आईएसआईएस टीन टेररिज्म से दहलाना चाहता है अमेरिका को | BetwaanchalBetwaanchal आईएसआईएस टीन टेररिज्म से दहलाना चाहता है अमेरिका को | Betwaanchal
दिनांक 26 June 2019 समय 10:16 PM
Breaking News

आईएसआईएस टीन टेररिज्म से दहलाना चाहता है अमेरिका को

betwaanchal.com

betwaanchal.com

वॉशिंगटन. आतंकी संगठन आईएसआईएस दुनिया के सबसे ताकतवर देश अमेरिका को ‘टीन टेररिज्म’ से दहलाने की कोशिश कर रहा है। अमेरिकी जांच एजेंसी एफबीआई के आतंकवाद निरोधी विभाग के प्रमुख माइकल स्टेनबेक ने खुद यह बात स्वीकार की है। स्टेनबेक ने कहा है कि आईएसआईएस अमेरिका में 15 साल से कम उम्र के टीनएजर्स को रिक्रूट करने की कोशिश कर रहा है और एफबीआई के लिए इसे रोकना बेहद कठिन चुनौती है। एक इंटरव्यू के दौरान स्टेनबेक ने स्वीकार किया कि अमेरिका में हर आदमी पर नजर रखना संभव नहीं है और इसलिए हमारा काम बेहद कठिन है।स्टेनबेक ने अपनी परेशानी जाहिर करते हुए कहा कि यदि कोई अमेरिकी घूमने के लिए यूरोप जाए और वहां से वह सीरिया और इराक जाकर आईएस से ट्रेनिंग लेकर वापस आए, तो ऐसे कितने लोगों पर नजर रखी जा सकती है। उन्होंने माना कि पेरिस में हुए आतंकी हमले के बाद यह आशंका है कि ऐसा कोई हमला अमेरिका में भी हो सकता है। स्टेनबेक ने कहा कि अमेरिका में भी कुछ लोग आईएसआईएस के संपर्क में हैं और वे देश में किसी साजिश को अंजाम देना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि कुछ पेरेंट्स की भूमिका इस मामले में संदिग्ध है, क्योंकि वे अपने बच्चों को आतंकी ग्रुप्स में शामिल होने से नहीं रोकते।

महिलाओं को भर्ती करने की कोशिश
स्टेनबेक ने कहा कि आईएसआईएस पहला ऐसा संगठन है, जो महिलाओं को शामिल करने के लिए सोशल मीडिया पर कैंपेन चला रहा है। उन्होंने कहा कि जिन बच्चों के व्यवहार में अचानक बदलाव आए और उनका झुकाव कट्टरपंथ की तरफ देखा जाए, तो अभिभावक इसकी जानकारी दें या फिर खुद बच्चों पर निगरानी रखें betwaanchal.com

comments

About Pradeep Rajpoot

Pradeep Rajpoot is a social activist, businessman and editor in chief of Betwa Anchal weekly news paper.
Scroll To Top