दिनांक 19 January 2018 समय 7:06 PM
Breaking News

कटरीना को मैं बहन नहीं मानता: अर्जुन कपूर

ShareGoogle+FacebookLinkedInTwitterStumbleUponEmail

ऐसा लगता है, आप सलमान खान को अपना सबकुछ मानते है? यकीनन, अगर मैं आज यहां हूं और आप मेरा इंटरव्यू ले रहे और मेरी अपनी पहचान बनी है तो मैं इसका टोटली क्रेडिट सलमान खान को देता हूं, वरना मेरा ज्यादा वक्त अपने रूम में चाकलेट खाने या फिर गेम्स खेलने में ही गुजरता था। सलमान से जब मैं पहली बार मिला उस वक्त मैं बेहद गोलमटोल और भारीभरकम था, मैं आपको अपना वेट इसलिए नहीं बताने वाला कि आपके अगले चार पांच सवाल मेरे वेट लूज करने के बारे में हो जाएगे , सलमान से मिलने के बाद ही मुझे लगा कि मैं भी अपने दम पर कुछ कर सकता हूं, अगर मैं कहूं तो सलमान सर मेरे सबसे पहले ट्रेनर है तो यह जरा भी गलत नहीं होगा। सच कहूं तो सलमान सर से मिलने से पहले मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि मैं भी हीरो बन सकता हूं। अगर मुझे यहां तक पहुंचाने में सबसे ज्यादा हाथ सलमान सर का है तो मैं भला अपनी मौजूदा पहचान का क्रेडिट उनको नहीं तो और किस को दे सकता हूं।

arjunआपके पापा इंडस्ट्री के टॉप प्रॉडयूसर है, उनका अपना प्रॉडक्शन हाउस है, इसके बावजूद यशराज की फिल्म से करियर स्टार्ट करने की खास वजह? मैं नहीं चाहता था क्रिटिक्स और दर्शकों को यह कहने का मौका मिले मैं पापा के दम पर हीरो बना हूं, मैंने जब इंडस्ट्री में अपनी पहचान बनाने के बारे में सोचा तो सबसे पहले मैंने यही फैसला किया होम प्रॉडक्शन की फिल्म से करियर स्टार्ट नहीं करूंगा , चाहे कितना ही लंबा इंतजार करना पड़े। ऐसे में जब आपको करियर की शुरूआत के लिए ही यशराज जैसा टॉप बैनर अप्रोच करता है तो खुद को भी लगता है यार मुझ में भी कुछ तो है, बस यहीं सोचकर इश्कजादे साइन की।

पहली फिल्म से लेकर तेवर तक आप रफ-टफ टाइप वाले रोल कर रहे, लगता नहीं एक खास इमेज में बंध गए हैं? हर इंटरव्यू के दौरान मुझे इस सवाल का जवाब देना पडता है, लगता है जैसे मैं कुछ गलत काम कर रहा हूं, या फिर मुझ से पहले किसी ने ऐसा किया नहीं या इंडस्ट्री में मैं इकलौता ऐसा कलाकार हूं जो बार बार एक जैसे किरदार कर रहा हो। आप लोग भूल जाते है मैंने 2 स्टेटस भी की है, इस फिल्म में मेरी साफ-सुथरी और रोमांटिक इमेज थी। जब कोई मेकर मेरे पास रफ- टफ लुक वाला किरदार लेकर आता है तो ऐसा लगता है एक बड़ी क्लास मुझे ऐसे किरदार में देखना चाहती है, जहां तक मेरी बात है मैं कामेडी और रोमांटिक रोल करना चाहता हूं

ShareGoogle+FacebookLinkedInTwitterStumbleUponEmail

comments

About Pradeep Rajpoot

Pradeep Rajpoot is a social activist, businessman and editor in chief of Betwa Anchal weekly news paper.
Scroll To Top