दिनांक 25 April 2018 समय 4:10 PM
Breaking News

घर में घुसे तेंदुए को रेस्क्यू कर पकड़ा, 5बार चूका निशाना, 6वीं बार में हुआ बेहोश

ShareGoogle+FacebookLinkedInTwitterStumbleUponEmail

इंदौर।पल्लर नगर क्षेत्र में शुक्रवार सुबह एक तेंदुए के दहशत से करीब दो घंटे तक लोग घरों में दुबकने पर मजबूर हो गए। घर के भीतर दुबके बच्चे और बड़े खिड़की से झांककर तेंदुए को देखने की कोशिश करते रहे। सूचना के बाद मौके पर पहुंची फॉरेस्ट टीम ने कड़ी मेहनत के बाद रेस्क्यू कर तेंदुए को कपड़ा। 5 बार निशाना चुकने के बाद 6वें प्रयास में टीम तेंदुए को बेहोशी का इंजेक्शन लगाने में सफल रही। तेंदुए के बेहोश होने बाद टीम ने उसे जाल में कैद कर लिया। टीम तेंदुए को चिड़ियाघर लेकर पहुंची।

शुक्रवार सुबह करीब 11 बजे एयरपोर्ट क्षेत्र में 60 फीट चौड़ी रोड स्थित पल्लर नगर के लोगों ने काॅलोनी में एक तेंदुए को घूमते हुए देखा। कुछ लोगों ने तेंदुए को देखकर भी अनदेखा कर दिया और अपने काम में लग गए, लेकिन जैसे ही तेंदुए के कॉलोनी में होने की खबर फैली, सब अपने घर की ओर दौड़े। परिजन बच्चाें को देखने लगे की कहीं वो बाहर तो नहीं हैं। दहशत में अाए कॉलोनीवासियों ने खुद को कमरे में कैद कर लिया और खिड़की से झांककर तेंदुए को देखने की कोशिश करने लगे। कुछ लोगों ने पुलिस और वन विभाग की टीम को तेंदुए के काॅलोनी में होने की सूचना दी। सूचना के करीब 20 मिनट बाद टीम मौके पर पहुंची और तेंदुए के बारे में जानकारी ली। इस दौरान लोगों को देख तेंदुआ भी सुरक्षित स्थान देखने लगा। भागने के दौरान तेंदुए के सामने गोपाल लांबा आ गया और तेंदुए ने उस पर हमला कर दिया। गनीमत रही कि तेंदुआ खुद डरा हुआ था इसलिए उसने गोपाल को ज्यादा नुकसान नहीं पहुंचाया। हमले में गोपाल की पैंट फट गई और उसे नाखून की हल्की खरोंच आई। तेंदुआ यहां से भागकर 415 नंबर मकान में रहने वाले राजूभाई के घर घुस गया। जिस घर में तेंदुआ घुसा उस मकान में दो लोग ऊपर मौजूद थे। तेंदुए के घर में होने की सूचना पर वे दूसरे माले पर चले गए और नीचे का दरवाजा बंद कर लिया। टीम को देख लोग घरों से बाहर आए और भीड़ लगा ली। टीम ने उन्हें वहां से हटाया और फिर घर के चारों ओर जाल बिछा दिया। इसके बाद खिड़की से झांककर देखा तो तेंदुआ भीतर घूम रहा था। टीम ने खिड़की से ही बेहोशी का इंजेक्शन तेंदुए पर मारा, इंजेक्शन उसे छूकर निकल गया। हमला होता देख तेंदुआ उग्र हो गया और गुर्राते हुए घर से बाहर निकला। तेंदुए को भागता देख टीम ने एक के बाद एक तीन इंजेक्शन उस पर दागे, लेकिन तेंदुआ बचकरर निकल गया। गुस्साए तेंदुए ने भागते हुए एक युवक पर फिर से हमला किया, लेकिन वह बच निकला। जब तेंदुआ कॉलोनी के पिछले घर की ओर भाग रहा था तभी टीम ने फिर से एक इंजेक्शन दागा, जो कि उसे लगा पर ज्यादा असर नहीं हुआ। टीम ने छठवीं बार में सफलता हासिल की और इंजेक्शन सीधे तेंदुए पिछले हिस्से पर जाकर लगा। इसके बाद बेहोशी की हालत में तेंदुआ सीढ़ियों की मदद से नीचे उतरा, इसी दौरान पुलिस और वन विभाग का एक सदस्य जो कि उसे ऊपर देखने जा रहा थे, उन पर छपट्‌टा मारा। तेंदुआ जाल से इधर-उधर भागता रहा, लेकिन अंत में उसे पकड़ लिया गया।

ShareGoogle+FacebookLinkedInTwitterStumbleUponEmail

comments

About Pradeep Rajpoot

Pradeep Rajpoot is a social activist, businessman and editor in chief of Betwa Anchal weekly news paper.
Scroll To Top