दिनांक 19 October 2017 समय 3:22 AM
Breaking News

सिरोंज-आक्रोशित किसानों ने किसानों ने लगाया जाम

ShareGoogle+FacebookLinkedInTwitterStumbleUponEmail

bpl-n2588632-large (1)क्षेत्र के समर्थन मूल्य खरीदी केन्द्रों पर बारदाने की कमी दूर नहीं हो पा रही है। खरीदी केन्द्रों पर हजारों क्विंंटल अनाज खुले मैदान पर पड़ा हुआ है। न तो किसानों का माल तुल पा रहा है और न ही खरीदे गए गेहूं का परिवहन हो पा रहा है। व्यवस्था से परेशान क्षेत्र के किसानों ने बुधवार दोपहर में सिरोंज-बीना हाइवे पर चक्काजाम कर दिया। पुलिस और प्रशासन के आश्वासन के बाद चक्का जाम समाप्त हुआ।

खरीदी केन्द्रों पर पसरी अव्यवस्थाओं की वजह से क्षेत्र के किसानों में निराशा व्याप्त हो गई है। कई केन्द्रों पर किसान एक पखवाड़े से अपनी उपज की तुलाई का इंतजार कर रहे हैं लेकिन उनकी उपज नहीं तुल पा रही है। किसानों की यह परेशानी न तो सोसायटी प्रबंधकों को दिखाई दे रही है और न ही प्रशासन को। ग्रामीण क्षेत्रों में खेतों में बनाए गए खरीदी केन्द्रों पर रखे अपने माल की सुरक्षा खुद किसानों को करना पड़ रही है। पंद्रह दिन से अधिक समय से केन्द्रों पर रखी अपनी उपज की सुरक्षा में ही किसानों के हजारों रुपए खर्च हो गए हैं। पंद्रह दिन से बारदाना नहीं मिलने से परेशान क्षेत्र के किसानों ने बुधवार दोपहर में बीना-सिरोंज स्टेट हाईवे पर ग्राम पथरिया में थाने के सामने चक्का जाम कर दिया। सियलपुर सोसायटी के ग्राम पथरिया एवं सियलपुर स्थित खरीदी केन्द्र के किसान इस चक्काजाम में शामिल हुए। किसान नेता सुरेन्द्र रघुवंशी एवं नरेन्द्र पाटीदार के नेतृत्व मेें हुए इस चक्काजाम के दौरान किसानों द्वारा प्रशासन की अव्यवस्था के खिलाफ जबरदस्त नारेबाजी की जा रही थी। चक्काजाम में शामिल किसान नीलमसिंह रघुवंशी ने बताया कि सियलपुर एवं पथरिया स्थित केन्द्र पर बड़ी संख्या में किसानों को अपनी उपज तुलवाने के लिए लंबा इंतजार करना पड़ रहा है। सोसायटी प्रबंधकों द्वारा हर बार किसानों से बारदाना नहीं होने की बात कही जा रही है। किसानों का कहना था कि जब सरकार ने पंजीयन पहले से करवा लिया था तो फिर बारदाने का प्रबंध भी करना चाहिए था। करीब आधा घंटे तक चले चक्काजाम को खत्म करने के लिए पथरिया थाना प्रभारी अंबिका प्रसाद पांडे भी जवानों के साथ किसानों से चर्चा करने पहुंचे। लेकिन किसानों ने उन्हें वापस लौटा दिया। इसी बीच सिरोंज तहसीलदार मनीष शर्मा मौके पर पहुंचे तथा किसानों से चर्चा की। श्री शर्मा द्वारा किसानों को शीघ्र ही बारदाना उपलब्ध कराने का आश्वासन दिए जाने के बाद चक्काजाम समाप्त हुुआ। इस चक्काजाम के दौरान स्टेट हाईवे पर दोनो ओर वाहनों की कतार लगी दिखाई दी।

शहर के लटेरी रोड स्थित खरीदी केन्द्र पर एक पखवाड़े बाद मंगलवार शाम को बारदाने की 45 गठानें आई थी। बारदाने की ये गठानें केन्द्र पर रखी किसानों की उपज की तुलना में बेहद कम दिखाई देने पर सोसायटी प्रभारी द्वारा किसानों को ये गठानें मंगलवार को नहीं दी गई। इस केन्द्र पर किसानों का करीब पचास हजार क्विंटल माल तुलाई का इंतजार कर रहा है। केन्द्र प्रभारी राजेश शर्मा ने बताया कि केेन्द्र पर रखी किसानों की उपज की तुलना में काफी कम बारदाना मंगलवार को आया है। इस वजह से बारदाने का वितरण रोक दिया गया है। बुधवार को बारदानों की एक और गाड़ी आने की संभावना है। इस गाड़ी के आने के बाद सभी किसानों को बारदाना वितरण कर उपज की नियमानुसार तौल की जाएगी।

ShareGoogle+FacebookLinkedInTwitterStumbleUponEmail

comments

About Pradeep Rajpoot

Pradeep Rajpoot is a social activist, businessman and editor in chief of Betwa Anchal weekly news paper.
Scroll To Top