दिनांक 19 October 2017 समय 3:33 AM
Breaking News

गंजबासौदा -बिजली के खंभे बन रहे हादसों का कारण

ShareGoogle+FacebookLinkedInTwitterStumbleUponEmail

bpl-n2064059-largeगंजबासौदा

शहरके मुख्य मार्गों और वार्डों में लगे आड़े तिरछे बिजली के खंभे लगातार हादसों का कारण बन रहे हैं। इन बिजली के खंभों को हटाने के लिए कोई कार्रवाई होने से हालात खराब होते जा रहे हैं। पूरे शहर में करीब दो दर्जन बिजली के खंभे ऐसे हैं जिनकी चपेट में वाहन चालक और राहगीर चूक के कारण जाते हैं। दो तीन खंभे तो ऐसे हैं जिनसे टकराकर दर्जनों हादसे हो चुके हंै। सड़क पर लगे बिजली के खंभों से एक महीने में तीन घटनाएं हो चुकी हैं लेकिन इस दिशा में अब तक कोई कार्रवाई नहीं हो पा रही है।

यहां लगे हंै क्षतिग्रस्त खंभे

नगर में क्षतिग्रस्त बिजली के खंभे स्टेशन रोड पर लाल बिल्डिंग, क्लब पार्क, बेहलोट बायपास, पचमा बायपास मार्ग सहित आधा दर्जन वार्डों में लगे हैं। इनमें से अधिकांश सड़क या गली में ऐसी जगह लगे हैं जिन्हें अंजान व्यक्ति देख ही नहीं पाता। इससे वह दुर्घटना की चपेट में जाता है। इन क्षतिग्रस्त खंभों को हटाने की नागरिक मांग करते रहे हैं।

एक महीने में हुई तीन घटनाएं

एक महीने के दौरान क्षतिग्रस्त खंभोंं से टकराने के कारण तीन घटनाएं हो चुकी हैं। स्टेशन रोड पर बिजली के खंभेे से टकराने से युवक की जान भी जा चुकी है। जबकि एक दिन पहले बैहलोट मार्ग पर पैदल जा रहा 65 वर्षीय बुजुर्ग शंभुसिंह के टकराने से गंभीर रुप से घायल हो गया। उसका उपचार अस्पताल में कराया गया। इससे चार दिन पहले क्लब पार्क के सामने रात साढ़े आठ बजे खंभे को बचाने के प्रयास में दो आटो आपस में तेज गति में टकरा गए थे। इसमें से एक पलट गया। उसमें सवार महिलाएं और बच्चे घायल हो गए थे। बच्चे को उपचार के लिए शासकीय जनचिकित्सालय भेजा गया।

पचमा रोड पर बीच में खंभे

पचमा बायपास मार्ग पर सड़क के बीच दो बिजली के खंभेे लगे हैं। ये खंभे मोड़ के पास हैं। इनके समीप सड़क पर लंबा गड्ढा है। यहां अचानक सामने आए खंभे को बचाने के प्रयासा में बाइक चालक का संतुलन बिगड़ जाता है।

बाइक चालक फिसलकर अपने हाथ- पैर जख्मी कर लेता है। यदि गड्ढा बचाने का प्रयास करता है तो उसकी सीधी भिड़त खंभों से हो जाती है।

जिम्मेदारी नपा की है

^आंधी,तूफान और निर्माण के दौरान जो खंभेे टूटे होंगे और हमारे अधिकार में होंगे उन्हें ही हटवाने की कार्रवाई करेंगे। नपा के अधिकार क्षेत्र के पोल उन्हीं को बदलने होंगे। एसकेभंडारी, डीई मक्षेविविकं, बासौदा।

शहर के कई वाहन खंभे से टकराकर हुए क्षतिग्रस्त

स्टेशनरोड पर लाल बिल्डिंग के सामने करीब पांच साल से क्षतिग्रस्त खंभा रोड के डिवाइडर पर लगा है। यह खंभा ऊपर से सड़क की ओर झुका हुआ है। वाहन ओवर टेक करने के दौरान जैसे ही साइड देने की कोशिश करते हैं उनका वाहन खंभेे से टकरा जाता है। मनोहर चौरसिया, विपुल कुमार दुबे, पन्नालाल मालवीय की कारें इस खंभेे से टकराकर क्षतिग्रस्त हो चुकी हैं। उनके हजारों रुपए वाहनों को ठीक करने में लगे हैं। इसके अतिरिक्त दर्जनों वाहन चालक इस खंभे से भिड़ चुके हैं।

टालरहे जिम्मेदारी

क्षतिग्रस्तखंभों को बदलने की जिम्मेदारी कोई लेने तैयार नही है। मामला बिजली कंपनी और नपा एक दूसरे पर टाल रहे हैं। बिजली कंपनी के अधिकारियों का कहना है कि सड़क के बीच में नपा ने पोल लगाए हैं। उन्हें बदलना है जबकि नपा का कहना है स्ट्रीट लाइट का बिल बिजली कंपनी को देते हैं। खंभे कंपनी ही लगाती बदलती हैं। जबकि स्टेशन रोड पर लगे पोलों को छोड़ दे तो शेष पोल बिजली कंपनी के अधिकार क्षेत्र में हैं। उन्हें भी नहीं बदला जा रहा है। स्टेशन मार्ग पर सड़क के बीच ऐसे दो पोल लगे हैं। वे भी मुख्य सबसे व्यस्त मार्ग पर। ये खंभे हादसों का कारण बन रहे हैं।

पत्रलिखा जाएगा

^खंभेेबदलने की जवाबदारी बिजली कंपनी की है। उसे खंभे बदलने के लिए पत्र लिखा जाएगा। सुधीरउपाध्याय, सीएमओ नपा गंजबासौदा।

ShareGoogle+FacebookLinkedInTwitterStumbleUponEmail

comments

About Pradeep Rajpoot

Pradeep Rajpoot is a social activist, businessman and editor in chief of Betwa Anchal weekly news paper.
Scroll To Top