दिनांक 21 July 2018 समय 11:06 PM
Breaking News

‘न्यू होराइजन्स’ स्पेसक्राफ्ट द्वारा भेजी गई प्लूटो की नई फोटो– बर्फीले पहाड़ के साथ दिखा सनसेट

ShareGoogle+FacebookLinkedInTwitterStumbleUponEmail

nasa1_1442565165 (1)अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा के ‘न्यू होराइजन्स’ स्पेसक्राफ्ट ने प्लूटो ग्रह की नई फोटोज भेजी हैं। इस बार की फोटोज में प्लूटो की ब्यूटी देखकर साइंटिस्ट अचंभे में हैं। इसमें प्लूटो की सतह पर बर्फीले पहाड़, नाइट्रोजन फॉग, समतल सतह के साथ सनसेट भी देखा जा सकता है। न्यू होराइजन्स ने प्लूटो के 1250 किमी एरिया को कवर किया है। 14 जुलाई को सिर्फ 15 मिनट के लिए स्पेसक्राफ्ट प्लूटो के सबसे नजदीक 12,500 किलोमीटर की दूरी से गुजरा था। उस समय उसने 11 हजार किमी ऊंचे बर्फीले पहाड़ों की फोटोज भेजी थीं।

58,536 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से बढ़ रहा स्पेसक्राफ्ट
पृथ्वी से प्लूटो की दूरी 7.5 अरब किलोमीटर है। स्पेसक्राफ्ट 58,536 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से अपने मिशन की ओर बढ़ रहा है। ‘न्यू होराइजन्स’ अपनी रफ्तार बढ़ाने के लिए प्लूटो की ग्रैविटी (गुरुत्वाकर्षण) का ही इस्तेमाल करेगा और बाहरी सौर मंडल में अपना रास्ता बनाएगा। न्यू होराइजन्स की स्पीड दुनिया के सबसे तेज उड़ने वाले प्लेन अमेरिकन आर्मी के एसआर-71 लॉकहीड से 16 गुना से भी ज्यादा है। एसआर-71 लॉकहीड की टॉप स्पीड 3540 किलोमीटर प्रति घंटा है। 19 जनवरी, 2006 में ‘न्यू होराइजन्स’ को इस मिशन के लिए रवाना किया गया था।

2026 में पूरा होगा मिशन
मिशन प्लूटो के बाद स्पेसक्राफ्ट क्वीपर बेल्ट जाएगा और 2020 तक इससे जुड़ी जानकारियां जुटाएगा। ये मिशन आधिकारिक तौर पर 2026 में पूरा होगा।

क्या है क्वीपर बेल्ट?
ये ग्रहों से बाहर सोलर सिस्टम (सौर मंडल) का ही एक हिस्सा है। क्वीपर बेल्ट तीन बौने ग्रहों-प्लूटो, हौमिया और मेकमेक का घर है। इस पर ग्रहों की ही तरह गोल और बड़े पिंड हैं। लेकिन इन्हें ग्रह नहीं माना जाता है।
ShareGoogle+FacebookLinkedInTwitterStumbleUponEmail

comments

About Pradeep Rajpoot

Pradeep Rajpoot is a social activist, businessman and editor in chief of Betwa Anchal weekly news paper.
Scroll To Top