दिनांक 18 December 2018 समय 9:02 PM
Breaking News

उत्तर कोरिया पर पर किसी भी हमले को तैयार अमेरिका

ShareGoogle+FacebookLinkedInTwitterStumbleUponEmail
submarine-missile-fire_14
वॉशिंगटन. अमेरिका ने कहा है कि वह नॉर्थ कोरिया की परमाणु हमले की धमकी से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार है। बता दें कि एक हाईलेवल यूएस मिलिट्री अफसर ने यूएस गवर्नमेंट को चेताया कि नॉर्थ कोरिया अमेरिकी जमीन पर परमाणु हमला करने में केपेबल है। यूएस नॉर्दन कमांड व नॉर्थ अमेरिकन एरोस्पेस डिफेंस कमांड के कमांडर एडमिरल बिल गोर्टने ने कहा, “प्योंगयांग ने संभवत: न्यूक्लियर वॉरहेड्स को छोटा कर उन्हें इंटर-कॉन्टिनेंटल बैलिस्टिक मिसाइल्स में इंस्टॉल करने की केपेबिलिटी हासिल कर ली है।” बता दें कि नॉर्थ कोरिया ने इसी साल जुलाई महीने में अमेरिका पर परमाणु हमले की धमकी दी थी।
सेना देगी मुंहतोड़ जवाब
एडमिरल गोर्टने ने कहा, ” हम उससे (किम जोंग उन) निपटने के लिए तैयार हैं। अगर वह ‘मूर्ख’ हमारी ओर कुछ लॉन्च भी करता है, तो यूएस मिलिट्री चौबीसों घंटे उसके लिए तैयार है।” साथ ही कहा, “हम कॉन्फिडेंट हैं। उस (नॉर्थ कोरिया) ओर से जितने भी रॉकेट आएंगे, हम उसे गिरा देंगे।” विश्लेषकों के अनुमानित आंकड़ों के मुताबिक, नॉर्थ कोरिया के पास लगभग 20 न्यूक्लियर वॉरहेड्स हैं। हालांकि, लंबी दूरी के रॉकेट में वॉरहेड्स के मिनिएचर इंस्टालेशन वाली केपेबिलिटी ने चिंता बढ़ा दी है। उन्होंनेे कहा कि यूएस मिलिट्री अपने मिसाइल डिफेंस सिस्टम का आधुनिकीकरण कर रही है। उनके मुताबिक, आने वाले समय में किसी भी रॉकेट का मुंहतोड़ जवाब देने के लिए नए सेंसर्स और राडार्स लगाए जाएंगे।
‘…तो कोई अमेरिकी नहीं बचेगा जिंदा’
बता दें कि इस साल जुलाई महीने में कोरियन वॉर की 62वीं वर्षगांठ पर नॉर्थ कोरियाई टॉप लीडर्स ने अमेरिका को चेतावनी दी थी कि कोरियाई प्रायद्वीप में अगर फिर कोई जंग हुई तो कोई भी अमेरिकी जिंदा नहीं बचेगा। तानाशाह किम जोंग उन ने देश की न्यूक्लियर पावर का जिक्र करते हुए कहा, “वो दौर चला गया, जब न्यूक्लियर वेपन्स की धमकी देकर अमेरिका हमें डराता था। अब अमेरिका की कोई हैसियत नहीं है। अब हम उसके लिए खतरा बन चुके हैं।”
सीक्रेट तरीके से न्यूक्लियर पावर बढ़ा रहा नॉर्थ कोरिया
बता दें कि पिछले ही महीने नॉर्थ कोरिया ने ‘योंगयान न्यूक्लियर साइंटिफिक रिसर्च सेंटर’ शुरू करने का एलान किया था। इंटरनेशनल प्रेशर के बावजूद नॉर्थ कोरिया न्यूक्लियर पावर बढ़ाने के लिए सीक्रेट तरीके से काम कर रहा है। गौरतलब है कि दुनिया की छह बड़ी ताकतों के साथ नॉर्थ कोरिया की बातचीत 2009 से बंद है। अमेरिका और बाकी पांच ताकतें नॉर्थ कोरिया के न्यूक्लियर प्रोग्राम को रोकना चाहती हैं। हालांकि, अब तक यह साफ नहीं हो सका है कि नॉर्थ कोरिया की न्यूक्लियर ताकत कितनी है।
योंगयोन में न्यूक्लियर हथियार बनाने की तैयारी
एक अमेरिकी रिसर्च ग्रुप ’38 नॉर्थ की एक रिपोर्ट के अनुसार, नॉर्थ कोरिया योंगयोन स्थित प्रमुख न्यूक्लियर कॉम्पलेक्स में न्यूक्लियर हथियारों के पार्ट्स तैयार कर रहा है। गौरतलब है कि नॉर्थ कोरिया की मिलिट्री दुनिया में सबसे बड़ी है। इसमें करीब 95 लाख सैनिक हैं। यह संख्या देश की आबादी की 40 फीसदी है
ShareGoogle+FacebookLinkedInTwitterStumbleUponEmail

comments

About Pradeep Rajpoot

Pradeep Rajpoot is a social activist, businessman and editor in chief of Betwa Anchal weekly news paper.
Scroll To Top