कहीं पकडऩा पड़ा कान तो कहीं भागकर बचाई लाज | BetwaanchalBetwaanchal कहीं पकडऩा पड़ा कान तो कहीं भागकर बचाई लाज | Betwaanchal
दिनांक 19 September 2019 समय 5:48 AM
Breaking News

कहीं पकडऩा पड़ा कान तो कहीं भागकर बचाई लाज

Bhopal6211_vlcsnap-2014-02-14-18h51m35s28। वेलेन्टाइन डे की तैयारी में बड़े-बड़े कॉपेरिट से लेकर युवा और तथाकथित धर्म के ठेकेदार भी रहते हैं। सभी अपने-अपने तरीके से इस अवसर को भुनाना चाहते हैं। कॉपेरिट वर्ग को जहां इस मौके पर अच्छा खासा बिजनेस दिखाई देता है, वहीं युवाओं के लिए यह दिन इजहार-ए-मोहब्बत का होता है। इन सबसे अलग तथाकथित धर्म के ठेकेदार वेलेन्टाइन डे के दिन यह जताने की कोशिश करते हैं कि सभ्यता और संस्कृति की समझ उनमें सबसे ज्यादा है।
केवल वेलेन्टाइन डे पर ही इस वर्ग को ऐसा लगता है कि अगर इनके द्वारा पुतले नहीं फूंके गए और कुछ लड़के-लड़कियों को दंडित नहीं किया गया तो समाज को भ्रष्ट होने से नहीं बचाया जा सकता। चाहे बेंगलुरू, मुंबई, दिल्ली, गुडग़ांव, पुणे और गोआ जैसे मेट्रो सिटी हो या फिर भोपाल, रायपुर, पटना, लखनऊ और इलाहाबाद जैसे शहर, हर शहर में वेलेन्टाइन डे को बड़े उत्साह से मनाया जाता है। इलाहाबाद में भी प्यार के इजहार के इस खास पर्व का फायदा हर प्रेमी युगल उठा लेना चाहता था। 14 फरवरी की सुबह होते ही मिशन वेलेन्टाइन डे पर सबके प्लान फिक्स हो चुके थे। युवा अपने मिशन पर जैसे ही निकले, धर्म के ठेकेदारों ने भी अपनी कमर कस ली।

comments

About Pradeep Rajpoot

Pradeep Rajpoot is a social activist, businessman and editor in chief of Betwa Anchal weekly news paper.
Scroll To Top