दिनांक 17 October 2017 समय 5:15 AM
Breaking News

भोपाल-अविवाहित बेटी हुई गर्भवती–एक ही परिवार के चार लोगों ने दी जान

ShareGoogle+FacebookLinkedInTwitterStumbleUponEmail
img-20150619-wa0017_14347img-20150619-wa0019_14347 20-sdl-11_1434724878 img-20150619-wa0018_14347भोपाल. एक ही परिवार के चार लोगों ने गुरुवार देर रात डैम में कूद कर सामूहिक आत्महत्या कर ली। यह घटना शहडोल जिले के गोहपारू थाने के तहत मलमाथर गांव की है। पुलिस को हादसे की जानकारी शुक्रवार को हुई। इस परिवार का 15 साल का एक बेटा किसी तरह अपनी जान बचाने में सफल रहा। मरने वालों में माता-पिता और बेटी-बेटा शामिल हैं। बताया जा रहा है कि इस परिवार की 19 साल की बेटी शादी से पहले गर्भवती हो गई थी। गांव के एक युवक के साथ उसका प्रेम संबंध था। लड़का भीमसेन शादी के लिए तैयार नहीं था। लिहाजा, शर्मिंदगी से बचने के लिए परिवार ने मरने का फ़ैसला किया।
यह सनसनीखेज घटना गुरुवार-शुक्रवार की दरमयानी रात लगभग एक बजे की है। रामभारत सिंह पिता जबर सिंह (45), उसकी पत्नी प्रेमबाई (42), पुत्र विनोद सिंह (14) तथा पुत्री सविता (परिवर्तित नाम) 19 वर्ष की पानी में डूबने से मौत हो गई। जबकि पुत्र संतोष सिंह (15) ने भागकर अपनी जान बचाई। इस हृदयविदारक घटना का कारण पुत्री के प्रेम प्रसंग को माना जा रहा है। वह गर्भवती हो गई थी। बदनामी के डर से परिवार के मुखिया रामभारत सिंह द्वारा यह कदम उठाया गया। पुलिस ने मृतक लड़की के कथित प्रेमी भीमसेन एवं उसके पिता दौली को इस हादसे का जिम्मेदार मानते हुए गिरफ्तार कर लिया है। दोनों के विरुद्ध दुराचार एवं आत्महत्या के लिए उकसाने लिए धारा 376 एवं 306 के तहत प्रकरण दर्ज कर कार्रवाई की गई है।
रात में दी गांव में खबर
रात में लगभग 3 बजे संतोष ने गांव वालों को बताया, तब घटना की जानकारी हुई। सुबह गोहपारू थाने को सूचना दी गई। सूचना मिलते ही पुलिस अधीक्षक सुशांत सक्सेना, डीएसपी एसके सिंह, एसडीएम एसपी मिश्रा और टीआई प्रशांत सेन सहित अन्य पुलिसकर्मी घटनास्थल पर पहुंच गए।
प्रेम में मिला धोखा
डीएसपी एसके सिंह ने बताया कि मृतक यशोदा सिंह का गांव के ही भीमसेन सिंह पिता दौली सिंह (22) नाम के युवक के साथ प्रेम प्रसंग चल रहा था। इस बात की जानकारी परिवार वालों को लग गई थी और यशोदा गर्भवती भी हो गई थी। परिवार वाले दोनों की शादी करना चाहते थे। इसके लिए 16 जून को रिश्तेदारों और समाज के अन्य लोगों के साथ बातचीत की गई थी, लेकिन मामला सुलझा नहीं। धीरे-धीरे समाज और रिश्तेदारों में यशोदा सिंह के मामले की बात फैलने लगी थी। लोकलाज से यशोदा के पिता रामभारत सिंह ने फैसला किया कि पूरे परिवार के साथ जान दे दें, वही अच्छा होगा।
गुरुवार की देर रात परेशान पिता पूरे परिवार को लेकर डैम के पास गया और वहां नायलॉन की रस्सी से सबको अपने साथ बांध लिया। इस बीच बड़ा बेटा भाग गया, लेकिन रामभारत अपनी पत्नी, बेटी व छोटे बेटे के साथ डैम के 20 फीट गहरे पानी में कूद गया। जब तक लोगों को पता लगा, तब तक चारों की मौत हो चुकी थी।
सरपंच के मुताबिक
ग्राम पंचायत मलमाथर की सरपंच झिरिया बाई ने बताया कि रामभारत सिंह की बेटी के मामले को लेकर 16 जून की शाम छह बजे बैठक हुई थी, जिसमें समाज के छह-सात लोग मौजूद थे। लड़की के मामा अमर शाह और दादा जबर सिंह भी बैठक में थे। इनके अलावा, सुंदर सिंह सहित कई लोग थे। झिरिया बाई ने बताया कि वह बैठक में नहीं जा पाई थी, लेकिन इस बात की जानकारी उसे है कि बैठक हुई थी और बात नहीं बन पाई थी। मृतक रामभारत के बताए अनुसार, उसकी बेटी का प्रेम प्रसंग भीमसेन सिंह के साथ था। उसका बेटा संतोष भी यह बता रहा है कि उसकी बहन को लेकर पिता परेशान थे और उसी बात को लेकर वह जान देने के लिए सपरिवार डैम के पास गए थे।
दर्ज हुआ मामला
गोहपारू टीआई टीआई प्रशांत सेन ने बताया कि आरोपी भीमसेन सिंह के खिलाफ धारा 376, 306 के तहत अपराध दर्ज कर लिया गया है। टीआई ने बताया कि आरोपी को जल्दी ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस युवक के कारण ही पूरे परिवार की मौत हुई है। आगे मामले की विवेचना की जा रही है। टीआई ने बताया कि मृतक आदिवासी परिवार से था और खेती-बाड़ी व मेहनत-मजदूरी करके परिवार का भरण-पोषण करता था।
ShareGoogle+FacebookLinkedInTwitterStumbleUponEmail

comments

About Pradeep Rajpoot

Pradeep Rajpoot is a social activist, businessman and editor in chief of Betwa Anchal weekly news paper.
Scroll To Top