दिनांक 23 May 2018 समय 12:51 PM
Breaking News

हिलेरी क्लिंटन तीन दिन के दौरे पर मप्र पहुंची हैं। यहां उन्होंने महेश्वर और मांडू का भ्रमण किया।

ShareGoogle+FacebookLinkedInTwitterStumbleUponEmail

इंदौर।अमेरिका की पूर्व विदेश मंत्री और पूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन की पत्नी हिलेरी क्लिंटन सोमवार को महेश्वर से मांडू पहुंचीं। यहां बाज बहादुर और रानी रूपमति को लेकर उन्होंने जानकारी हासिल की। क्लिंटन के आने के पहले ही अमेरिकी एजेंसी के जवान उनकी सुरक्षा को लेकर चौंकन्ने दिखे। वे सुबह छह बजे ही मांडू पहुंच गए थे। क्लिंटन ने यहां जहाज महल, रानी रूपमति का महल सहित ऐतिहासकि इमारतों का भ्रमण किया।  सुबह साढ़े 11 बजे के करीब मांडू पहुंची क्लिंटन ने गाइड की मदद से प्रेम के प्रतीक मांडू के बारे में जानकारी हासिल की। गाइड ने सबसे पहले मांडू के 12 दरवाजों के बारे में जानकारी दी, ये वही दरवाजे हैं, जिन्हें पार किए बिना मांडू में एंट्री नहीं हो सकती है। इसके अलावा जहाज महल, जाे कि दो मानवनिर्मित तालाबों के बीच बनाया गया था। हिंडोला महल, जिसे टेड़ी दीवारों के कारण हिंडोला महल कहा जाता है। होशंगशाह की मस्जिद, जामी मस्जिद, नहर झरोखा, बाज बहादुर महल, रानी रूपमति महल और नीलकंठ महल को देखा। मांडू देखने पहुंचीं क्लिंटन के विश्राम के लिए तवेली महल परिसर में ही विशेष इंतजाम किए गए। इसके अलावा उन्हें मालवी भोजन भी परोसा गया।

निजी कार्यक्रम में आई हैं क्लिंटन

– हिलेरी क्लिंटन मप्र में तीन दिनी दौरे पर आई हैं। यह कार्यक्रम पूरी तरह से निजी और गोपनीय रखा गया था। वे शिवाजीराव होलकर के विशेष निमंत्रण पर यहां आई हैं। उनका पहले प्रोग्राम राजस्थान व अन्य स्थानों का था। बाद में उन्होंने अपने दौरे की शुरूआत मप्र से की। उनके साथ 16 लोगों की टीम यहां आई है। इसके अलावा चार विशिष्ट अतिथि भी शामिल हैं। मप्र सरकार ने उन्हें राज्य अतिथि का दर्जा दिया गया है। सुरक्षा की पूरी व्यवस्था अमेरिकी एजेंसी ने संभाल रखी है।

शिवाजीराव होलकर ने की अागवानी

– इंदौर से रविवार रात महेश्वर पहुंचीं क्लिंटन की अहिल्या फोर्ट में शिवाजीराव होलकर व युवराज यशवंत होलकर ने अागवानी की। अहिल्या फोर्ट होलट में उनके लिए चंपा, बुलबुल व कचनार में खास व्यवस्थाएं जुटाई गई थीं। विदेशी मेहमान के स्वागत के लिए पूरे होटल को विशेष प्रकार से सजा दिया गया है। डिनर में स्पेशल मीनू तैयार कराया था, जिसमें चपाती व कटहल की बिरयानी, नेपाल स्टाइल में आलू मटर की सब्जी, अनारदाने का रायता, मिक्स इंडियन कचुंबर सलाद व आमरस शामिल थे।

ऐसा है कार्यक्रम

– रविवार रात को विशेष विमान से इंदौर पहुंचीं। यहां करीब 20 मिनट एयरपोर्ट पर रुकने के बाद सड़क मार्ग से महेश्वर के लिए रवाना हो गईं।  रात करीब साढ़े 10 महेश्वर पहुंचीं। यहां उन्होंने अहिल्या फोर्ट पर रात गुजारी। सोमवार सुबह वे महेश्वर के ऐतिहासिक किले का भ्रमण किया और नर्मदा किनारे भी कुछ समय बिताया। उन्होंने देवी अहिल्या के आराध्य देव भोलेनाथ के भी दर्शन किए। सुबह करीब साढ़े 10 बजे वे मांडू के लिए रवाना हुईं। मांडू घूमने के बाद वे वापस महेश्वर लौटीं। यहां उन्होंने आहिल्या बाल ज्योति स्कूल, महेश्वरी हैंडलूम रेवा सोसायटी किला परिसर स्थित कार्यक्रम में भाग लिया। शाम को नर्मदा में नौका विहार करेंगी और रात्रि विश्राम भी यहीं पर करेंगी। मंगलवार सुबह वे महेश्वर से इंदौर वापस आएंगी और यहां से विशेष विमान से जोधपुर के लिए रवाना होंगी।

ShareGoogle+FacebookLinkedInTwitterStumbleUponEmail

comments

About Pradeep Rajpoot

Pradeep Rajpoot is a social activist, businessman and editor in chief of Betwa Anchal weekly news paper.
Scroll To Top