छत्तरगढ़ में टायर पंक्चर की दुकान में हथियार बनाने की एक फैक्ट्री पकड़ी गई है। | BetwaAnchal Daily News Portal
दिनांक 20 March 2019 समय 11:02 AM
Breaking News

छत्तरगढ़ में टायर पंक्चर की दुकान में हथियार बनाने की एक फैक्ट्री पकड़ी गई है।

जयपुर/बीकानेर. पाकिस्तान सीमा से 25 किलोमीटर पहले बीकानेर के छत्तरगढ़ में टायर पंक्चर की दुकान में हथियार बनाने की एक फैक्ट्री पकड़ी गई है। यहां पिस्टल और कारतूस के साथ काफी मात्रा में हथियार मिले हैं। हथियार मिलने की सूचना के बाद बीएसएफ का एक दल भी मौके पर पहुंचा।

Betwaanchal news

Betwaanchal news

कैसे फैक्ट्री का पता चला…
– एक युवक शुक्रवार को पुलिस को देखकर भागने लगा। उसका पीछा कर पकड़ा और तलाशी ली। उसके पास 315 बोर की एक बंदूक व पांच कारतूस मिले।
– इसके बाद उसे अरेस्ट कर थाने लाकर पूछताछ की तो उसने बताया कि एक पंक्चर की दुकान में हथियार बनता है।
– अरेस्ट युवक का नाम नोखा तहसील के बादनूं गांव निवासी मोडाराम (27) है।
– वह आठ साल से सत्तासर में ही टायर पंक्चर की दुकान चला रहा है।
– दुकान के पीछे एक कैबिन बनाया हुआ है। इसमें वह खुद ही हथियार बनाता है।
शनिवार सुबह पंक्चर की दुकान की तलाशी में बड़ी संख्या में अर्द्ध निर्मित बंदूकें, रिवाल्वर, कारतूस, हथियार बनाने की डाई आदि पड़े हुए मिले। सामानों को जब्त कर थाने लाया गया। एसपी अमनदीप ने बताया कि अब तक कहां-कहां हथियार बेचे, उसके साथ और कौन है। इन सब की पूछताछ के लिए उसे रिमांड पर लिया गया है।
आईबी भी कर रही है जांच
बीकानेर एसपी अमनदीप कपूर ने बताया कि एसपी अमनदीप ने बताया छत्तरगढ़ एसएचओ हंसराज लूणा रात एक बजे गश्त पर थे। मौके की जांच में अर्द्ध निर्मित हथियार देखकर छत्तरगढ़ एसएचओ हंसराज लूणा ने पुलिस दल के साथ घेरा डाला दिया। इसके बाद आला पुलिस अधिकारियों को सूचना दी गई। हथियार मिलने के बाद सी-आईबी, बीएसएफ व सेना इंटेलीजेंस और अन्य जांच एजेंसियों ने अपनी अपनी जांच शुरू कर दी है।
यूपी से तार जुड़े होने के संकेत
– एसपी अमनदीप ने बताया कि मोडाराम से पूछताछ में हथियार बनाने के तार यूपी से जुडे होने के संकेत मिले हैं।
– यूपी का कोई व्यक्ति इत्र बेचने के लिए सीमाई इलाके में आता था। उसी ने माडाराम को पिस्टल दी थी।
– इसके बाद उसने हथियार बनाना सिखाया। वह तीन साल से उससे जुड़ा हुआ है।
– सीमाई क्षेत्र में इत्र बेचने के बहाने हथियार बेचने और इलाके की रेकी करने की बात सामने आने से मामले की गहराई से जांच की जा रही है।

comments

About Pradeep Rajpoot

Pradeep Rajpoot is a social activist, businessman and editor in chief of Betwa Anchal weekly news paper.
Scroll To Top