चिट्ठी लीक हुई तो खुली पोल, केजरीवाल बिना चुनाव चाहते थे दिल्ली की सत्ता? | BetwaanchalBetwaanchal चिट्ठी लीक हुई तो खुली पोल, केजरीवाल बिना चुनाव चाहते थे दिल्ली की सत्ता? | Betwaanchal
दिनांक 27 May 2019 समय 2:30 PM
Breaking News

चिट्ठी लीक हुई तो खुली पोल, केजरीवाल बिना चुनाव चाहते थे दिल्ली की सत्ता?

8348_untitled

नईदिल्ली। आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली की जनता से माफी मांगी है। उन्होंने बुधवार को कहा कि मुख्यमंत्री पद से इस्तीफ देना उनकी गलती थी। उन्होंने जनता से पूछे बिना यह फैसला लेने पर आफसोस जताया और कहा कि अब अगले चुनाव की तैयारी के दौरान वह सभाओं के जरिए लोगों तक अपनी यह भावना पहुंंचाएंगे। लेकिन, इससे पहले केजरीवाल ने दोबारा दिल्ली में सरकार बनाने की भरसक कोशिश की। इस संबंध में उन्होंने उपराज्यपाल को चिट्ठी तक लिख डाली। तुर्रा यह कि इस चिट्ठी के बारे में उन्होंने मीडिया को जानकारी तक नहीं दी। जब वह मंगलवार को उपराज्यपाल से मिल कर निकले तो मीडिया से बस इतना पोल खुली कि उन्होंने उपराज्यपाल से कुछ मोहलत मांगी थी, ताकि सरकार बनाने की कोशिशें को परवान चढ़ाया जा सके। लेकिन, कुछ ही घंटे के भीतर केजरीवाल को यह अहसास हो गया कि सरकार बनाना मुमकिन नहीं है। क्योंकि, कांग्रेस और शोएब इकबाल ने समर्थन देने से साफ इनकार कर दिया। भाजपा ने भी केजरीवाल को मिस्टटर यू टर्न कह कर समर्थन नहीं देने का संकेत दे दिया। इन संकेतों के बाद बुधवार को केजरीवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बता दिया कि अब सरकार बनाना संभव नहीं है, इसलिए चुनाव की तैयारी में जुटा जाएगा।
केजरीवाल और उनके मंत्रियों ने इसी साल 14 फरवरी को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था और विधानसभा को तुरंत भंग कर फिर से चुनाव करने की सिफारिश की थी। लेनिक उपराज्यपाल नजबी जंग ने विधानसभा भंग नहीं की थी। आप ने उनसे अपील की कि वे कुछ दिन और विधानसभा भंग नहीं करें, ताकि सरकार बनाई जा सके। लेकिन, जेडीयू के टिकट पर विधायक चुने गए शोएब इकबाल ने कहा कि इस बार वह आप को समर्थन नहीं देंगे। बीजेपी नेता हर्षवर्धन ने भी निशाना साधते हुए कहा कि लोग अब आम आदमी पार्टी की असलियत जान चुके हैं। राजधानी दिल्ली में दोबारा से विधानसभा चुनाव कराने की मांग को लेकर कोर्ट की शरण में लेने और कांग्रेस का समर्थन न लेने की बात कहने वाली आम आदमी पार्टी के सीनियर नेताओं ने मंगलवार को पलटी मार ली। आप के नेताओं ने उप राज्यपाल नजीब जंग से मिलकर विधानसभा भंग न करने की मांग की।
मंगलवार सुबह केजरीवाल ने दिल्ली के उप राज्यपाल नजीब जंग से मुलाकात की, जिसे आप के नेता आशुतोष ने सामान्य शिष्टाचार भेंट करार दिया। लेकिन मंगलवार रात तक वह चिट्ठी लीक हो गई, जिसमें केजरीवाल ने विकल्पों पर विचार करने के लिए जंग से थोड़ा और वक्त मांगा था। मंगलवार सुबह आप ने कहा था कि वह शाम तक एक महत्वपूर्ण एलान करेगी।

comments

About Pradeep Rajpoot

Pradeep Rajpoot is a social activist, businessman and editor in chief of Betwa Anchal weekly news paper.
Scroll To Top