दिनांक 25 June 2018 समय 2:16 AM
Breaking News

AAP सरकार के विज्ञापन पर भड़कीं बीजेपी-कांग्रेस, कोर्ट जाने की धमकी दी

ShareGoogle+FacebookLinkedInTwitterStumbleUponEmail

aap_ad1नई दिल्ली

आम आदमी पार्टी (आप) के नेतृत्व वाली दिल्ली सरकार की ओर से हाल में टीवी चैनलों पर दिए गए विज्ञापनों पर बीजेपी और कांग्रेस भड़क गई हैं। दोनों पार्टियों ने इसे हाल में सुप्रीम कोर्ट के आए फैसले के खिलाफ और महिला विरोधी बताया है। कांग्रेस और बीजेपी का कहना है कि ऐड में पुरुष घर में बैठे सिर्फ टीवी देख रहा है और महिला सब्जी लाने, बच्चे को स्कूल छोड़ने और खाना बनाने समेत सारे काम करती दिख रही हैं। सरकारी ऐड में केजरीवाल के कथित महिमामंडन पर ‘आप’ छोड़ चुके नेताओं ने भी सवाल उठाए हैं।

बीजेपी ने दिल्ली सरकार के विज्ञापन को सुप्रीम कोर्ट के आदेश का उल्लंघन बताते हुए कहा है कि अगर इन्हें तुरंत नहीं हटाया गया तो वह कोर्ट जाएगी। पार्टी के राष्ट्रीय सचिव आरपी सिंह ने बयान जारी कर कहा कि विज्ञापन में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का चेहरा नहीं दिखाया जा रहा रहा है, लेकिन नौ बार उनका नाम लेकर उन्हें मसीहा बताया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इसमें अन्य दलों के नेताओं, प्रशासनिक अधिकारियों, मीडिया को खलनायक की तरह पेश किया गया है। बीजेपी प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा ने इस विज्ञापन को झूठा और फरेब से भरा करार दिया है। उन्होंने कहा कि इसमें केजरीवाल ने खुद का प्रचार करवाया है।

बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने भी कहा कि यह विज्ञापन सुप्रीम कोर्ट के फैसले की भावना के खिलाफ है। उन्होंने कहा कि इसके अलावा विज्ञापन में महिला को इस तरह से चित्रित किया गया है, जैसे घर के काम ही उसकी नियति हो। उन्होंने कहा कि हम राजनेताओं का दायित्व है कि महिलाओं की स्थिति में सुधार लाने के लिए पहल करें और हम ही ऐसे विज्ञापन जारी करेंगे, तो यह सूरत कैसे बदलेगी। संबित पात्रा ने यह भी कहा कि केजरीवाल सरकार कहती है कि उसके पास सफाईकर्मियों को सैलरी देने और सरकार चलाने के लिए पैसे नहीं है, लेकिन छवि चमकाने के लिए हर सेकंड लाखों रुपये खर्च कर रही है।

गौरतलब है कि देश के सभी प्रमुख चैनल पर पिछले तीन दिनों से दिल्ली सरकार का यह विज्ञापन आ रहा है। इसके अलावा आज सभी प्रमुख अखबारों में भी सरकार ने अपनी कथित उपलब्धियों का जिक्र करते हुए फुल पेज का विज्ञापन दिया है। सूत्रों के मुताबिक, चार महीने के कार्यकाल में ‘आप’ सरकार अब तक टीवी, अखबारों और आउटडोर विज्ञापनों पर चार करोड़ रुपये खर्च कर चुकी है। दिल्ली सरकार के टीवी वाले विज्ञापन पर आम आदमी पार्टी का कहना है कि इसमें कुछ गलत नहीं है। पार्टी के नाता आशुतोष के मुताबिक, इस विज्ञापन में केजरीवाल का चेहरा नहीं दिखाया गया है इसलिए इसमें सुप्रीम कोर्ट के आदेश का उल्लंघन नहीं है।

कांग्रेस के नेता मुकेश शर्मा ने इस विज्ञापन पर आक्रोश जताते हुए कहा कि विज्ञापन में यह बताने की कोशिश की जा रही है केजरीवाल के विरोधी लोग चोर हैं। शर्मा ने कहा कि केजरीवाल के विरोधियों को इसमें बेईमान कहा जा रहा है, यह आपत्तिजनक है। उन्होंने भी इस विज्ञापन में महिला के गलत चित्रण का आरोप लगाया और कहा कि इसे तुरंत वापस लेना चाहिए।

सुप्रीम कोर्ट ने मई में अपने एक फैसले में कहा था कि सरकारी विज्ञापनों में नेताओं के फोटो का इस्तेमाल करके उनका महिमामंडन करना सही नहीं है। देश की सर्वोच्च अदालत ने कहा था कि सरकारी विज्ञापनों में प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति और मुख्य न्यायाधीश की तीस्वीर ही इस्तेमाल की जा सकती है

ShareGoogle+FacebookLinkedInTwitterStumbleUponEmail

comments

About Pradeep Rajpoot

Pradeep Rajpoot is a social activist, businessman and editor in chief of Betwa Anchal weekly news paper.
Scroll To Top