हैं। करते हैंपरिधि शर्मा से कुछ बातें:

गरिमा शर्मा

जोधा का रोल प्ले करके आपको कैसा लग रहा है? हमारे इतिहास और कल्चर से जुड़ा यह शो अपने-आप में एकदम अलग है। पहले तो लगा कि जोधा का किरदार निभाना टफ होगा, लेकिन एक बार शुरू किया, तो मेरी रुचि शो और मेरे किरदार में काफी बढ़ती गई। इससे हमें हमारे इतिहास के बारे में भी खास जानकारी हासिल होती है।

अक्सर शो को और फिल्म जोधा अकबर को जोड़कर देखा जाता है। जैसे फिल्म में ऐश्वर्या राय बच्चन की ऐक्टिंग सभी को पसंद आई, वैसे ही शो में आपकी? इस तुलना के बारे में आपका क्या कहना है? ऐसी तुलना से मैं खुद को बहुत ही सौभाग्यशाली समझती हूं। हालांकि, मुझे लगता है कि मैं इतनी बड़ी नहीं हूं। ऐश्वर्या जी ने बहुत ही महान काम किया है। वह बेहद खूबसूरत हैं। उनकी फिल्मों में उनके किरदार बहुत खास रहे हैं और उन्हें बहुत प्रशंसा भी मिली है। मैंने तो अभी ऐसा कुछ भी नहीं किया। मुझे ऐक्टिंग में अभी बहुत कुछ अच्छा करना है। फिलहाल तो इस तुलना से मैं खुश हो सकती हूंआपको शो में हिंदी के कठिन शब्दों को इस्तेमाल करना होता है। दिक्कत नहीं होती इन्हें याद रखने और बोलने में? शुरुआत में तो दिक्कत होती थी, लेकिन फिर ये मेरी आदत में शुमार हो गया। हिंदी के शब्द होते तो कठिन हैं, लेकिन एक बार आप उनका सही उच्चारण करना सीख जाएं, तो आपको बहुत आसानी होती हैं। बल्कि आपको उन शब्दों को बोलना अच्छा लगने लगता है। मेरे साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ। अब हिंदी के प्रति मेरा आदर और बढ़ गया है।

तो आप आम बोलचाल में अपने फ्रेंड्स के बीच भी ऐसे शब्दों का ज्यादा इस्तेमाल करती हैं या फिर ये सेट तक ही सीमित रहता है? हां। शुरू में तो ऐसे शब्द बोल देती थी, तो सभी हंसकर कहते थे कि मैडम आप सेट पर नहीं है। लेकिन अब तो कम होता है। फ्रेंड्स के बीच तो हिंदी इंग्लिश मिक्स्ड ही बोली जाती है। ऐसा नहीं कि सिर्फ इंग्लिश या हिंदी में बात करूं।

रुकैया बेगम शो में तो आपके खिलाफ साजिश रचती रहती हैं। असल में भी कुछ ऐसा होता है क्या? (हंसते हुए) अरे नहीं। आप ऐसा कुछ भी मत समझना। यह तो शो की बात है। रियल में ऐसा कुछ नहीं है। वह बहुत अच्छी हैं। हमारी आपस में खूब सारी बातें भी होती हैं। शूटिंग के बाद जैसे ही समय मिलता है, वैसे ही हम लोग आपस में चैट करते हैं। फोन पर भी चैट चलती रहती है। सिर्फ वो और मैं ही नहीं। हमारी सारी बेगमें बहुत अच्छी हैं। सभी की आपस में बहुत पटती है। इससे सेट पर काफी हेल्दी माहौल रहता है। किसी को काम का स्ट्रेस भी नहीं होता। कब सेट पर इतने सारे घंटे बीत जाते हैं, पता ही नहीं चलता।

सुना है कि आपकी अपने को-ऐक्टर (जो अकबर का रोल प्ले कर रहे हैं) से ज्यादा नहीं बनती? मैं उनके साथ अपने काम पर फोकस करती हूं। ऑनस्क्रीन हमारी केमिस्ट्री अच्छी दिखनी चाहिए, ऑफस्क्रीन दोस्ती है या नहीं, यह खास मैटर नहीं करता। लेकिन हां, जो जरूरी बात होती है, हम आपस में करते हैं। हम दोनों ही अपने काम पर ज्यादा ध्यान लगाते हैं।

रियल लाइफ में आप कैसी हैं? असल जिंदगी मैं सिंपल रहना पसंद करती हूं। मुझे हंसी मजाक भी पसंद है। किताबें पढ़ना मुझे अच्छा लगता है। मैं हिंदी और इंग्लिश दोनों बुक्स पढ़ना पसंद करती हूं।

आपकी शादी हो चुकी है, तो ससुरालवालों का कैसा रवैया रहता है? वे सभी खुश होते हैं कि मैं अच्छा परफॉर्म कर रही हूं। मेरे हज्बंड का मुझे पूरा सपोर्ट है। मेरी शादी को भी 2 साल हो गए हैं। सभी को अच्छा लगता है कि मैं आगे बढ़ रही हूं।

आने वाले दिनों में और क्या करने वाली हैं? मुझे स्वच्छता अभियान से जुड़ना हैं। जल्द मैं इंदौर में जाकर इससे जुड़ूंगी। इसके अलावा समय निकालकर सोशल वर्क भी करना चाहती हूं

ShareGoogle+FacebookLinkedInTwitterStumbleUponEmail

comments

About Pradeep Rajpoot

Pradeep Rajpoot is a social activist, businessman and editor in chief of Betwa Anchal weekly news paper.
Scroll To Top