दिनांक 20 August 2018 समय 1:07 AM
Breaking News

विदिशा-लोहांगी पहाड़ी का पर्यटन विभाग द्वारा किया जा रहा सौंदर्यीकरण

ShareGoogle+FacebookLinkedInTwitterStumbleUponEmail

1_1426484956 (1) 2_1426484961हर की लोहांगी पहाड़ी का पर्यटन विभाग द्वारा किया जा रहा सौंदर्यीकरण।
विदिशा। शहर के बीच में स्थित 61 मीटर ऊंची लोहांगी पहाड़ी के सौंदर्यीकरण का कार्य इन दिनों मप्र पर्यटन विकास निगम द्वारा किया जा रहा है। पहाड़ी के चारों ओर रेलिंग लगाई गई है। चारों दिशाओं में घूमने के लिए पाथ वे बनाया गया है। रोशनी के लिए नए लैंप लगाए गए है। इसके साथ ही पर्यटकों को बैठने के लिए चार आकर्षक छतरियां बनाई गई हैं। कचरा डालने के लिए डस्ट बिन रखे गए हैं। नए लेट-बाथ बनाने के साथ सौंदर्यीकरण का कार्य जारी है। इस ऐतिहासिक पहाड़ी पर चढऩे के लिए पहली सीढ़ी से ही आकर्षक पेवर ब्लाक लगाए हैं।

पहाड़ी के शीर्ष तक पहुंचने के लिए पर्यटकों को 130 सीढिय़ां चढऩी पड़ती है। पहाड़ी का वह हिस्सा जो रहवासियों की वजह से सर्वाधिक गंदा रहता था वह स्थान अब फर्शियों से प्लेन किया गया है। पहाड़ी पर यहां-वहां बिखरी मूर्तियों को आकर्षक ढंग से सीढिय़ों के पास संजोया गया है। इससे यहां की खूबसूरती और बढ़ गई है। इस बदलाव के बाद अब शहर के लोगों सहित सैलानियों के लिए भी यह एक अच्छा स्पाट बन गया है।

रेलिंग ने बढ़ाई सुरक्षा : पूर्व में पहाड़ी के चारों ओर सुरक्षा की दृष्टि से कोई प्रबंध नहीं थे। लगभग दो वर्ष पहले जिला पुरातत्व संग्रहालय ने चारों ओर लोहे की रेलिंग लगवाकर पर्यटकों को वहां सुरक्षित ढंग से खड़े होकर शहर का विहंगम दृश्य देखने का अवसर उपलब्ध कराया है। यह रेलिंग अब मजार के पास से ही लगाई गई है। इसी प्रकार शाम पांच बजे के बाद पहाड़ी पर अवांछित तत्वों को रोकने के लिए पांच गेट लगाए गए हैं। इसी प्रकार नीचे से ऊपर तक पत्थर की14 सीट्स लगाई गई है।
लाल-सफेद पत्थर से बनी छतरियां : पर्यटक विकास निगम ने पहाड़ी पर लाल पत्थर से बनी चार छतरियों का निर्माण किया है। यहां बैठकर पर्यटक कुछ पल सुस्ता सकते हैं। फोटो सेशन के दृष्टि से भी ये छतरियां आकर्षक है। भविष्य में यहां हट बनाए जाने का भी प्रावधान है। यहां आने वाले लोग कचरा यहां-वहां न फेंके इसलिए पहाड़ी पर छह डस्टबिन भी रखे गए हैं।
रात में रोशनी से जगमगाती है पहाड़ी : पूरी पहाड़ी पर मप्र पर्यटन विकास निगम ने 40 सुंदर लैंप लगाए हैं। जो रात में पूरी पहाड़ी का अद्भुत नजारा प्रस्तुत करते हैं। इसी लाइटिंग की वजह से लोग पहाड़ी की ओर आकर्षित हो रहे हैं। हालांकि पिछले कुछ दिनों से फाल्ट आ जाने की वजह से ये लेंप जल नहीं रहे हैं।
ShareGoogle+FacebookLinkedInTwitterStumbleUponEmail

comments

About Pradeep Rajpoot

Pradeep Rajpoot is a social activist, businessman and editor in chief of Betwa Anchal weekly news paper.
Scroll To Top