ग्वालियर-धुएं में दम घुटकर मां-बाप और मासूम बेटी की मौत | BetwaanchalBetwaanchal ग्वालियर-धुएं में दम घुटकर मां-बाप और मासूम बेटी की मौत | Betwaanchal
दिनांक 25 May 2019 समय 2:58 AM
Breaking News

ग्वालियर-धुएं में दम घुटकर मां-बाप और मासूम बेटी की मौत

Gwalior600209-02-2015-08-21-99Nग्वालियर। धुंए में दम घुटकर मां-बाप और मासूम बेटी की मौत हो गई। तीनो लोग कड़ाही मे आग जलाकर सो गए थे। आग से कमरे में धुंआ भर गया और उसकी घुटन में तीनो रजाई में सोते रह गए। रात को साला खाने के लिए बुलाने आया तब घटना पता चली। पुलिस के मुताबिक खटीक मोहल्ला(शिंदे कीछावनी)निवासी मुकेश बरार(30)उसकी पत्नी मीना(28)और दो साल की बेटी डब्बू की शनिवार को दम घुटने से मौत हो गई। मुकेश दर्जी का काम करता था।

वह ससुराल के पास सुरेश जोशी के मकान में डेढ़ साल से पत्नी और बेटी के साथ किराए से रह रहा था। रोजाना खाना खाने वह ससुराल में जाते थे। शनिवार दोपहर करीब 2 बजे ससुराल में खाना खाकर वह घर आ गया। रात करीब 8.30 बजे साला विक्रम खाने की थाली लेकर पहुंचा। उसने दरवाजा खोला तो कमरे में धुंआ भरा था। मुकेश, मीना और डब्बू रजाई में सोते दिखे। उसने जगाया लेकिन जबाब नहीं मिला। पास जाकर देखा तो तीनों की सांस थमी थी। विक्रम ने परिजनों को बुलाया और तीनों को अस्पताल लेकर पहुंचे। डॉक्टर ने नब्ज टटोली तीनों दम तोड़ चुके थे। डॉक्टर की खबर पर इंदरगंज पुलिस मौके पर पहुंची। तीनों के शव को पीएम भिजवाया। रविवार को पीएम के बाद शव परिजनों के सपुर्द कर दिया गया।

रजाई में सोते रह गए

पुलिस का कहना है मुकेश जिस कमरे में रहता है। उसमें दरवाजे के पास एक छोटा रोशनदान है, जिसमें जाली लग फिर उसमें जाले भी लगे है। मुकेश ने अलाव अंदर रखकर दरवाजा बंद किया। धुंआ भरने से दम घुटा। इसलिए तीनों रजाई में सोते रह गए।

उजड़ गया परिवार

मुकेश के पिता अशोक एजी ऑफिस में सीनीयर एकाउंटेंट थे। मृतक उनका इकलोता बेटा था। करीब 8 साल पहले अशोक की मौत हो गई। कुछ साल बाद पत्नी का भी निधन हो गया। अशोक की एक बहन है, लेकिन वह अशोक से अलग रहती है।

9 दिन में 4 हादसे

मोतीझील: कमरे में अलाव रखकर सोया पप्पू उर्फ बहादुर बिस्तर में आग लगने से जिंदा जला
हस्तिनापुर: राधा पत्नी राकेश जौहरी की खाना पकाते समय आग से जलने से मौत
मुरार: न्यू विहार कालोनी में रानी पत्नी दिनेश तोमर की आग से जलकर मौत
पड़ाव: सेवानगर में 90 साल की पार्वती आग जलाकर सोई जिंदा जली
इन्होने कहा कमरे में कड़ाही रखी मिली है। जिसमें आग जलाई गई थी। प्रारंभिक दृष्टया एसा प्रतीत होता है धुंए से दम घुटने से तीनों की मौत हुई है। फिलहाल मर्ग कायम कर मामले की जांच की जा रही है।
राघवेन्द्र सिंह तोमर, टीआई इंदरगंज थाना –

comments

About Pradeep Rajpoot

Pradeep Rajpoot is a social activist, businessman and editor in chief of Betwa Anchal weekly news paper.
Scroll To Top