दिनांक 28 May 2018 समय 1:32 PM
Breaking News

तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी चोटिल

ShareGoogle+FacebookLinkedInTwitterStumbleUponEmail

shai_1424914077पर्थ. वर्ल्ड कप-2015 में अपना खिताब बचाने उतरी भारतीय टीम को करारा झटका लगा है। स्ट्राइक बॉलर मोहम्मद शमी चोटिल हो गए हैं। मीडिया सूत्रों की माने तो मोहम्मद शमी पर्थ में एक हॉस्पिटल में एक्सरे के लिए गए थे। वहां उन्हें एक्सरे रूम में दो घंटे तक रखा गया। बता दें कि मोहम्मद शमी सहित भारतीय टीम पर्थ में है, जहां उसे 28 मार्च को यूएई के खिलाफ अपना तीसरा ग्रुप मैच खेलना है।अभी पुष्टि नहीं

मोहम्मद शमी के चोटिल होने की अभी तक पुष्टि नहीं की गई है। शमी ने पर्थ के वाका क्रिकेट मैदान पर टीम इंडिया के अन्य खिलाड़ियों के साथ प्रैक्टिस सेशन में भी भाग लिया था। टीम इंडिया का वर्ल्ड कप में अगला मुकाबला यूएई से होना है। ऐसे में अगर शमी टीम से बाहर हो जाते हैं, तो इससे टीम इंडिया को एक बड़ा झटका लगेगा। उसकी गेंदबाजी पर भी खासा असर पड़ेगा। बता दें कि टीम इंडिया ने पिछले दो मैच मैचों में पाकिस्तान और साउथ अफ्रीका के खिलाफ बॉलिंग की बदौलत ही जीत पाई है। इन दोनों मुकाबलों में शमी की बॉलिंग सबसे बेहतर रही है।
भुवी पहले से चोटिल
भारतीय टीम के लिए शमी का चोटिल होना इसलिए भी खतरनाक है, क्योंकि तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार पहले से चोटिल हैं। उम्मीद जताई जा रही थी कि वह साउथ अफ्रीका के खिलाफ मैच में खेलेंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। उल्लेखनीय है कि इशांत शर्मा चोट के कारण ही वर्ल्ड कप से बाहर हुए थे। उनकी जगह मोहित शर्मा को शामिल किया गया है।
दो तरीके से की फील्डिंग की प्रैक्टिस
विश्वास से लबरेज टीम इंडिया ने अभ्यास का नया तरीका आजमाया। खिलाड़ियों ने सिर्फ फील्डिंग की प्रैक्टिस की। वह भी दो टीमों में बंटकर। इसे भी दो तरीकों में बांटा गया। पहला ‘डमी कैच’ और दूसरा ‘फील्डिंग मैच’। ‘डमी कैच’ के स्टार परफॉर्मर रैना, जडेजा और कोहली रहे। यह तरीका खिलाड़ियों के रिफ्लेक्स एक्शन बेहतर करने के लिए किया गया। यह काफी रोचक था। सहायक कोच संजय बांगड़ ने चार समूहों में खिलाड़ियों को बांटा। चार फील्डरों का समूह बांगड़ से 10 मीटर दूर खड़ा हुआ। बांगड़ जैसे ही अपने रैकेट से टेनिस गेंद को मारते, सामने वाला पहला ‘डमी’ फील्डर सामने से हट जाता। इससे दूसरे फील्डर को कैच करने का वक्त एक सेकंड से भी कम मिलता। इसलिए रिफ्लेक्स इस प्रैक्टिस में सबसे अहम साबित हुआ।
चोटिल अभिषेक अस्पातल में भर्ती
मुंबई के अभिषेक नायर के सिर में चिन्नास्वामी स्टेडियम में कर्नाटक के खिलाफ रणजी ट्रॉफी सेमीफाइनल मैच के दौरान चोट लग गई, लेकिन वह खतरे से बाहर हैं। नायर को बाद में बेंगलुरु के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया। मुंबई क्रिकेट संघ (एमसीए) के संयुक्त सचिव नितिन दलाल ने बताया, “नायर सिर में चोट लगने के बाद कुछ समय के लिए बेहोश हो गया था और फिर वह लोगों को पहचान नहीं पा रहा था। उसे अस्पताल ले जाया गया जहां सीटी स्कैन किया गया, जिससे पता चला कि अब उन्हें खतरा नहीं है।” उन्होंने कहा, “वह खतरे से बाहर हैं, लेकिन उन्हें एक दिन के लिए डाक्टरों के निरीक्षण में रखा गया है।” दलाल से पूछा गया कि क्या नायर पांच दिवसीय मैच में आगे भाग लेंगे, उन्होंने कहा कि यह टीम प्रबंधन पर निर्भर करता है। यह आलराउंडर तब चोटिल हो गया जब वह अपनी गेंदबाजी पर शॉट रोकने के प्रयास में गिर गए और उनका सिर जमीन पर लगा। टीवी रीप्ले में उन्हें कुछ देर तक मैदान पर लेटे हुए दिखाया गया। उन्होंने ओवर पूरा किया, लेकिन इसके बाद वह मैदान से बाहर चले गए और उन्हें अस्पताल ले जाया गया। नायर मुंबई की पहली पारी में बल्लेबाजी नहीं कर पाए। मुंबई की टीम पहली पारी में 44 रन पर ढेर हो गई थी
ShareGoogle+FacebookLinkedInTwitterStumbleUponEmail

comments

About Pradeep Rajpoot

Pradeep Rajpoot is a social activist, businessman and editor in chief of Betwa Anchal weekly news paper.
Scroll To Top