दिनांक 23 April 2018 समय 10:39 PM
Breaking News

महाराष्ट्र में बनेगी देश की पहली सिक्यॉरिटी यूनिवर्सिटी

ShareGoogle+FacebookLinkedInTwitterStumbleUponEmail

Fadanavisमुंबई

सुरक्षा क्षेत्र में काम करने के लिए देश में प्रशिक्षित लोगों की संख्या बेहद ही कम है। इसे देखते हुए महाराष्ट्र सरकार राज्य में अत्याधुनिक सिक्यॉरिटी यूनिवर्सिटी स्थापित करने जा रही है। इस यूनिवर्सिटी में पढ़ने के लिए आने वाले छात्रों को अमेरिका से आए विशेषज्ञ पढ़ाएंगे। अमेरिका के बाद दुनियाभर में महाराष्ट्र ऐसा पहला राज्य होगा जहां सिक्यॉरिटी यूनिवर्सिटी स्थापित की जाएगी।

इस सिलसिले में अमेरिका से आई एक टीम ने गत दिनों गृह विभाग के अधिकारियों के सामने प्रजेंटेशन दिया था। उस प्रजेंटेशन से गृह विभाग ही नहीं खुद मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस भी काफी प्रभावित हुए। मुख्यमंत्री ने विशेष रूची भी दिखाई है। बताया जा रहा है कि मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस चाहते हैं कि सिक्यॉरिटी यूनिवर्सिटी उनके गृह जिले नागपुर में स्थापित की जाए। इसके पीछे उन्होंने तर्क दिया है कि सिक्यॉरिटी यूनिवर्सिटी स्थापित करने के लिए कम से कम 100 हेक्टेयर जमीन लगेगा और दूसरा यह कि नागपुर देश का सेंट्रल पॉइंट है जहां से देशभर में कहीं पर भी कम समय में पहुंचा जा सकता है।

सिक्यॉरिटी यूनिवर्सिटी में किसे प्रवेश दिया जाएगा, वहां पर पढ़ाई करने वाले छात्र कौन होंगे? इस संबंध में अभी तक कोई निर्णय नहीं लिया गया है। यूनिवर्सिटी मे सिलेबस क्या होगा? इसका खाका तैयार किया जा रहा है। वैसे माना जा रहा है कि वहां पर साइबर लॉ, आईटी लॉ, बुध्दिमत्ता के अलावा सुरक्षा से संबंधित आधुनिक उपकरण, तकनीकि, केमिकल हथियार, बायॉ तकनीकि जैसे सुरक्षा से संबंधित अन्य विषय शामिल किए जाएंगे। सुरक्षा से संबंधित वर्तमान और भविष्य में आने वाले चुनौतियों के बारे में विस्तार से जानकारी मुहैया कराया जाएगा। इस तरह के यूनिवर्सिटी के गठन के पीछे तक दिया जा रहा है कि देश-दुनिया में आतंकवादी घटनाओं का स्वरूप बदल रहा है। उनके हमले करने के तरीके बदल रहे हैं। ऐसे में उनका मुकाबला करने के लिए, उनसे आगे सोचना और उनके घटनाओं पर ब्रेक लगना ही यूनिवर्सिटी का मकसद है।

इस संबंध में मुख्यमंत्री के प्रिंसिपल सेक्रेटरी प्रवीण सिंह परदेशी करते हैं कि यह मुख्यमंत्री का आइडिया है और यह अभी प्राइमरी स्टेज पर है। सभी बहुत कुछ तय किया जाना है। वे कहते हैं कि यह सच है कि इस तरह की सिक्यॉरिटी यूनिवर्सिटी समय की आवश्यकता है। वे कहते हैं कि आज सिक्यॉरिटी यूनिवर्सिटी समय की मांग है।

ShareGoogle+FacebookLinkedInTwitterStumbleUponEmail

comments

About Pradeep Rajpoot

Pradeep Rajpoot is a social activist, businessman and editor in chief of Betwa Anchal weekly news paper.
Scroll To Top